Monday, November 29, 2021
Homeविविध विषयअन्यबदल गया LAWDA, कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने की थी माँग - LCMA...

बदल गया LAWDA, कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने की थी माँग – LCMA नाम से अब बुलाइए

जम्मू-कश्मीर सरकार ने LAWDA का नाम बदल कर नया नाम LCMA रखा। कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने LAWDA का नाम बदलने अथवा उसमें संशोधन करने की माँग की थी।

जम्मू-कश्मीर में लेक एंड वाटरवेज डेवलपमेंट अथॉरिटी (LAWDA: Lakes and Waterways Development Authority) नाम का एक संगठन था। अब इसका नाम बदल दिया गया है। LAWDA की जगह नया नाम रखा गया है – लेक कंजरवेशन एंड मैनेजमेंट अथॉरिटी (LCMA: Lake Conservation and Management Authority)

जम्मू-कश्मीर सरकार ने LAWDA का नाम बदल कर नया नाम LCMA रखने की इस प्रक्रिया को बुधवार (3 नवंबर 2021) को अंजाम दिया। यह प्रक्रिया जम्मू कश्मीर विकास अधिनियम, 1970 (1970 का अधिनियम XIX) की धारा 3 की उप-धारा (1) के तहत की गई।

आपको बता दें कि कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने LAWDA का नाम बदलने अथवा उसमें संशोधन करने की माँग की थी। सिंघवी ने अपनी माँग के संबंध में ट्वीट कर बताया था कि इसका संक्षिप्त नाम ‘कुछ और ही’ लगता है।

अभिषेक मनु सिंघवी के ट्वीट के बाद LAWDA शब्द वायरल हुआ था जबकि संगठन का पूरा नाम वास्तव में ‘जम्मू और कश्मीर झील और जलमार्ग विकास प्राधिकरण’ है। इसलिए, प्राधिकरण का संक्षिप्त रूप JKLAWDA होना चाहिए। दिलचस्प यह है कि संगठन की वेबसाइट LAWDA शब्द का उपयोग नहीं करती है। हालाँकि, संगठन का फेसबुक पेज पर इसे LAWDA लिखा गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe