Thursday, May 23, 2024
Homeविविध विषयअन्यलीना नायर बनीं फ्रांस के लग्जरी ग्रुप शनैल की ग्लोबल CEO : दिग्गज कंपनियों...

लीना नायर बनीं फ्रांस के लग्जरी ग्रुप शनैल की ग्लोबल CEO : दिग्गज कंपनियों के भारतीय एक्जीक्यूटिव्स में जुड़ा एक और नाम

ग्लोबल कंज्यूमर गुड्स कंपनी में भारतीय मूल की लीना नायर का करियर करीब 30 साल का है। लीना नायर ने झारखंड के जमशेदपुर स्थित जेवियर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (XLRI) से पढ़ाई (1990-92) की है और वहाँ से गोल्ड मेडल भी जीता है।

भारतीय मूल की लीना नायर को फ्रांस के लग्जरी ग्रुप शनैल (Chanel) ने मंगलवार (14 दिसंबर 2021) को लंदन में अपना नया ग्लोबल चीफ एक्जीक्यूटिव नियुक्त किया है। अभी तक वह यूनीलीवर की मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (CHRO) थीं, लेकिन अब उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। शनैल ने बताया है कि लीना नायर जनवरी से यानी नए साल से ग्रुप में शामिल होंगी। आइए जानते हैं कौन हैं लीना नायर और क्या है उनकी सक्सेस स्टोरी-

30 साल का करियर है XLRI की गोल्ड मेडलिस्ट लीना नायर का

ग्लोबल कंज्यूमर गुड्स कंपनी में भारतीय मूल की लीना नायर का करियर करीब 30 साल का है। लीना नायर ने झारखंड के जमशेदपुर स्थित जेवियर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट (XLRI) से पढ़ाई (1990-92) की है और वहाँ से गोल्ड मेडल भी जीता है। उन्हें कई एचआर एंटरवेंशन के लिए श्रेय मिला है। इनमें से एक था ‘कैरियर बाई चॉइस’। यह एक ऐसा प्रोग्राम था, जिसका मकसद ऐसे महिलाओं को वर्कफोर्स का हिस्सा बनाना था, जिन्होंने अपना करियर कहीं पीछे छोड़ दिया है।

महाराष्ट्र के कोल्हापुर की रहने वाली हैं लीना नायर

लीना नायर महाराष्ट्र के कोल्हापुर की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी स्कूलिंग भी कोल्हापुर के होली क्रॉस कॉन्वेंट स्कूल से की है। सांगली में वालचंद कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की। बाद में उन्होंने जमशेदपुर के जेवियर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से एमबीए किया। वह बताती हैं कि जब उन्हें जमशेदपुर के जेवियर्स कॉलेज से ऑफर मिला था तो उनके लिए अपने परिवार को मनाना भी बहुत ही मुश्किल काम था। उन्हें अपने पिता को यह समझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी कि उन्हें जमशेदपुर जाकर पढ़ना है, जहाँ ट्रेन से जाने में करीब 48 घंटों का वक्त लगता है। उन्होंने 1990-92 के दौरान अपना एमबीए पूरा किया।

2013 में लंदन चली गईं

1969 में जन्मीं नायर ने 2013 में भारत से लंदन का रुख कर लिया था। उस समय उन्हें Anglo-Dutch कंपनी के लंदन हेक्वार्टर में लीडरशिप और ऑर्गेनाइजेशन डवलेपेंट का ग्लोबल वाइस प्रेसिडेंट बनाया गया था। इसके बाद 2016 में वह यूनीलीवर की पहली महिला और सबसे कम उम्र की सीएचआरओ बनीं। भारतीय मूल की लीना नायर भारत का नाम खूब रोशन कर रही हैं।

सभी को कहा- धन्यवाद

शनैल का ग्लोबल चीफ एग्जिक्युटिव नियुक्त किए जाने के बाद लीना ने अपने सोशल मीडिया पर लिखा- “शनैल में बतौर CEO काम करना मेरे लिए सम्मान की बात है। शनैल एक प्रतिष्ठि कंपनी है। मुझे हमेशा इस बात का गर्व रहेगा कि मैंने यूनिलीवर में काम किया। यूनिलीवर से मुझे बहुत प्यार और सम्मान मिला। सोशल मीडिया पर मिल रही बधाइयों को लेकर लीना ने लिखा- मैं हर एक व्यक्ति का कमेंट पढ़ रही हूँ। मैं हर एक का जवाब नहीं दे सकती लेकिन इस प्यार के लिए आप सभी का धन्यवाद।”

यूनिलीवर के सीईओ ने की तारीफ

यूनिलीवर के सीईओ एलन जोपे (Alan Jope) ने बयान में कहा कि लीना नायर ने उनकी कंपनी को 50 से अधिक देशों में पसंदीदा एम्पलॉयर बनने में मदद की है। उन्होंने कंपनी को आने वाले समय के हिसाब से तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वो पिछले तीन दशक के उनके योगदान के लिए आभार व्यक्त करना चाहते हैं।

दिग्गज कंपनियों के भारतीय एक्जीक्यूटिव्स में जुड़ा नया नाम

लीना नायर यूनिलीवर की पहली महिला और सबसे कम उम्र की चीफ ह्यूमन रिसॉर्सेज ऑफिसर थीं। Chanel की जिम्मेदारी मिलने के बाद लीना का नाम अब उन भारतीय एक्जीक्यूटिव्स की फेहरिस्त में जुड़ गया है, जो दिग्गज ग्लोबल कंपनियों को लीड कर रहे हैं।

हाल ही में Twitter ने भी भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को नया सीईओ बनाया है। इससे पहले गूगल के सुंदर पिचाई, माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला और पेप्सिको की इंदिरा नूई जैसे नाम इस फेहरिस्त में रह चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -