Monday, April 15, 2024
Homeविविध विषयअन्यमायावती के क़रीबी पूर्व IAS अधिकारी के घर छापा, BSP से लोकसभा चुनाव लड़ाने...

मायावती के क़रीबी पूर्व IAS अधिकारी के घर छापा, BSP से लोकसभा चुनाव लड़ाने की थी तैयारी

लखनऊ में कपड़ों के गाढ़ा भंडार नाम के शोरूम पूर्व आईएएस नेतराम के ही हैं। विपुलखंड स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नेतराम और उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर जो भी खाते थे, उन्हें सीज कर दिया गया है।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के क़रीबी और रिटायर्ड IAS अधिकारी नेतराम के यहाँ आयकर विभाग ने छापेमारी की है। मीडिया में चल रही ख़बरों के अनुसार, वे आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे। बसपा से उन्हें टिकट भी मिलने वाला था। मंगलवार (मार्च 12, 2019) को इनकम टैक्स विभाग ने दिल्ली से लखनऊ तक उनके दर्जन भर ठिकानों पर गहन छापेमारी की। छापेमारी उनके निजी आवास समेत अन्‍य ठिकानों पर की गई है। आयकर विभाग की टीमें एक साथ उनके दिल्ली और लखनऊ के ठिकानों पर पहुँचीं। लखनऊ में स्टेशन रोड स्थित उनके घर पर कई घंटों तक जाँच चली। आपको बता दें कि लखनऊ में कपड़ों के गाढ़ा भंडार नाम के शोरूम पूर्व आईएएस नेतराम के ही हैं।

नेतराम बसपा शासनकाल में राज्य के मुख्य सचिव थे। आयकर विभाग ने उनके बैंक खातों को भी जाँच के घेरे में ले लिया है। विपुलखंड स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में नेतराम और उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर जो भी खाते थे, उन्हें सीज कर दिया गया है। छापेमारी के दौरान स्टेशन रोड स्थित उनके घर से कई क़ीमती चीजें बरामद की गई हैं। उन पर टैक्स चोरी के मामले में कार्रवाई की जा सकती है। यूपी में मायावती की सरकार के दौरान आईएएस नेतराम सबसे ताक़तवर अधिकारियों में से एक थे। वह 2007 से 2012 तक तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती के प्रमुख सचिव भी रहे हैं।

मायावती के शासनकाल के दौरान उनका प्रभाव ऐसा था कि बड़े-बड़े नेताओं को भी उनसे मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लेना पड़ता था। उनके आवास पर नेताओं की लम्बी लाइन लगी रहती थी। कैबिनेट मंत्रियों तक को उनसे मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लेना पड़ता था। क़यास लगाए जा रहे हैं कि आयकर विभाग के अलावा अन्य केंद्रीय एजेंसियाँ भी उन पर शिकंका कस सकती है। 1979 बैच के अधिकारी नेतराम कई अन्य महत्वपूर्ण पदों पर भी काबिज़ रहे हैं।

उधर एक अन्य ख़बर के मुताबिक़, बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में बसपा के लोकसभा प्रभारी, नेताओं, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में कॉन्ग्रेस के प्रति काफ़ी सख़्त रुख अपनाया है। उन्होंने कहा कि हम अपना रुख दोहराते हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव में हम किसी भी राज्य में कॉन्ग्रेस के साथ न तो गठबंधन करेंगे और न ही उनकी कोई भी मदद लेंगे। अगर वह हमसे मदद मांगते हैं तो फिर हम विचार कर सकते हैं। बैठक में बसपा अध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि उनकी पार्टी किसी भी राज्य में कॉन्ग्रेस के साथ किसी भी प्रकार का कोई भी चुनावी समझौता अथवा तालमेल आदि करके यह चुनाव नहीं लड़ेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में मनोज तिवारी Vs कन्हैया कुमार के लिए सजा मैदान: कॉन्ग्रेस ने बेगूसराय के हारे को राजधानी में उतारा, 13वीं सूची में 10...

कॉन्ग्रेस की ओर से दिल्ली की चांदनी चौक सीट से जेपी अग्रवाल, उत्तर पूर्वी दिल्ली से कन्हैया कुमार, उत्तर पश्चिम दिल्ली से उदित राज को टिकट दिया गया है।

‘सूअर खाओ, हाथी-घोड़ा खाओ, दिखा कर क्या संदेश देना चाहते हो?’: बिहार में गरजे राजनाथ सिंह, कहा – किसने अपनी माँ का दूध पिया...

राजनाथ सिंह ने गरजते हुए कहा कि किसने अपनी माँ का दूध पिया है कि मोदी को जेल में डाल दे? इसके बाद लोगों ने 'जय श्री राम' की नारेबाजी के साथ उनका स्वागत किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe