Saturday, October 16, 2021
Homeविविध विषयअन्यPM किसान सम्मान निधि: किसानों के खाते में 7वीं किस्त 1 दिसंबर से, इस...

PM किसान सम्मान निधि: किसानों के खाते में 7वीं किस्त 1 दिसंबर से, इस तरह चेक करें लिस्ट में नाम है या नहीं

कृषि मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, 1.3 करोड़ किसानों को आवेदन करने के बाद भी इसलिए पैसा नहीं मिल सका, क्योंकि या तो उनके रिकॉर्ड में गड़बड़ी थी या फिर आधार कार्ड नहीं है। नाम की स्पेलिंग में गड़बड़ी से भी पैसा रुक सकता है।

रबी की फसल खासकर गेहूँ की बुवाई के बाद खाद-पानी के लिए सातवीं किस्त का इंतजार रहे किसानों के खाते में कुछ घंटों बाद मोदी सरकार 2000 रुपए की रकम भेजेगी। इस वित्तीय वर्ष की तीसरी और योजना की शुरुआत से 7वीं किस्त 1 दिसंबर से आनी शुरू हो जाएगी।

बता दें कि मोदी सरकार सलाना 6000 रुपए किसानों को तीन किस्तों में देती है। पहली किस्त अप्रैल से जुलाई, दूसरी किस्त अगस्त से नवंबर और तीसरी किस्त दिसंबर से मार्च तक आती है। अगर आप भी 7वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं तो लिस्ट में अपना नाम देख लें। कहीं ऐसा न हो कि दस्तावेजों में गड़बड़ी के चलते परेशानी उठानी पड़ जाए।

रिकॉर्ड में कोई भी गड़बड़ी होने पर निश्चित तौर पर आपको योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। कृषि मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, 1.3 करोड़ किसानों को आवेदन करने के बाद भी इसलिए पैसा नहीं मिल सका, क्योंकि या तो उनके रिकॉर्ड में गड़बड़ी थी या फिर आधार कार्ड नहीं है। नाम की स्पेलिंग में गड़बड़ी से भी पैसा रुक सकता है। बता दें कि पिछले 23 महीने में केंद्र सरकार 11.17 करोड़ किसानों को सीधे 95 करोड़ रुपए से अधिक की मदद दे चुकी है।

किसान कैसे करें पहली बार रजिस्ट्रेशन

  • अगर आपने अभी तक पीएम किसान सम्मान निधि पाने के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं किया है, तो आप अपना रजिस्ट्रेशन कराने के बाद योजना का फायदा उठा सकते हैं। सबसे पहले आपको इस योजना से जुड़ी आधिकारिक साइट पर जाना होगा। जिसमें फार्मर्स कॉर्नर का ऑप्शन दिखाई देगा। उस पर न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन कॉलम पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक नई विंडो खुलेगी, जिसमें आपको आधार कार्ड का विवरण भरना है। फिर क्लिक हियर टू कॉनिटन्यू पर क्लिक करना पड़ेगा। इसके बाद आपके सामने एक अन्य पेज खुलेगा, जिसमें अगर आप पहले रजिस्ट्रेशन करा चुके हों, तो आपका विवरण आ जाएगा और अगर रजिस्ट्रेशन पहली बार कर रहे हैं, तो लिखा आएगा कि RECORD NOT FOUND WITH GIVEN DETAILS, DO YOU WANT TO REGISTER ON PM-KISAN PORTAL इस पर आपको YES करना होगा।
  • इसके बाद फॉर्म दिखेगा जिसे भरना होगा। इसमें सही-सही जानकारी भरने के बाद सेव कर दें। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपसे आपकी जमीन का ब्यौरा माँगा जाएगा। खास तौर पर खसरा नंबर और खाता नंबर आदि का। इसे भरकर सेव कर दें। सेव करते ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर और रिफरेंस नंबर मिलेगा जिसे अपने पास सँभाल लें। इसके बाद पैसा आना शुरू हो जाएगा।

लिस्ट ऑनलाइन देखने के लिए आसान स्टेप

  • वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएँ। 
  • होम पेज पर मेन्यू बार देखें और यहाँ ‘फार्मर कार्नर’ पर जाएँ। 
  • लाभार्थी सूची के लिंक पर क्लिक करें।
  • इसके बाद अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गाँव का विवरण दर्ज करें।
  • इतना भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें और पूरी लिस्ट पाएँ।

लिस्ट में नाम न होने पर इस नंबर पर करें शिकायत

कई लोगों के नाम पिछली लिस्ट में थे। लेकिन नई लिस्ट में नहीं है तो इसकी शिकायत आप पीएम किसान सम्मान के हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए आप हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 पर कॉल कर शिकायत कर सकते हैं। 

मंत्रालय से ऐसे करें संपर्क 

  • पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266
  • पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261
  • पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401
  • पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606
  • पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109
  • ई-मेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in

ऐसे जानें आपको अब तक कितनी किस्त मिली

  • पहले पीएम किसान (PM Kisan) की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएँ।
  • यहाँ आपको राइट साइड पर ‘Farmers Corner’ का विकल्प मिलेगा।
  • यहाँ ‘Beneficiary Status’ के ऑप्शन पर क्लिक करें। नया पेज खुल जाएगा।
  • नए पेज पर आधार नंबर, बैंक खाता संख्या या मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प को चुनिए। आपने जिस विकल्प का चुनाव किया है, उसका नंबर भरिए। इसके बाद ‘Get Data’ पर क्लिक करें।
  • यहाँ क्लिक करने के बाद आपको सभी ट्रांजेक्शन की जानकारी मिल जाएगी। यानी कौन सी क़िस्त कब आपके खाते में आई और किस बैंक अकाउंट में क्रेडिट हुई।  

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe