Sunday, July 25, 2021
Homeविविध विषयअन्यटाटा को 'एंटरप्राइज ऑफ सेंचुरी' अवॉर्ड: PM मोदी बोले- अब दुनिया को आत्मनिर्भर भारत...

टाटा को ‘एंटरप्राइज ऑफ सेंचुरी’ अवॉर्ड: PM मोदी बोले- अब दुनिया को आत्मनिर्भर भारत की क्षमता दिखाने का समय

"नया भारत, अपने सामर्थ्य पर भरोसा करते हुए, अपने संसाधनों पर भरोसा करते हुए आत्मनिर्भर भारत को आगे बढ़ा रहा है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मैन्युफेक्चरिंग पर हमारा विशेष फोकस है। मैन्युफेक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए हम निरंतर रिफॉर्म्स कर रहे हैं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (दिसंबर 19, 2020) को ‘Associated Chambers of Commerce and Industry of India’s (ASSOCHAM) के फाउंडेशन सप्ताह कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने टाटा ग्रुप को ‘ASSOCHAM एंटरप्राइज ऑफ सेंचुरी’ का अवॉर्ड दिया। टाटा समूह के अध्यक्ष रतन टाटा ने इस अवॉर्ड को प्राप्त किया। पीएम मोदी ने उनकी सराहना भी की।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीते 100 सालों से आप सभी देश की अर्थव्यवस्था को, करोड़ों भारतीयों के जीवन को बेहतर बनाने में जुटे हैं और अब आने वाले वर्षों में आत्मनिर्भर भारत के लिए आपको पूरी ताकत लगा देनी है। उन्होंने याद दिलाया कि इस समय दुनिया चौथी औद्योगिक क्रांति की तरफ तेज़ी से आगे बढ़ रही है और नई टेक्नॉलॉजी के रूप में चुनौतियाँ भी आएँगी और उनके समाधान भी।

उन्होंने कहा कि आज वो समय है, जब हमें प्लान भी करना है और एक्ट भी करना है। उन्होंने कहा कि हमें हर साल के, हर लक्ष्य को राष्ट्र निर्माण के एक बड़े लक्ष्य के साथ जोड़ना है। आने वाले 27 साल भारत के वैश्विक किरदार को ही तय नहीं करेंगे, बल्कि ये हम भारतीयों के सपनों और समर्पण, दोनों को टेस्ट करेंगे। उन्होंने कहा कि ये समय भारतीय इंडस्ट्री के रूप में आपकी क्षमता, प्रतिबद्धता और साहस को दुनिया भर को दिखा देने का है।

बकौल पीएम मोदी, हमारा चैलेंज सिर्फ आत्मनिर्भरता ही नहीं है, बल्कि हम इस लक्ष्य को कितनी जल्दी हासिल करते हैं, ये भी उतना ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने याद दिलाया कि एक जमाने में हमारे यहाँ जो परिस्थितियाँ थीं, उसके बाद कहा जाने लगा था- ‘Why India’। अब जो सुधार देश में हुए हैं, उनका जो प्रभाव दिखा है, उसके बाद कहा जा रहा है- ‘Why not India’। प्रधानमंत्री मोदी ने ASSOCHAM के कार्यक्रम में कहा:

“नया भारत, अपने सामर्थ्य पर भरोसा करते हुए, अपने संसाधनों पर भरोसा करते हुए आत्मनिर्भर भारत को आगे बढ़ा रहा है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मैन्युफेक्चरिंग पर हमारा विशेष फोकस है। मैन्युफेक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए हम निरंतर रिफॉर्म्स कर रहे हैं। देश आज करोड़ों युवाओं को अवसर देने वाले Enterprise और Wealth Creators के साथ है। निवेश का एक और पक्ष है जिसकी चर्चा आवश्यक है। ये है रिसर्च एंड डेवलपमेंट- R&D, पर होने वाला निवेश। भारत में R&D पर निवेश बढ़ाए जाने की जरूरत है।”

पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी की शुरुआत में अटल बिहारी वाजपेयी ने भारत को राजमार्गों से कनेक्ट करने का लक्ष्य रखा था, वहीं अब देश में फिजिकल और डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष फोकस किया जा रहा है। इजरायल के साथ फिलिस्तीन के विवाद वाले क्षेत्रों में शांति व्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए रतन टाटा को ‘इंडो-इजरायल चैंबर्स ऑफ कॉमर्स’ के द्वारा भी जल्द ही सम्मानित किया जाना है। नए भारतीय संसद का निर्माण भी टाटा समूह ही कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी ही कब्र खोद ली’: टाइम्स ऑफ इंडिया ने टोक्यो ओलंपिक में भारतीय तीरंदाजी टीम की हार का उड़ाया मजाक

दक्षिण कोरिया के किम जे ड्योक और आन सन से हारने के बाद टाइम्स ऑफ इंडिया ने दावा किया कि भारतीय तीरंदाजी टीम औसत से भी कम थी और उन्होंने विरोधियों को थाली में सजाकर जीत सौंप दी।

‘सचिन पायलट को CM बनाओ’: कॉन्ग्रेस के बड़े नेताओं के सामने जम कर हंगामा, मंत्रिमंडल विस्तार से पहले बुलाई थी बैठक

राजस्थान में मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थकों के बीच बहस और हंगामेबाजी हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,156FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe