Friday, July 30, 2021
Homeविविध विषयअन्य₹500 और ₹200 के नए नोट जल्द मार्केट में: महात्मा गाँधी की नई सीरीज़...

₹500 और ₹200 के नए नोट जल्द मार्केट में: महात्मा गाँधी की नई सीरीज़ में किया गया एक अहम बदलाव

इससे पहले ₹100 के नोट में भी बदलाव किया जा चुका हैं। ₹100 के नए नोटों पर नए गवर्नर के हस्ताक्षर हैं। हालाँकि पुराने नोट भी सभी बैंक में वैध हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक जल्द ही ₹500 और ₹200 के नए नोट जारी करने वाला है। इसकी जानकारी खुद आरबीआई ने ट्वीट के जरिए दी है। ये नए नोट महात्मा गाँधी की नई श्रृंखला में जारी किए जाएँगे। फिलहाल, ₹200 और ₹500 के जो नोट प्रचलन में हैं, उन पर आरबीआई के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर हैं, लेकिन नए नोटों पर ऐसा नहीं होगा।

https://platform.twitter.com/widgets.js

नए नोटों पर आरबीआई के नए गवर्नर शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर होंगे। इसके साथ ही कुछ समय पहले जारी हुए ₹200 और ₹500 के मौजूदा सभी नोट भी वैध होंगे।

बता दें कि दिसंबर 2018 में उर्जित पटेल के अचानक इस्तीफा देने के बाद शक्तिकांत दास ने रिजर्व बैंक के गवर्नर का पदभार संभाला था। जिसके बाद मौजूदा नोटों में हस्ताक्षर बदलने की जरूरत पड़ी।

आरबीआई द्वारा इससे पहले ₹100 के नोट में भी बदलाव किया जा चुका हैं। ₹100 के नए नोटों पर नए गवर्नर के हस्ताक्षर हैं। हालाँकि पुराने नोट भी सभी बैंक में वैध हैं। इसके अलावा आरबीआई ने ₹50 के नए नोट जारी करने की भी बात कही थी, क्योंकि उन नोटों पर भी पुराने गवर्नर यानी उर्जित पटेल के हस्ताक्षर हैं। 50 के नए नोट भी महात्मा गाँधी की नई सीरीज़ में जारी होंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान: चुनाव में कर्जमाफी का वादा… अब मुकर गई कॉन्ग्रेसी सरकार, किसानों को मिल रहे कुर्की के नोटिस

प्रदेश में तमाम किसान हैं जिन्होंने 1 लाख रुपए से लेकर साढ़े 3 लाख रुपए तक लोन लिया था, और अब उनके पास नोटिस गए हैं। बैंक उन्हें कुर्की के नोटिस भेज रहा है।

सिद्धू के नाम ऑडियो, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की आत्महत्या: कहा – ‘पार्टी को 30 साल दिए, शादी भी नहीं… कोई फायदा नहीं’

ऑडियो के मुताबिक किसी प्लॉट संबंधी एक मामले में बाजवा को फँसाने की तैयारी चल रही थी, इसी से आहत होकर उन्होंने आत्महत्या का फैसला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe