Monday, June 17, 2024
Homeविविध विषयअन्य'काफिर हो काफिर ही रहोगी': रोहित शर्मा की पत्नी ने 'RAFAH' के लिए किया...

‘काफिर हो काफिर ही रहोगी’: रोहित शर्मा की पत्नी ने ‘RAFAH’ के लिए किया पोस्ट, फिर भी भड़के कट्टरपंथी, स्टोरी करनी पड़ी डिलीट

रितिका सजदेह की स्टोरी के बाद जहाँ कई भारतीय उनसे नाराज मिले तो वही इस्लामी कट्टरपंथी उन्हें कहते सुनाई पड़े कि इन सबसे कुछ नहीं होगा। वो हिंदू काफिर हैं और हिंदू काफिर ही रहेंगी चाहे वो राफा के लिए कितनी ही आवाज उठा लें।

भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा की पत्नी रितिका सजदेह इस समय सोशल मीडिया पर चर्चा में हैं। उन्होंने इजरायल-फिलीस्तीन विवाद पर एक स्टोरी लगाई थी जिसमें ‘राफा’ को लेकर कहा गया था- अब नजरें राफा पर हैं।

इस स्टोरी को देखने के बाद उनसे सोशल मीडिया पर काफी सवाल हुए। उनसे पूछा गया कि आखिर वो भारत में हिंदुओं पर होते अत्याचार को लेकर कहाँ रहती हैं। इसके अलावा जब कोई अन्य घटना होती है तब भी वो चुप होती हैं। ऐसा क्यों?

उनकी इस स्टोरी के बाद जहाँ कई भारतीय और हिंदू यूजर्स उनसे नाराज मिले तो वही इस्लामी कट्टरपंथी उन्हें इस्लाम कबूलने की सलाह देते दिखाई पड़े। उन्हें कहा गया कि फिलीस्तीन पर चर्चा करने से कुछ नहीं होगा। तुम हिंदू काफिर हो और हिंदू काफिर ही रहोगी चाहे वो ‘राफा’ के लिए कितनी ही आवाज उठा लो।

मोहम्मद परवेज ने कहा, “सारे काफिर। कुछ भी कर लें फिर भी जगन्नुम में सड़ोगे। इन्हें जन्नत जाने के लिए मुस्लिम बनना होगा। ये अल्लाह का संदेश है। कुरान पढ़ो। रितिका सजदेह और रोहित शर्मा फिलीस्तीन को समर्थन दे रहे हैं, लेकिन इन्हें अपना मजहब बदलना होगा और जन्नत नसीब पाने के लिए अल्लाह को मानना होगा।”

इन सारी प्रतिक्रियाओं के बाद रितिका को अपने सोशल मीडिया से स्टोरी को हटाना पड़ा। रितिका के स्टोरी हटाने के बाद कई लोगों ने उनके इस निर्णय का सम्मनान किया और बताया कि आखिर इस तरह एक पक्ष होकर चीजों के लिए नजरिया रखना क्यों गलत होता है।

बता दें कि रितिका सजदेह का विवाह रोहित शर्मा से साल 2015 में हुआ था। उनकी एक बेटी है समायरा। शादी से तीन साल पहले से दोनों एक दूसरे को डेट कर रहे थे। इन दोनों की पहचान युवराज सिंह के जरिए एक दूसरे से हुई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -