Sunday, September 19, 2021
Homeविविध विषयअन्यटोक्यो पैरालंपिक में भारत की चाँदी: भाविना पटेल ने पैरा टेबल टेनिस में तो...

टोक्यो पैरालंपिक में भारत की चाँदी: भाविना पटेल ने पैरा टेबल टेनिस में तो निषाद ने हाई जम्प टी-47 में सिल्वर मेडल जीतकर रचा इतिहास

भाविना इससे पहले ग्रुप स्टेज में भी टोक्यो पैरालिंपिक में अपने पहले मैच में यिंग झोउ से हार गईं थी। झोउ एकमात्र ऐसी प्रतिद्वंद्वी रही है जिसे वह हरा नहीं सकी। गुजरात के मेहसाणा में उनका परिवार उनके लौटने पर भव्य स्वागत की प्लानिंग कर रहा है।

पैरालंपिक के फाइनल में जगह बनाने वाली देश की पहली खिलाड़ी भाविना पटेल ने टोक्यो पैरालंपिक की महिला सिंगल्स की टेबल टेनिस में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीत लिया है। इसी के साथ भाविना टेबल टेनिस में भारत के लिए पैरालंपिक में पदक जीतने वाली पहली खिलाड़ी भी बन गई हैं। टेबल टेनिस की मैच में भाविना चीन की यिंग झोउ को मात नहीं दे पाई और गोल्ड से चूक गईं। वह चीन की यिंग झोउ से 7-11, 5-11, 6-11 से हार गईं।

भाविना इससे पहले ग्रुप स्टेज में भी टोक्यो पैरालिंपिक में अपने पहले मैच में यिंग झोउ से हार गईं थी। झोउ एकमात्र ऐसी प्रतिद्वंद्वी रही है जिसे वह हरा नहीं सकी। गुजरात के मेहसाणा में उनका परिवार उनके लौटने पर भव्य स्वागत की प्लानिंग कर रहा है।

वहीं भारतीय पैरा एथलीट निषाद कुमार ने हाई जंप टी-47 में रजत पदक जीता। शानदार प्रतिभा के धनी निषाद कुमार शानदार प्रदर्शन करते हुए टॉप 3 में पहुँचे थे। उनका मुकाबला अमेरिका के 2 एथलीट से था। 20 साल के निषाद 2009 से पैरा स्पोर्ट्स में हिस्सा ले रहे हैं। 8 साल की उम्र में उनका एक एक्सीडेंट हो गया, जिसमें उनका दाहिना हाथ कट गया।

कुमार हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के रहने वाले हैं और उन्होंने 10 साल की उम्र में पैरा स्पोर्ट्स को आगे बढ़ाने का फैसला किया। दुबई में विश्व चैंपियनशिप में, उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया, जहाँ उन्होंने कांस्य जीता। COVID-19 के कारण, टोक्यो पैरालिंपिक के लिए उनकी तैयारी थोड़ी धीमी हो गई। हालाँकि, जैसे ही स्थिति में सुधार हुआ, उन्होंने फिर से प्रयास करना शुरू कर दिया। यह आज (29 अगस्त 2021) के लिए भारत का दूसरा रजत पदक है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe