Thursday, September 23, 2021
Homeविविध विषयअन्यस्टार पहलवान विनेश फोगाट को कुश्ती संघ ने अस्थायी रूप से किया निलंबित, सोनम...

स्टार पहलवान विनेश फोगाट को कुश्ती संघ ने अस्थायी रूप से किया निलंबित, सोनम मलिक को भी नोटिस: ये है वजह

"यह अनुशासनहीनता है। विनेश फोगाट को अस्थायी रूप से निलंबित किया गया है। उन्हें कुश्ती से जुड़ी सभी गतिविधियों से प्रतिबंधित किया गया है। जब तक वह इस मामले पर अपना जबाव नहीं देती हैं तक वह किसी राष्ट्रीय या अन्य घरेलू प्रतिस्पर्धा में भाग नहीं ले पाएँगी। WFI अंतिम फैसला करेगा।''

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) ने टोक्यो ओलंपिक में अनुशासनहीनता को लेकर स्टार पहलवान विनेश फोगाट पर बड़ी कार्रवाई की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, विनेश को कुश्ती संघ ने अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। वहीं, WFI ने 19 वर्षीय युवा पहलवान सोनम मलिक को भी दुर्व्यवहार के लिए नोटिस जारी किया है। बताया जा रहा है कि सोनम को टोक्यो ओलंपिक में जाने से पहले खुद या परिवार के किसी सदस्य के हाथों WFI के ऑफिस से पासपोर्ट लेना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। हालाँकि, विनेश फोगाट को इस मामले पर अपना पक्ष रखने के लिए 16 अगस्त तक का समय दिया गया है। 

कुश्ती संघ के एक सूत्र के हवाले से बताया जा रहा है कि विनेश ने टोक्यो ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में नियमों का उल्लंघन किया था। उन्होंने मैच के दौरान भारतीय दल के आधिकारिक स्पांसर ‘शिवनरेश’ की पोशाक पहनने की बजाय मुकाबलों में ‘नाईकी’ की ड्रेस पहनी थी। इसके अलावा हरियाणा की विनेश ना तो खेलों के दौरान खेलगाँव में ठहरीं और ना ही उन्होंने अन्य भारतीय खिलाड़ियों के साथ ट्रेनिंग ली।

WFI के सूत्र ने पीटीआई से कहा, “यह अनुशासनहीनता है। विनेश फोगाट को अस्थायी रूप से निलंबित किया गया है। उन्हें कुश्ती से जुड़ी सभी गतिविधियों से प्रतिबंधित किया गया है। जब तक वह इस मामले पर अपना जबाव नहीं देती हैं तक वह किसी राष्ट्रीय या अन्य घरेलू प्रतिस्पर्धा में भाग नहीं ले पाएँगी। WFI अंतिम फैसला करेगा।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हंगरी से टोक्यो ओलंपिक में खेलने गई गई विनेश ने सोनम, अंशु मलिक और सीमा बिस्ला के बगल वाले कमरे में रहने से इनकार कर दिया था और काफी हंगामा किया था। बता दें कि विनेश टोक्यो ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल में बेलारूस की वनेसा से करारी हार का सामना करना पड़ा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe