Saturday, June 15, 2024
Homeविविध विषयअन्य'औरंगजेब-अकबर महान, टीपू सुल्तान राष्ट्रवादी': इस्लाम को लिबरल बताने वाले Vision IAS का 'इस्लामी...

‘औरंगजेब-अकबर महान, टीपू सुल्तान राष्ट्रवादी’: इस्लाम को लिबरल बताने वाले Vision IAS का ‘इस्लामी ज्ञान’, माता के जगराते से दिक्कत

Vision IAS के एक ट्यूटर छात्रों को बता रहे हैं कि जैसा कि औरंगजेब को लेकर कहा जाता रहा कि उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर पर हमला किया। लेकिन पढ़ने को ये भी मिलता है कि वो हमला इसलिए हुआ क्योंकि कुछ अच्छे पंडितों ने आकर औरंगजेब से शिकायत की थी कि उनके मंदिर में अवैध गतिविधियाँ चालू हैं।

इस्लामी प्रोपेगेंडा का प्रचार करने वाली Vision IAS की वीडियो क्लिप सामने आने के बाद कोचिंग सेंटर ने अपना खेद व्यक्त किया था और जस्टिफाई करने का प्रयास किया था कि उनकी फैकल्टी बच्चों को क्या पढ़ा रही थीं और उसका मतलब क्या था। अब इसी क्रम में धीरे-धीरे सोशल मीडिया पर इसी संस्थान के अन्य फैकल्टी सदस्यों की भी वीडियो वायरल है और लोग सवाल कर रहे हैं कि ये कोचिंग सेंटर चलाया जा रहा है या फिर मदरसा।

वायरल वीडियोज में कहीं अकबर औरंगजेब का महिमामंडन हैं तो कभी टीपू सुल्तान को असली राष्ट्रवादी हीरो बताया जा रहा है। हैरानी की बात ये है कि कोचिंग सेंटर में न सिर्फ इस्लाम का प्रचार हो रहा है बल्कि हिंदुत्व को बदनाम करने की कोशिश और काशी मंदिर पर हुए हमले को जस्टिफाई करने का काम भी धड़ल्ले से जारी है।

औरंगजेब और अकबर महाना शासक

कुछ उदाहरण देखिए- Vision IAS के एक ट्यूटर छात्रों को बता रहे हैं कि औरंगजेब को लेकर कहा जाता रहा कि उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर पर हमला किया। लेकिन पढ़ने को ये भी मिलता है कि वो हमला इसलिए हुआ क्योंकि कुछ अच्छे पंडितों ने आकर औरंगजेब से शिकायत की थी कि उनके मंदिर में अवैध गतिविधियाँ चालू हैं। ट्यूटर के अनुसार, औरंगजेब सबसे ज्यादा नैतिकता वाला व्यक्ति था। इसी तरह एक वीडियो में ट्यूटर द्वारा बच्चों से स्पष्ट तौर पर कहा जा रहा है कि वो अपने एग्जाम में औरंगजेब की मजहबी नीतियों के बारे में न लिखें। यही ट्यूटर बच्चों को समझाता है कि मुगल शासन काल में अकबर महान शासक थे इसलिए मुगल काल मजबूत था।

राष्ट्रवादी बनाएँ टीपू सुल्तान को अपना हीरो

एक वीडियो में ट्यूटर को मैसूर टॉपिक पढ़ाते सुना जा सकता है। ट्यूटर के अनुसार अगर इस देश में कोई सबसे बड़ा राष्ट्रभक्त था तो वो टीपू सुल्तान था। उनके मुताबिक मैसूर ही पहले वो देश का वो भाग था जिसने ब्रिटिश सत्ता का विरोध किया। उनके मुताबिक अगर किसी राज्य का किसी को फैन होना है तो मैसूर ही है। मराठा नंबर 2 पर आते हैं और वो भी नहीं आने चाहिए क्योंकि उन्होंने ब्रिटिशों से हाथ मिलाया। ट्यूटर के अनुसार, टीपू सुल्तान की मौत एक जंग में अपनी राजधानी को बचाते समय हुई। इसलिए अगर कोई सच में राष्ट्रवादी है तो उसका हीरो टीपू सुल्तान होना चाहिए।

माता के जगराते से चिढ़ करने वाले ट्यूटर

एक वीडियो में एक अन्य ट्यूटर ‘माता के जगराते’ के प्रति चिढ़ और घृणा व्यक्त करते देखा जा सकता है। इस वीडियो में पहले ट्यूटर हिंदू धर्म और उसके रिवाजों पर तंज कसते हैंं। फिर आर्ट ऑफ लिविंग को यमुना प्रदूषित करने का जिम्मेदार बताते हैं, लेकिन जैसे ही बात अजान और नमाज पर आती है वो फौरन सोनू निगम द्वारा की गई शिकायत पर नसीहत देते हैं कि अगर उन्हें इतनी दिक्कत है तो फिर वो अपने घर की दीवारों पर साउंड प्रूफिंग करवा लें।

हिजाब के समर्थन में वामपंथी टीचर

बता दें कि इससे पहले सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले कोचिंग सेंटर Vision IAS की तथाकथित वामपंथी टीचर स्मृति शाह के कुछ अन्य वीडियो सामने आए थे जहाँ किसी में वह शेख अब्दुल्ला को सबसे ज़्यादा लिबरल और सोशलिस्ट बताते नहीं थक रहीं हैं। वहीं वह दूसरे तरह से कश्मीरी पंडितों के पलायन और उन पर शोषण को भी जायज ठहरा रही थी। एक वीडियो में तो वह खुलकर हिजाब और बुर्का के समर्थन में ज्ञान देते हुए इसे सोशल प्राइड बता डाला। इस वीडियो में वह भगवा शाल या जय श्री राम कहने वालों को ही परोक्ष रूप से घेरतीं नजर आईं थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -