Sunday, June 16, 2024
Homeविविध विषयअन्यपदयात्रा से पाटी दूरी, माँ का लिया आशीर्वाद, गुरुओं का सम्मान: 28 साल बाद...

पदयात्रा से पाटी दूरी, माँ का लिया आशीर्वाद, गुरुओं का सम्मान: 28 साल बाद उत्तराखंड के पैतृक घर में CM योगी ने बिताई रात

"आज मुझे अपने गुरुओं का सम्मान करने का सौभाग्य मिला। मैं 35 साल बाद अपने अध्यापकों से मिल पा रहा हूँ। मैं आज जो कुछ भी हूँ माता-पिता और गुरु अवैद्यनाथ की वजह से हूँ।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीन दिन के उत्तराखंड दौरे पर हैं। पहले दिन मंगलवार (3 मई 2022) को वे अपने पैतृक गाँव पंचूर पहुँचे। इस दौरान पहाड़ी रास्ता उन्होंने पैदल ही पूरी की। 28 साल में यह पहला मौका है जब उन्होंने रात अपने पैतृक घर में बिताई। आज वह एक पारिवारिक कार्यक्रम का भी हिस्सा बनेंगे।

सोशल मीडिया पर उनकी एक बेहद खूबसूरत तस्वीर वायरल है। इसमें योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) अपनी माँ के चरण छूकर आशीर्वाद लेते हुए नजर आ रहे हैं। पाँच साल बाद बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर 84 वर्षीय सावित्री देवी भी काफी भावुक नजर आईं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ 5 साल बाद अपने गाँव पहुँचे हैं। लेकिन संन्यास के 28 साल बाद पहली बार रात यहाँ के पैतृक घर में बिताई है। योगी से मिलने के लिए उनकी तीन बहनें भी माँ के घर आई हैं। वहीं, उनके तीनों भाई भी घर पर ही हैं।

माँ से मिलने से पहले उन्होंने पंचूर से 2 किमी दूर बिथ्याणी में महायोगी गुरु गोरखनाथ राजकीय महाविद्यालय में गुरु अवैद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण किया। गुरु को याद करते हुए सीएम योगी ने भावुक होते हुए कहा, “आज मुझे अपने गुरुओं का सम्मान करने का सौभाग्य मिला। मैं 35 साल बाद अपने अध्यापकों से मिल पा रहा हूँ। मैं आज जो कुछ भी हूँ माता-पिता और गुरु अवैद्यनाथ की वजह से हूँ।” इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने स्कूल के 6 शिक्षकों को शॉल देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि मैं यहाँ कक्षा 1 से 9 तक पढ़ा हूँ।

उत्तर प्रदेश के सीएम ने कहा, “उत्तराखंड में भाजपा की सरकार न बनती तो शायद मैं यहाँ आज भी नहीं आ पाता और मैं अपने गाँव भी नहीं आ पाता। कोरोना काल में हमने लोगों को फ्री चिकित्सा की सुविधाएँ दीं। ऐसी ही व्यवस्था हमें अब उत्तराखंड में नजर आती हैं, जब से हमारी भाजपा सरकार यहाँ आई है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -