Saturday, May 21, 2022
Homeविविध विषयअन्यपदयात्रा से पाटी दूरी, माँ का लिया आशीर्वाद, गुरुओं का सम्मान: 28 साल बाद...

पदयात्रा से पाटी दूरी, माँ का लिया आशीर्वाद, गुरुओं का सम्मान: 28 साल बाद उत्तराखंड के पैतृक घर में CM योगी ने बिताई रात

"आज मुझे अपने गुरुओं का सम्मान करने का सौभाग्य मिला। मैं 35 साल बाद अपने अध्यापकों से मिल पा रहा हूँ। मैं आज जो कुछ भी हूँ माता-पिता और गुरु अवैद्यनाथ की वजह से हूँ।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीन दिन के उत्तराखंड दौरे पर हैं। पहले दिन मंगलवार (3 मई 2022) को वे अपने पैतृक गाँव पंचूर पहुँचे। इस दौरान पहाड़ी रास्ता उन्होंने पैदल ही पूरी की। 28 साल में यह पहला मौका है जब उन्होंने रात अपने पैतृक घर में बिताई। आज वह एक पारिवारिक कार्यक्रम का भी हिस्सा बनेंगे।

सोशल मीडिया पर उनकी एक बेहद खूबसूरत तस्वीर वायरल है। इसमें योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) अपनी माँ के चरण छूकर आशीर्वाद लेते हुए नजर आ रहे हैं। पाँच साल बाद बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर 84 वर्षीय सावित्री देवी भी काफी भावुक नजर आईं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ 5 साल बाद अपने गाँव पहुँचे हैं। लेकिन संन्यास के 28 साल बाद पहली बार रात यहाँ के पैतृक घर में बिताई है। योगी से मिलने के लिए उनकी तीन बहनें भी माँ के घर आई हैं। वहीं, उनके तीनों भाई भी घर पर ही हैं।

माँ से मिलने से पहले उन्होंने पंचूर से 2 किमी दूर बिथ्याणी में महायोगी गुरु गोरखनाथ राजकीय महाविद्यालय में गुरु अवैद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण किया। गुरु को याद करते हुए सीएम योगी ने भावुक होते हुए कहा, “आज मुझे अपने गुरुओं का सम्मान करने का सौभाग्य मिला। मैं 35 साल बाद अपने अध्यापकों से मिल पा रहा हूँ। मैं आज जो कुछ भी हूँ माता-पिता और गुरु अवैद्यनाथ की वजह से हूँ।” इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने स्कूल के 6 शिक्षकों को शॉल देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि मैं यहाँ कक्षा 1 से 9 तक पढ़ा हूँ।

उत्तर प्रदेश के सीएम ने कहा, “उत्तराखंड में भाजपा की सरकार न बनती तो शायद मैं यहाँ आज भी नहीं आ पाता और मैं अपने गाँव भी नहीं आ पाता। कोरोना काल में हमने लोगों को फ्री चिकित्सा की सुविधाएँ दीं। ऐसी ही व्यवस्था हमें अब उत्तराखंड में नजर आती हैं, जब से हमारी भाजपा सरकार यहाँ आई है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उद्धव का मंत्री, पवार का खास: अदालत ने भी माना ‘डी गैंग’ से नवाब मलिक के संबंध, ED ने चार्जशीट में बताया- मुंबई ब्लास्ट...

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गंभीर आरोपों में गिरफ्तारी के बावजूद अपने जिस मंत्री नवाब मलिक को हटाने से इनकार किया था, उनके डी गैंग से लिंक होने की बात अदालत ने भी मानी है।

अब कहाँ गायब हो गया ज्ञानवापी ढाँचे में दिखा शिवलिंग? पूर्व महंत ने तस्वीरों से खोले राज़, हनुमान मूर्ति और कमल के फूल भी...

काशी विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत डॉ कुलपति तिवारी ने ज्ञानवापी विवादित ढाँचे और शिवलिंग को लेकर पुरानी तस्वीरें दिखाते हुए बड़ा दावा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
187,732FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe