Monday, August 2, 2021
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकी₹50 करोड़ में बिका 10 सेकेंड का वीडियो: नहीं कर सकते चोरी, NFT का...

₹50 करोड़ में बिका 10 सेकेंड का वीडियो: नहीं कर सकते चोरी, NFT का किया गया है इस्तेमाल

इस वीडियो को पूरी तरह कम्प्यूटर की मदद से तैयार किया गया है। इस वीडियो की कोई चोरी नहीं कर सकता। इससे इसके असली मालिक का पता चलता रहेगा। इस डिजिटल वीडियो में 'Non-Fungible Token (NFT)' का इस्तेमाल किया गया है।

अगर कोई चीज मुफ्त में ऑनलाइन उपलब्ध हो तो क्या आप उसे खरीदने के लिए करोड़ों रुपए खर्च करेंगे? लेकिन, अब जमाना बदल रहा है। क्रिप्टो की दुनिया में गोते लगाने वाले निवेशक अब ऑनलाइन एसेट्स के लिए करोड़ों खर्च कर रहे हैं। अब एक 10 सेकेंड्स का वीडियो क्लिप 6.6 मिलियन डॉलर (48.43 करोड़ रुपए) में बिका है। ये ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का कमाल तो है ही, लेकिन आइए जानते हैं इस वीडियो में क्या है।

उस वीडियो में ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सड़क पर लेटे हुए हैं और उनके ऊपर पक्षी मँडरा रहे हैं। साथ ही उनके शरीर पर कुछ आपत्तिजनक चीजें भी लिखी हुई हैं, जिनमें ‘लूजर’ भी शामिल है।

50 करोड़ रुपए वाले वीडियो में उल्टा लेटे हुए डोनाल्ड ट्रम्प के पास एक पेड़ है और सड़क पर कुछ लोग पैदल चहलकदमी कर रहे हैं। इस वीडियो में देखने में कुछ भी खास नहीं लगता। लेकिन, इसे खरीदने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल किया गया है।

इस वीडियो को पूरी तरह कम्प्यूटर की मदद से तैयार किया है और इसके सत्यापन के लिए ब्लॉकचेन का इस्तेमाल किया गया है। इस वीडियो की कोई चोरी नहीं कर सकता, क्योंकि इस पर इसके क्रिएटर का डिजिटल सिग्नेचर भी है। इससे इसके असली मालिक का पता चलता रहेगा। इस डिजिटल वीडियो में ‘Non-Fungible Token (NFT)’ का इस्तेमाल किया गया है। ऑनलाइन निवेश में ये जाना-पहचाना नाम है।

Bitcoin के दाम आसमान छू रहे हैं। कई अन्य ऑनलाइन एसेट्स, जिन्हें Altcoins भी कहते हैं – उनकी खासी माँग है। इसमें एक रुपए से भी कम के टोकन से लेकर लाखों रुपए तक के उपलब्ध हैं और हाल के दिनों में सबने अच्छा रिटर्न दिया है। ऐसे में NFT टोकंस की भी खासी माँग है। पिछले कुछ दिनों में इसके बाजार में करोड़ों डॉलर का उछाल आया है। बड़े निवेशक भी इधर आकर्षित हो रहे हैं।

उक्त वीडियो की बात करें तो इसे मियामी के निवासी पाब्लो रोड्रिगोएज फ्राइले ने खरीदा है। अब इसके बाद डिजिटल आर्ट्स तैयार करने की होड़ सी लगने की संभावना है।

इस वीडियो को डिजिटल आर्टिस्ट बिपल ने बनाया है। पाब्लो ने कहा कि आप मोनालिसा पेंटिंग की तस्वीर क्लिक कर के आ सकते हैं लेकिन उसका कोई मूल्य नहीं है क्योंकि आपके पास उसकी उत्पति और उस कार्य के इतिहास का कोई सबूत नहीं है।

लेकिन, ये वीडियो उन सबके साथ ऑथेंटिकेटेड अथवा सत्यापित है। डॉलर, शेयर बाजार के स्टॉक्स या सोना – ये सब इन सबको अन्य चीजों से बदला जा रहा है, प्रतिस्थापित किया जा सकता है और अतः इसका कोई एक मालिक नहीं हो सकता। अर्थात, ये ‘Fungible’ हैं। अब आप समझ गए होंगे कि ‘Non Fungible’ क्या है – ये यूनिक है। इसे इंटरचेंज नहीं किया जा सकता। ये अपने आप में एक वर्चुअल दुनिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,543FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe