Sunday, April 21, 2024
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीगूगल पर मौजूद हैं आपके व्हाट्सएप्प प्राइवेट ग्रुप चैट और नंबर! जानें कितने सुरक्षित...

गूगल पर मौजूद हैं आपके व्हाट्सएप्प प्राइवेट ग्रुप चैट और नंबर! जानें कितने सुरक्षित हैं आप

अपनी नई पॉलिसी लाकर यूजर्स की प्राइवेसी में हस्तक्षेप करने वाले मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप्प को इस समय जब हर जगह से लताड़ लग रही है। उस समय यूजर्स ने यह भी पाया कि कई लोगों के प्राइवेट चैट ग्रुप भी गूगल सर्च इंजन पर मौजूद हैं।

WhatsApp ने आपकी प्राइवेसी को ख़िलवाड़ मान लिया है। अत: आपके प्राइवेट ग्रुप चैट गूगल के सर्च इंजन पर कभी मिल जाएँ तो हैरान होने की आवश्यकता नहीं है। अपनी नई पॉलिसी लाकर यूजर्स की प्राइवेसी में हस्तक्षेप करने वाले मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप्प को इस समय जब हर जगह से लताड़ लग रही है। उस समय यूजर्स ने यह भी पाया कि कई लोगों के प्राइवेट चैट ग्रुप भी गूगल सर्च इंजन पर मौजूद हैं।

ये ताजा मामला रविवार (जनवरी 10,2021) को दर्ज किया गया। इससे मालूम चला कि प्राइवेट ग्रुप से जुड़ने के इन्वाइट लिंक के अलावा कई यूजर्स की प्रोफाइल भी सर्च इंजन पर थी, जिसका सीधा सा एक मतलब ही है कि यदि कोई चाहे तो आपकी न केवल ग्रुप चैट में अपनी मर्जी से एंट्री ले सकता है बल्कि उस ग्रुप से जुड़े नंबरों को भी पता कर सकता है।

इससे पहले इस तरह किसी व्यक्ति विशेष की निजता में हस्तक्षेप के आरोप इस मैसेजिंग एप पर साल 2019 में लगे थे। जिसके बाद कंपनी ने अपने बयान में कहा था कि उन्होंने मामला उजागर होने के बाद अपनी सुरक्षा को और बढ़ाया है।

पिछली बार जब यह समस्या आई थी, तो कंपनी ने कहा था कि मार्च 2020 से, व्हाट्सएप ने अपने सभी लिंक पेजों के लिए ‘noindex’ टैग को शामिल किया है। इससे इन लिंक्स को अनुक्रमण से बाहर रखा जा सकता है। इसके बाद नवंबर 2019 में सामने आए लिंक गूगल पर कहीं नहीं पाए गए हैं लेकिन अब है कि अब कुछ मामले सामने आए हैं।

साइबर जानकार राजशेखर राजाहरिया ने 10 जनवरी को अपने ट्वीट में लिखा, “आपके व्हाट्सएप्प गुप शायद उतने भी सुरक्षित नहीं है जितना की आप सोच रहे हैं। व्हॉट्सएप ग्रुप चैट के इन्वाइट लिंक, यूजर प्रोफाइल दोबारा से सार्वजनिक की जाने लगी है।” उन्होंने अपने ट्वीट के साथ कुछ तस्वीरें शेयर की। इन तस्वीरों में देख सकते हैं कि कई नंबर की चैट गूगल के सर्च इंजन पर ही दिख रही हैं।

ऑपइंडिया इस बात की पुष्टि नहीं करता है कि ये नंबर अब भी गूगल पर नजर आ रहे हैं या फिर मैसेजिंग एप ने इसका कोई समाधान खोज लिया है। मगर 11 जनवरी को राजशेखर इस बात की जानकारी दे चुके हैं कि मैसेजिंग एप ने दोबारा मामला उजागर होने के बाद ग्रुप इन्वाइट और प्रोफाइल लिंक को गूगल सर्च से हटा दिया है।

मीडिया खबरों के अनुसार साइबर एक्सपर्ट्स का कहना है “noindex’ टैग जोड़ना एक उचित समाधान नहीं है क्योंकि चैट कुछ ही महीनों में दोबारा से प्लेटफॉर्म पर है।” उनका मानना है कि व्हाट्सएप जैसी बड़ी तकनीकी कंपनियाँ यदि वास्तव में उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता की फिक्र करती हैं तो उनको एक उचित समाधान की तलाश करनी चाहिए। इससे पहले करीब 1500 ग्रुप इन्वाइट लिंक गूगल के सर्च रिजल्ट पर पाए गए थे।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक डेवलपर्स आमतौर पर किसी भी पृष्ठ के लिए robots.txt file का इस्तेमाल करते हैं कि Google किसी पेज तक जा सकता है या नहीं। मगर WhatsApp ने कथित तौर पर chat.whatsapp.com सबडोमेन के लिए robots.txt फ़ाइल का उपयोग नहीं किया है। इससे Google पर ग्रुप चैट में अतिक्रमण हो सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘माँ-बहनों का सोना लेकर ‘घुसपैठियों में बाँटना’ चाहती है कॉन्ग्रेस’: पीएम मोदी ने INC पर लगाया माओवाद को अपनाने का आरोप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस मां-बहनों का सोना लेकर 'घुसपैठियों को बांटना' चाहती है।

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe