Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजजालिम मुखिया की गिरफ्तारी के बाद मस्जिदों में छिपकर बैठे 11 नेपाली जमाती हिरासत...

जालिम मुखिया की गिरफ्तारी के बाद मस्जिदों में छिपकर बैठे 11 नेपाली जमाती हिरासत में, बिहार के रास्ते करने वाले थे सीमा पार

बुधवार को क्षेत्र के चौहानपट्टी गाँव के शंभू चौहान व जोकवा बाजार के राजेंद्र शर्मा ने 11 नेपाली जमातियों को फोरलेन के रास्ते जाते हुए देखा और इसके बाद पुलिस को सूचित किया। इन लोगों की पहचान अहमद हुसैन, एमडी कमरुल हुसैन, मुजेबुर रहमान, मो तैयब, मो सफीद रहमान, मो जावेद अख्तर, इस्लाम मियाँ, अब्दुल गफूर, मो नजीर, मो वकील के रूप में हुई है।

उत्तरप्रदेश के कुशीनगर जिले के तुर्कपट्टी थाने के मधुरिया चौकी की पुलिस ने बुधवार (अप्रैल 11, 2020) को 11 संदिग्ध नेपाली जमातियों को पकड़ा। हिरासत में लिए गए सभी जमाती 5 मार्च को सोनौली सीमा पार कर भारत में आए थे। फिर 7 मार्च को सभी खैरी गाँव स्थित मस्जिद में इज्तिमा में शामिल हुए और तब से ही अलग-अलग गाँवों के मस्जिद में छिपकर रह रहे थे। मगर आज सुबह जोकवा बाजार से गुजरते हुए पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया। पूछताछ में मालूम चला कि ये लोग बिहार के रास्ते वापस नेपाल जा रहे थे। लेकिन उससे पहले पकड़ लिए गए।

बता दें, बुधवार को क्षेत्र के चौहानपट्टी गाँव के शंभू चौहान व जोकवा बाजार के राजेंद्र शर्मा ने 11 नेपाली जमातियों को फोरलेन के रास्ते जाते हुए देखा और इसके बाद पुलिस को सूचित किया। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, इन लोगों की पहचान अहमद हुसैन, एमडी कमरुल हुसैन, मुजेबुर रहमान, मो तैयब, मो सफीद रहमान, मो जावेद अख्तर, इस्लाम मियाँ, अब्दुल गफूर, मो नजीर, मो वकील के रूप में हुई है।

हालाँकि, अभी तक ये लोग इस बात की जानकारी नहीं दे पाएँ हैं कि लॉकडाउन होने के बावजूद 22 दिन ये कहाँ-कहाँ रहे। मगर, पुलिस फिर भी इनसे ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने की कोशिश करेगी। प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र सिंह का इस मामले में कहना है कि नेपाली जमातियों को सपहा क्वारंटाइन केंद्र पर एम्बुलेंस से भेजा गया है। मेडिकल जाँच के बाद ही आगे कुछ कहा जा सकता है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों खबर आई थी नेपाल में बैठा हथियार तस्कर जालिम मुखिया नेपाल से कोरोना पॉजिटिवों को यूपी और बिहार में घुसाने की फिराक में है। जिसके लिए उसने 300 से ज्यादा जमाती इकट्ठा भी किए हुए हैं। अब इस खबर के बाद जब नेपाल से लगी भारतीय सीमा सील है और वहाँ कड़ा पहरा है। तो इन नेपालियों का इस तरह मिलना बेहद महत्तवपूर्ण माना जा रहा है। हाल ही में जालिम मुखिया को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बता दें, इससे पहले कुशीनगर में पुलिस ने तबलीगी जमात से जुड़े असम के 10 लोगों को पकड़ा था। इनमें 5 महिलाएँ व 5 पुरूष थे। इस दौरान कुशीनगर के पुलिस अधीक्षक ने बताया था कि उन्हें एक ईमेल आया था, जिसमें ये सूचना थी कि असम के रहने वाले 10 लोग दिल्ली के जमात में शामिल होकर 9 मार्च को वहाँ से निकले थे। वे जनपद कुशीनगर में छिपे हो सकते हैं। ऐसे में पहले जब सूचना के आधार पर तलाशी कराई गई, तो ये लोग नहीं मिल पाए। बाद में इनके पीछे सूचना तंत्र और विश्वासपात्र लोगों को लगाया गया। जिससे 2 लोग पकड़ में आए और इनको चिह्नित करके क्वारंटाइन कराया गया। बाद में 3 व्यक्ति पकड़े गए। उन्हें भी एंबुलेंस से भिजवाकर क्वारंटाइन कराया गया। इसके बाद पाँच महिलाएँ शेष थीं। पर उन्हें भी  चिह्नित करते सेंटर भेजा गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,526FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe