Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाज18+ वालों को लगेगी कोरोना वैक्सीन: इसके लिए रजिस्ट्रेशन की 2 प्रक्रिया... कब से...

18+ वालों को लगेगी कोरोना वैक्सीन: इसके लिए रजिस्ट्रेशन की 2 प्रक्रिया… कब से और कैसे, जानें सब कुछ

फोटो आईडी प्रूफ साथ लेकर बैठें। CoWin प्लेटफॉर्म के अलावा आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। लेकिन दोनों का प्रोसेस अलग है।

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को और धारदार बनाते हुए केन्द्र सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का फैसला किया है। मोदी सरकार ने देश में कोरोना के बढ़ते हुए संकट को देखते हुए सोमवार (19 अप्रैल) को यह फैसला लिया।

18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 28 अप्रैल से कोविन (CoWin) प्लेटफॉर्म पर शुरू होगी।

सरकार ने कहा है कि इस टीकाकरण अभियान में स्वदेशी वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के अलावा जल्द ही रूस की वैक्सीन स्पूतनिक का प्रयोग भी किया जाएगा।

आइए जानते हैं कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए 1 मई से शुरू होने वाले कोरोना वैक्सीनेशन का हिस्सा बनने के लिए क्या प्रक्रिया है।

18+ उम्र के लोग कैसे करें कोरोना वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन

cowin.gov.in पर लॉग इन करें और अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें।

आपके मोबाइल नम्बर पर एसएमएस द्वारा एक OTP आएगा।

OTP के वैलिडेट होने के बाद ”रजिस्ट्रेशन ऑफ वैक्सीनेशन” पेज खुलेगा

”रजिस्ट्रेशन ऑफ वैक्सीनेशन” पेज पर आवश्यक जानकारियां भरें, जैसे कि आपका फोटो आईडी प्रूफ।

आपसे पूछा जाएगा कि क्या आपको कोई बीमारी है, इसका जवाब हाँ या नहीं में दिया जा सकता है।

रजिस्ट्रेशन के लिए जानकारियाँ भरने के बाद पेज के दाईं ओर नीचे की तरफ ”रजिस्टर” बटन पर क्लिक करें।

सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक पुष्टिकरण का मैसेज आएगा। रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपका ”अकाउंट डिटेल्स” दिखाई देगा। ”अकाउंट डिटेल्स” पेज से ही आप अपॉइंटमेंट शेड्यूल कर सकते हैं।

नागरिकों को इस मोबाइल नम्बर से तीन और लोगों को जोड़ने की अनुमति होती है, ऐसा करने के लिए पेज के दाईं ओर नीचे ”ऐड मोर” पर क्लिक करें। इसमें शामिल किए जाने वाले सभी व्यक्तियों की डिटेल्स भरें और फिर ऐड बटन पर क्लिक करें।

अपनी अपॉइंटमेंट बुक करने या वैक्सीनेशन के लिए आप आरोग्य सेतु ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं। इसके लिए इसमें एक अलग टैब बनाया गया है, जिसमें आप नाम, उम्र और लिंग समेत अपनी आवश्यक जानकारियाँ भर कर खुद को वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।

आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से कैसे करें रजिस्ट्रेशन

आरोग्य सेतु ऐप पर जाएँ> होम स्क्रीन पर CoWIN टैब पर क्लिक करें

वैक्सीन रजिस्ट्रेशन को सेलेक्ट करें, उसमें अपना फोन नंबर डालें, फिर जो ओटीपी आए, उसे डाल कर वेरीफाई पर क्लिक करें।

अब आपको वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन पेज पर रिडायरेक्ट कर दिया जाएगा।

‘CoWIN पोर्टल के जरिए वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया (इसी लेख में ऊपर दिया गया है) का पालन करें।

प्रत्येक नागरिक को कोरोना वायरस वैक्सीन की दो खुराक दी जानी है। CoWIN पोर्टल के मुताबिक, कोवाक्सिन की दूसरी खुराक पहली खुराक के बाद 28 दिनों से 42 दिनों के बीच लेनी चाहिए। कोविशिल्ड की दूसरी खुराक पहली खुराक के बाद 28 दिनों से 56 दिनों के बीच लेनी चाहिए।

बुधवार को, सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा कि वह वैक्सीन को राज्यों को 400 रुपए और निजी अस्पतालों को 600 रुपए में बेचेगा, जबकि केन्द्र सरकार के लिए कीमत वही (150 रुपए) रहेगी।

हाल ही में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, केरल, असम, बिहार ने 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए मुफ्त वैक्सीनेशन की घोषणा की है।

केन्द्र ने 16 जनवरी से स्वस्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू किया था और 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को इसमें शामिल करते हुए इसका विस्तार किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe