Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजआवारा कुत्तों ने 2 दिन में नोचे 2 सगे भाई, शव सड़क पर मिले:...

आवारा कुत्तों ने 2 दिन में नोचे 2 सगे भाई, शव सड़क पर मिले: दिल्ली की घटना

पुलिस ने शवों को फिलहाल पोस्टमार्टम से लिए अस्पताल में रखवा दिया है। दोनों बच्चों के शरीर पर कुत्तों के काटने के बहुत सारे निशान हैं। दूसरे बच्चे की मौत के बाद दिल्ली नगर निगम की गाड़ी इलाके में है।

दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में दो भाइयों को कथिततौर पर कुत्तों ने नोच-नोचकर मार डाला। इनमें एक भाई की उम्र 7 साल थी और दूसरे की महज 5 साल थी। घरवालों का आरोप है कि पहले लड़के के साथ हुई घटना पर नगर निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। अब इस मामले में परिजनों की शिकायत लेकर जाँच की जा रही है।

घटना रविवार (12 मार्च 2023) की है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, 5 साल का बच्चा पेशाब के लिए गया था। जिसके बाद उसके चचेरे भाई ने उसे कुत्तों से घिरा घायल पाया। अस्पताल ले जाते टाइम उसे मृत घोषित कर दिया गया। इससे पहले 10 मार्च को इसी बच्चे का बड़ा भाई (उम्र 7 साल) अचानक गायब हुआ था, बाद में उसका शव बरामद हुआ था और शरीर पर कुत्तों के काटने के निशान थे।

पुलिस ने शवों को फिलहाल पोस्टमार्टम से लिए अस्पताल में रखवा दिया है। दोनों बच्चों के शरीर पर कुत्तों के काटने के बहुत सारे निशान हैं। दूसरे बच्चे की मौत के बाद दिल्ली नगर निगम की गाड़ी इलाके में है।

कुत्तों ने नोचकर 5 साल की बच्ची को मारा

बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में 5 साल की मासूम बच्ची पर आवारा कुत्ते के हमले की घटना सामने आई थी। कुत्ते के हमले के बाद बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई थी। जिसके बाद उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहाँ, इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

स्थानीय ग्रामीणों का कहना था कि कुत्ते ने हमला करते हुए बच्ची की गर्दन पकड़ ली थी। इस दौरान, वहाँ मौजूद लोगों ने कुत्ते के चंगुल से बच्ची को छुड़ाने की काफी कोशिश की। लेकिन, कुत्ता बच्ची को नहीं छोड़ रहा था। हालाँकि, बाद में काफी मशक्कत के बाद उसने बच्ची को छोड़ दिया।

इसके बाद, लहूलुहान हालत में उसे नजदीकी सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहाँ देर रात तक उसका इलाज चल रहा था। मगर, अधिक खून बह जाने के कारण इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पातिलाना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -