Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाज'मातोश्री' को ₹50 लाख की घड़ी, ₹2 करोड़ के अन्य गिफ्ट्स: IT विभाग कर...

‘मातोश्री’ को ₹50 लाख की घड़ी, ₹2 करोड़ के अन्य गिफ्ट्स: IT विभाग कर रहा है जाँच, 71 संपत्तियों और हवाला से जुड़ा है मामला

'मातोश्री' महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के बांद्रा में स्थित है। जबकि यशवंत जाधव का कहना है कि उनकी डायरी में 'मातोश्री' का आशय उनकी माँ से है।

महाराष्ट्र की बृहन्मुम्बई महानगरपालिका की स्टैंडिंग कमिटी के अध्यक्ष यशवंत जाधव की आयकर धोखाधड़ी की जाँच IT विभाग कर रहा है। उनके पास से एक संदिग्ध डायरी भी मिली है, जिसमें करोड़ों के लेनदेन के हिसाब दर्ज हैं। इस डायरी में दो एंट्री ऐसी है जो कहती है कि ‘मातोश्री’ को 50 लाख की एक हाथ घड़ी के अलावा 2 करोड़ रुपए के अन्य गिफ्ट्स भी दिए गए हैं। बता दें कि ‘मातोश्री’ शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे का पारिवारिक निवास स्थान है।

उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री भी हैं, वहीं उनके बेटे उनकी कैबिनेट में पर्यटन और पर्यावरण जैसे विभाग संभाल रहे हैं। सीएम उद्धव पत्नी रश्मि ठाकरे पार्टी मुखपत्र ‘सामना’ की मुख्य संपादक हैं। ‘मातोश्री’ महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के बांद्रा में स्थित है। जबकि यशवंत जाधव का कहना है कि उनकी डायरी में ‘मातोश्री’ का आशय उनकी माँ से है। उन्होंने बताया कि पहली एंट्री उनकी माँ के जन्मदिन के अवसर पर घड़ी बाँटी जाने की है।

वहीं दूसरी एंट्री के बारे में उन्होंने बताया कि ये गुड़ी पर्व के अवसर पर उनकी माँ की याद में ज़रूरतमंदों को गिफ्ट्स बाँटे जाने के हैं। 25 फरवरी, 2022 को चलाए गए तलाशी अभियान में ये डायरी मिली थी। यशवंत जाधव की पत्नी यामिनी जाधव दक्षिणी मुंबई के भायखला (Byculla) विधानसभा क्षेत्र से शिवसेना के टिकट पर विधायक हैं। कॉन्ट्रैक्टर विमर अग्रवाल की ‘Newshawk मल्टीमीडिया प्राइवेट लिमिटेड’ के कुछ लेनदेन की भी जाँच की जा रही है।

आरोप है कि यशवंत जाधव ने विमर अग्रवाल की कंपनी को BMC के कॉन्ट्रैक्ट्स के जरिए 30 करोड़ रुपए का फायदा पहुँचाया है। आरोप है कि उन्होंने इस कंपनी को माध्यम बना कर बिलाकड़ी चैंबर्स में 31 फ्लैट्स खरीदे। इस इमारत में रहने वाले चार-पाँच पट्टेदारों को कैश में रुपए दिए गए। प्रत्येक को 30-35 लाख रुपए दिए गए। जाधव से जुड़ी 40 अन्य संपत्तियों की जाँच चल रही है। हवाला लेनदेन का भी शक है, जिसकी जल्द पुष्टि की जा सकती है।

यशवंत जाधव का कहना है कि जिस 2 करोड़ रुपए की बात उनकी डायरी की एंट्री में है, वो उन्हें डोनेशन के रूप में मिले थे। उन पर आरोप है कि उन्होंने सूरज सिंह देवड़ा नाम के एक ठेकेदार को धमकाया भी था कि अग्रवाल को ही ये कॉन्ट्रैक्ट मिलना चाहिए। जबकि देवड़ा ने उस क्षेत्र के लिए BMC कॉन्ट्रैक्ट जीता था। 2020 में सोशल मीडिया पर इस धमकी की एक ऑडियो क्लिप भी वायरल हुई थी। दो पट्टेदारों को कनाडा और अमेरिका में हवाला के जरिए रुपए देने की बात भी सामने आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -