Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजमॉब लिंचिंग: क़मरुद्दीन कुरैशी को मारने वाले शहाबुद्दीन शेख, इस्तियाक खान समेत 6 लोग...

मॉब लिंचिंग: क़मरुद्दीन कुरैशी को मारने वाले शहाबुद्दीन शेख, इस्तियाक खान समेत 6 लोग गिरफ्तार

कमरुद्दीन की गुरुवार शाम आरोपितों के साथ बहस हुई थी। उनलोगों ने उसे मारने की धमकी दी। बाद में उसे सलामताबाद जोहर मस्जिद के पास कल्लू स्टेडियम रोड पर पकड़ लिया और धारदार हथियार से वार किए।

मालेगाँव में गुरुवार को 20 साल के युवक की हत्या के मामले में मालेगाँव पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। मालेगाँव के सलामताबाद में क़मरुद्दीन कुरैशी उर्फ अमिन गोली की एक मामूली विवाद के चलते 6 लोगों ने मिलकर धारदार हथियार से हत्या कर दी थी।

TOI की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में पुलिस ने अब तक शहाबुद्दीन शेख, इस्तियाक खान अब्दुल गफुर खान, शेख आसिफ शेख मक़सूद, शेख शोएब शेख मक़सूद, शेख वसीम शेख यूनुस, और सलमान खान ज़ाकिर को गिरफ्तार किया है। ये सभी मालेगाँव के रहने वाले हैं। इन 6 के अलावा पुलिस अभी एक अन्य आरोपित की तलाश कर रही है।

बताया जाता है कि गुरुवार की शाम कमरुद्दीन की आरोपितों के साथ बहस हुई थी। उनलोगों ने उसे मारने की धमकी दी थी। बाद में हमलवारों ने उसे सलामताबाद जोहर मस्जिद के पास कल्लू स्टेडियम रोड पर पकड़ लिया और धारदार हथियार से वार किए।

घटना की जानकारी मिलने पर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदीप घुगे, पुलिस उपाधीक्षक रत्नाकर नवले, इंस्पेक्टर जीएसआर पाटिल और अन्य अधिकारी मौके पर पहुँचे। हमले से गंभीर रूप से घायल हुए कमरुद्दीन को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहाँ डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सीसीटीवी फुटेज से पुलिस आरोपितों को पकड़ने में सफल रही।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2047 तक भारत को बनाना था इस्लामी राज्य, गृहयुद्ध के प्लान पर चल रहा था काम: राजस्थान में जातीय संघर्ष भड़का PFI का सरगना...

PFI 'मिशन 2047' की तैयारी में था, अर्थात स्वतंत्रता के 100 वर्ष पूरे होने तक भारत को एक इस्लामी मुल्क में तब्दील कर देना, जहाँ शरिया चले।

बैन लगने के बाद भी PFI को Twitter का ब्लू टिक: भारत और हिंदू-विरोधी रवैया है इस सोशल मीडिया साइट की पहचान, लग चुकी...

देश विरोधी गतिविधियों के कारण सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाने के बावजूद ट्विटर कर्नाटक PFI के हैंडल को वैरिफाइड बनाए रखा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe