Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'सभी आधार कार्ड धारकों को मिलेगा ₹80000'... केंद्र सरकार ने YouTube को दिया फर्जी...

‘सभी आधार कार्ड धारकों को मिलेगा ₹80000’… केंद्र सरकार ने YouTube को दिया फर्जी खबरें फैलाने वाले 3 चैनलों को हटाने का निर्देश, ‘आज तक लाइव’ भी नपा

'सरकारी अपडेट' नाम के यूट्यूब चैनल से लगातार सरकारी योजनाओं के नाम पर लोगों को पैसे दिए जाने की फर्जी जानकारी साझा की जाती रही है। एक वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी आधार कार्ड धारकों को ₹80,000 की राशि दे रही है।

यूट्यूब पर टीवी चैनलों से मिलता-जुलता नाम रखकर झूठी खबरें और फर्जी सनसनीखेज दावे कर के पैसे कमाने वाले चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने यूट्यूब से इस तरह के तीन चैनलों पर रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय के पीआईबी विभाग की फैक्ट चेक यूनिट ने तीन चैनलों को फर्जी और भ्रामक ख़बरें फैलाने वाला करार दिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने यूट्यूब के तीन चैनलों ‘आज तक लाइव’, ‘न्यूज हेडलाइंस’ और ‘सरकारी अपडेट्स’ नाम के यूट्यूब चैनलों को बंद करने का निर्देश दिया है। सरकार ने स्पष्ट किया है कि ‘आज तक लाइव’ चैनल इंडिया टुडे ग्रुप का हिस्सा नहीं है।

पीआईबी फैक्ट चेक यूनिट की तरफ से जानकारी दी गई कि ये चैनल दर्शकों को गुमराह करने के लिए टीवी समाचार चैनलों और उनके एंकर्स की तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि यह यकीन दिलाया जाए कि उनके द्वारा दी जा रही जानकारी सही है। बताया गया कि ये चैनल अपने वीडियो में विज्ञापन दिखाते और यूट्यूब पर भ्रामक खबरें दिखा कर पैसे भी कमा रहे हैं।

यूट्यूब पर आजतक की नक़ल कर चलाए जा रहे फर्जी चैनल आज तक LIVE के 65 हजार से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं। इस चैनल से कई वीआईपी लोगों के मरने या सरकार के फैसलों पर गलत व भ्रामक जानकारी दी जाती है। इस चैनल पर पीएम मोदी की माँ को लेकर भी भ्रामक ख़बर फैलाई गई थी। चैनल का लोगो भी आजतक से मिलता जुलता है, जिससे लोगों को एक बार के लिए यह यकीन हो जाता है कि शायद वो सही चैनल देख रहे हैं। इस तरह लोगों का ध्यान खींचकर अपने सब्सक्राइबर्स बढ़ा लेते हैं और झूठ परोस कर पैसे की कमाई करते हैं।

उधर ‘News Headlines’ नाम का चैनल भी लगातार फेक न्यूज़ फैलाने में लगा हुआ है। ये कोई छोटा-मोटा यूट्यूब चैनल नहीं है, बल्कि इसके 9.67 लाख सब्सक्राइबर्स हैं, यानी एक मिलियन के करीब। इसके 3 वीडियो ऐसे हैं, जिन पर 50 लाख से भी अधिक व्यूज आ चुके हैं। अब तक 32 करोड़ व्यूज इस यूट्यूब चैनल के वीडियोज को मिल चुके हैं। खास बात ये है कि YouTube ने फर्जी खबरें फैलाने वाले ‘News Headlines’ चैनल को वेरिफाइड का टिक दिया हुआ था।

‘सरकारी अपडेट’ नाम के यूट्यूब चैनल से लगातार सरकारी योजनाओं के नाम पर लोगों को पैसे दिए जाने की फर्जी जानकारी साझा की जाती रही है। एक वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार सभी आधार कार्ड धारकों को ₹80,000 की राशि दे रही है। उसके बाद लड़कियों को हर महीने ₹2100 रुपए मिलने की झूठी ख़बर फैलाई गई। चैनल से लगातार इस तरह की फर्जी ख़बरें फैलाई गईं। इस चैनल के 20 लाख से भी ज्यादा सब्सक्राइबर हैं।

इतना ही नहीं, फैक्ट चेक यूनिट ने जानकारी दी है कि यूट्यूब पर ये तीन चैनल भारत के उच्चतम न्यायालय, भारत के प्रधान न्यायाधीश, सरकारी योजनाओं, इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन और कृषि ऋणों को माफ करने जैसी झूठी और सनसनीखेज खबरें फैलाई। इन यूट्यूब चैनलों के कुल मिलाकर लगभग 33 लाख सब्सक्राइबर हैं और इनके वीडियो को 30 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -