Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजस्वाति मालीवाल ने दर्ज कराई FIR: मुख्यमंत्री आवास में अरविंद केजरीवाल के सामने ही...

स्वाति मालीवाल ने दर्ज कराई FIR: मुख्यमंत्री आवास में अरविंद केजरीवाल के सामने ही उनके PA बिभव कुमार ने मुँह, पेट और छाती पर मारा

गुरुवार (16 मई 2024) को दिल्ली पुलिस की एक टीम स्वाति मालीवाल के आवास पहुँची थी और करीब चार घंटे वहीं रही। इस दौरान दो सदस्यीय टीम ने मध्य दिल्ली स्थित उनके आवास पर उनका बयान दर्ज किया।

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने बीते दिनों मुख्यमंत्री आवास में अपने साथ हुई बदसलूकी और कथित मारपीट के मामले में आखिरकार लिखित शिकायत दे दी है। गुरुवार (16 मई 2024) को दिल्ली पुलिस की एक टीम स्वाति मालीवाल के आवास पहुँची थी और करीब चार घंटे वहीं रही। इस दौरान दो सदस्यीय टीम ने मध्य दिल्ली स्थित उनके आवास पर उनका बयान दर्ज किया। इस बीच, पता चल रहा है कि अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में उनके पीए बिभव कुमार ने स्वाति मालीवाल की जमकर पिटाई की। न सिर्फ थप्पड़ मारे, बल्कि छाती, पेट में भी मारा।

केजरीवाल की मौजूदगी में बिभव ने स्वाति को पीटा

टाइम्स नॉउ की रिपोर्ट के मुताबिक, बिभव कुमार ने स्वाति मालीवाल को 5-6 थप्पड़ मारे। बिभव कुमार ने अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में स्वाति मालीवाल की पिटाई की। बिभव ने स्वाति की छाती, पेट और शरीर के निचले हिस्सों पर भी चोट पहुँचाया। इस रिपोर्ट के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल उस समय अपने घर में ही मौजूद थे और उनकी मौजूदगी में बिभव कुमार ने स्वाति मालीवाल को पीटा। इस मामले में स्वाति मालीवाल के बयान के आधार पर दिल्ली पुलिस एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक अधिकारी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मालीवाल ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पर हुई घटना के बारे में पुलिस को बताया। पुलिस टीम अपर पुलिस आयुक्त पी.एस. कुशवाहा के नेतृत्व में दोपहर करीब 1 बजकर 50 मिनट पर राज्यसभा सदस्य के आवास पर गई थी। उनके साथ महिला पुलिस अधिकारी भी थीं। यह टीम करीब चार घंटे से अधिक समय तक उनके घर पर मौजूद रही।

स्वाति मालीवाल ने इस मामले पर ट्वीट भी किया। उन्होंने एक्स पर लिखा, “मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्रवाई होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूँ। जिन लोगों ने कैरेक्टर असासिनेशन करने की कोशिश की, ये बोला की दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे। देश में अहम चुनाव चल रहा है, स्वाति मालीवाल ज़रूरी नहीं है, देश के मुद्दे ज़रूरी हैं। बीजेपी वालों से ख़ास गुज़ारिश है इस घटना पे राजनीति न करें।”

दिल्ली बीजेपी महिला मोर्चा की अध्यक्ष ऋचा पांडे मिश्रा ने कहा, “मैं स्वाति मालीवाल को धन्यवाद देती हूँ कि उन्होंने शिकायत दर्ज की और अपनी चुप्पी तोड़ी। जिस तरह के सदमे से वह गुजर रही होंगी, उसे देखते हुए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी होगी…मेरी टीम और मैं उनसे मिलने और उनका समर्थन करने आए था। हम राजनीति से ऊपर उठ कर ये सब देख रहे हैं। हम जानते हैं कि वह हमारी राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी रही हैं और एक अलग विचारधारा से जुड़ी हैं, लेकिन यहाँ यह महिलाओं की समानता के बारे में था। मैं चाहती हूँ कि अरविंद केजरीवाल की जमानत रद्द की जाए और आरोपी विभव कुमार को जेल भेजा जाए…”

बता दें कि स्वाति मालीवाल ने सोमवार (13 मई 2024) को सीएम आवास में अपने साथ दुर्व्यवहार और कथित मारपीट होने का आरोप लगाया था। इस मामले में उन्होंने पहले सीएम हाउस से ही पुलिस को फोन लगाया था, फिर इसके बाद वे सिविल लाइन्स थाने पहुँच गई थीं। उनका आरोप था कि केजरीवाल के निजी स्टाफ के एक सदस्य बिभव कुमार ने उनके साथ बदसलूकी की है। हालाँकि उस वक्त वे पुलिस को लिखित शिकायत दिए बिना ही लौट आई थीं। हालाँकि अब दिल्ली पुलिस स्वाति मालीवाल के घर पहुँची थी। इस मामले स्वाति मालीवाल ने पुलिस को दी गई स्टेटमेंट का जिक्र करते हुए कार्रवाई की उम्मीद जताई है। इस दौरान स्वाति ने देश में चल रहे लोकसभा चुनावों का हवाला देते हुए कहा कि स्वाति मालीवाल जरूरी नहीं है बल्कि देश में मुद्दे जरूरी हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -