Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजआलिया की ड्रामेबाज मम्मी जुनैद की झूठी मॉब लिंचिंग की कहानी फैलाती है, फिर...

आलिया की ड्रामेबाज मम्मी जुनैद की झूठी मॉब लिंचिंग की कहानी फैलाती है, फिर कहती है ‘Vote against Hate’

वीडियो में कहा गया है कि जुनैद का मामला सीट शेयरिंग का ही था, लिंचिंग या बीफ का नहीं। हमारे देश में सोनी राजदान जैसे कुछ ऐसे लोग हैं, जो भारतीय नागरिक न होने के बावजूद भी भड़काऊ ट्वीट करते हैं।

राजनीति में बॉलीवुड की सक्रियता लगातार बढ़ती ही जा रही है। आजकल बॉलीवुड अभिनेत्री पायल रोहतगी को भी लोकसभा चुनावों के बीच सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को प्रोपगैंडा फैलाने वाले लोगों के खिलाफ जागरूकता फैलाते हुए देखा जा रहा है। इस क्रम में इस बार पायल रोहतगी के निशाने पर हैं आलिया भट्ट और उनकी मम्मी सोनी राजदान। ये वही सोनी राजदान हैं, जिन्होंने हाल ही में भारत में असहिष्णुता का हवाला देकर भारत छोड़कर पाकिस्तान जाकर रहने की बात कही थी।  

पायल रोहतगी ने एक नया वीडियो जारी करते हुए कहा है कि सोनी राजदान इंडियन नहीं बल्कि ब्रिटिश मुस्लिम है और भड़काऊ बातें बोलकर लोगों के बीच डर फैलाती हैं, फिर घृणा के विरोध में वोट करने की अपील का नाटक करती हैं। साथ ही, सोनी राजदान को दादी बोलते हुए उन्होंने कहा कि वो सठिया गई हैं।  

पायल रोहतगी का कहना है कि आलिया भट्ट और उनकी माँ सोनी राजदान देश में वोट नहीं डाल सकतीं। पायल ने एक वीडियो जारी कर इस बारे में बताया था। पायल ने सोनी राजदान पर आरोप लगाते हुए कहा, “वह देश में चुनावों के बीच मतदाताओं को भटकाने की कोशिश कर रही हैं।”

पायल का अब एक और नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में पायल कहती हैं कि सोनी राजदान ने ट्विटर पर पायल को ब्लॉक कर दिया है। पायल अपने वीडियो में कहती हैं, “सोनी राजदान कह रही हैं कि प्यार के लिए वोट कीजिए और मुझे ब्लॉक कर के वह प्यार का संदेश दे रही हैं। क्योंकि मैंने उनकी सिटीजनशिप के बारे में कहा है।”

पायल अपने वीडियो के साथ कैप्शन में लिखती हैं, “British Muslim दादी जी सठिया गई है।” पायल इसके साथ ही लिखती हैं, “मैं भारतीय मुस्लिमों से प्यार करती हूँ, लेकिन रोहिंग्या मुस्लिम, बंगलादेशी मुस्लिम, पाकिस्तानी मुस्लिम से इतना प्यार नहीं करती कि भारत में रहने वाले भारतीय नागरिकों का हक छीन के उनको दे दूँ। भारत पर सभी भारतीय नागरिकों का हक बनता है जिनके पूर्वज यहाँ थे।”

पायल अपने वीडियो में कह रही हैं, “जुनैद नाम के लड़के को ट्रेन में सीट शेयर करने के नाम पर हुए बवाल में लिंच किया गया था, जबकि जुनैद की मौत ट्रेन में यात्रा कर रहे उन लोगों से फाइट के दौरान हुई थी, जो लोग उनके साथ यात्रा कर रहे थे। मामला सीट शेयरिंग का ही था, लिंचिंग या बीफ का नहीं। हमारे देश में सोनी राजदान जैसे कुछ ऐसे लोग हैं, जो भारतीय नागरिक न होने के बावजूद भी भड़काऊ ट्वीट करते हैं।”

पायल आगे कहती हैं, “सोनी राजदान और आलिया भट्ट दोनों ही भारत में वोट नहीं कर सकते हैं। लेकिन वह कह रही हैं कि वोट करते समय जुनैद को याद रखें, वह जुनैद जो आपसी झगड़े के दौरान गुजर गया था, जो कि ठीक बात नहीं थी। जुनैद की मौत को वह जबरदस्ती लिंचिंग और बीफ से जोड़कर दिखाने की कोशिश कर रही हैं। लोकसभा इलेक्शन की पोलिंग शुरू हो गई है। जिनको सच्चाई नहीं पता, वह इस तरह के भड़काऊ और गलत जानकारी वाले ट्वीट से अपना विचार बदल सकते हैं।”

पायल ने आगे कहा, “कुछ दिन पहले अमित शाह जी ने कहा था कि देश में NRC लागू करेंगे, जिसके बाद अवैध मुसलामानों को भारत से निकाल दिया जाएगा। शायद अमित शाह के इस फैसले की वजह से सोनी राजदान इस तरह के ट्वीट कर नफरत फैलाने की कोशिश कर रही हैं। अगर NRC लागू होता है, तो सोनी राजदान को भारत से वापस जाना पड़ सकता है, क्योकि सोनी राजदान और आलिया भट्ट के पास ब्रिटिश पासपोर्ट है।”

पायल आगे कहती हैं, “सोनी राजदान हमें ट्विटर पे ब्लॉक कर के ‘Vote against Hate’ कर के ट्वीट करती है, कितनी दोगली इंसान है। वो माफी नहीं माँगती कि कैसे वो जुनैद की नकली मॉब लिंचिंग वाली कहानी शेयर कर लोगों को गुमराह कर रही हैं और मानवता का ड्रामा कर रही हैं। यह मानवता इनको कश्मीरी पंडितो की उजड़ी हुई जिंदगी में नहीं दिखती। महबूबा मुफ्ती के ऊपर कश्मीर में पत्थरबाज पत्थर फेंकते हैं और हमें यह सुनकर अच्छा लगता है, क्योंकि वो पत्थरबाज को मासूम बच्चे मानती है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,571FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe