Sunday, July 3, 2022
Homeदेश-समाज'कृष्ण भक्त बलात्कारी, अकबर से थे महाराणा प्रताप की पत्नी के संबंध': हिंदू घृणा...

‘कृष्ण भक्त बलात्कारी, अकबर से थे महाराणा प्रताप की पत्नी के संबंध’: हिंदू घृणा से सने प्रोफेसर को हाई कोर्ट ने नहीं दी राहत, काशी विश्वनाथ पर भी की थी अनर्गल बात

लखनऊ यूनिवर्सिटी के छात्रों ने प्रोफेसर रविकांत चंदन की टिप्पणी पर नाराजगी जताई है। उसे बर्खास्त करने की माँग के साथ कुलपति कार्यालय पर धरना दिया। आरोपित प्रोफेसर को कुंठित मानसिकता का बताते हुए जातिवादी करार दिया।

लखनऊ यूनिवर्सिटी के हिंदूफोबिक प्रोफेसर रविकांत चंदन को राहत देने से इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इनकार कर दिया है। अदालत ने उसके खिलाफ दर्ज FIR को रद्द करने की अपील ठुकरा दी है। हालाँकि उसकी गिरफ्तारी से पहले सभी कानूनी औपचारिकताओं का पालन करने का निर्देश पुलिस को दिया गया है। हाई कोर्ट का यह आदेश शुक्रवार (20 मई 2022) को आया। रविकांत चंदन ने काशी विश्वनाथ और हिन्दू साधु-संतों को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

रविकांत चंदन के खिलाफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने लखनऊ के हसनगंज थाने में FIR दर्ज करवाई थी। FIR में हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुँचाने का आरोप लगाया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसोसिएट प्रोफेसर रविकांत चंदन इसी FIR को निरस्त करवाने की माँग के साथ इलाहाबाद हाई कोर्ट गया था। उसकी याचिका पर जस्टिस अरविन्द कुमार मिश्रा और जस्टिस मनीष माथुर की बेंच ने सुनवाई की।

हाई कोर्ट में प्रोफेसर रविकांत चंदन ने कहा, “मेरे ऊपर दर्ज धाराओं में अधिकतम 7 वर्ष की सजा है। लेकिन इसके बाद भी पुलिस लगातार मेरी गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है। यह CRPC के सेक्शन 41(1)(b) और 41(A) का उल्लंघन है।” नियमानुसार ऐसे मामलों में गिरफ्तारी से पहले पुलिस आरोपित को नोटिस देती है। हाई कोर्ट ने पुलिस को इसका पालन करने को कहा। हाई कोर्ट ने प्रोफेसर द्वारा FIR को निरस्त करने की माँग ठुकराते हुए कहा कि अदालत के पास इसे निरस्त करने की कोई वजह नहीं है।

लखनऊ यूनिवर्सिटी के छात्रों ने प्रोफेसर रविकांत चंदन की टिप्पणी पर नाराजगी जताई है। छात्रों ने उसे बर्खास्त करने की माँग के साथ कुलपति कार्यालय पर धरना दिया। छात्रों ने आरोपित प्रोफेसर को कुंठित मानसिकता का बताते हुए जातिवादी करार दिया। एक छात्रनेता पर आरोपित प्रोफेसर की पिटाई का भी आरोप लगा था।

लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्र अंकित तिवारी द्वारा ट्विटर पर 19 मई 2022 को कुलपति को दी गई शिकायत की कॉपी शेयर की गई है। इस शिकायत में प्रोफेसर रविकांत चंदन के बयानों के कुछ अंश बताए गए हैं। इस शिकायत के मुताबिक प्रोफेसर रविकांत ने कहा, “महाराणा प्रताप की पत्नी के अकबर से नाजायज संबंध थे। वे रात में सोने के लिए अकबर के पास जाया करती थीं। कृष्ण के अनुयायी बलात्कारी हैं। सीता रावण के घर अपनी मर्जी से रुकी थीं।” प्रोफेसर पर सोशल मीडिया के माध्यम से अराजक तत्वों को यूनिवर्सिटी कैम्पस में बुलाने का भी आरोप है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

‘1 बार दलित को और 1 बार महिला आदिवासी को चुना राष्ट्रपति’: BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भारत को पुनः विश्वगुरु बनाने की बात

"सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अनुच्छेद 370 खत्म करने, GST, आयुष्मान भारत, कोरोना टीकाकरण, CAA, राम मंदिर - कॉन्ग्रेस ने सबका विरोध किया।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe