Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजरील बनाने वाली पत्नी के वीडियो पर आते थे अश्लील कमेंट, भाई के खिलाफ...

रील बनाने वाली पत्नी के वीडियो पर आते थे अश्लील कमेंट, भाई के खिलाफ दर्ज कराया केस, तो सरकारी नौकरी करने वाले पति ने की आत्महत्या: ‘परिवार को नहीं छोड़ सकता’

राजस्थान के अलवर में पत्नी के बार-बार रील बनाने से परेशान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सुसाइड से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर लाइव आकर मरने की धमकी दी। इसके अगले दिन फाँसी का फंदा लगाकर अपनी जान दे दी।

राजस्थान के अलवर में पत्नी के बार-बार रील बनाने से परेशान स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सुसाइड से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर लाइव आकर मरने की धमकी दी। इसके अगले दिन फाँसी का फंदा लगाकर अपनी जान दे दी।

ये मामला अलवर के रैणी थाने के नांगलबास गाँव का है। शनिवार देर रात सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में पत्नी की रील्स पर अश्लील कमेंट्स को लेकर पति कह रहा है कि जो लोग गंदे कमेंट्स करते हैं न, उनके परिवार में जब ऐसा होगा तब उन्हें मालूम चलेगा। परिजन का दावा है कि यह वीडियो सुसाइड करने से एक दिन पहले बनाया है। पुलिस का कहना है कि यह वीडियो पुराना है। युवक ने मौत का जिम्मेदार अपनी पत्नी और उसके साथी को बताया है।

पति-पत्नी में होता था झगड़ा

पुलिस के मुताबिक, सिद्धार्थ मीणा (31) दौसा में स्वास्थ्य विभाग में एलडीसी के पद पर कार्यरत था। सिद्धार्थ और उसकी पत्नी माया के बीच झगड़ा चल रहा था। पहले भी एक दूसरे के खिलाफ शिकायत दे चुके थे। सिद्धार्थ इंस्टाग्राम और फेसबुक पर पत्नी के रील्स बनाने की वजह से परेशान परेशान था। लोग रील्स पर अश्लील कमेंट करके उसे चिढ़ाते थे। पत्नी के सोशल मीडिया पर रील्स बनाने और गंदे कमेंट करने वालों से परेशान होकर युवक और उसकी में झगड़ा होता था। पत्नी की इन हरकतों से परेशान पति ने आत्महत्या कर ली

मृतक की पत्नी के 56के फॉलोअर्स थे। आए दिन पति और पत्नी में सोशल मीडिया को लेकर कलह होता रहता था। कुछ दिन पूर्व भी घर में कलह हुआ था, जिसे लेकर पुलिस में भी पत्नी माया की ओर से परिवाद दिया गया था।

सिद्धार्थ का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में सिद्धार्थ कह रहा है कि मैंने आज तक कभी रील नहीं बनाई। आज मजबूरी में बना रहा हूँ। मेरा माया से कोई लड़ाई-झगड़ा नहीं है। वो मेरे भाई को फंसाना चाह रही है। बस यही मेरी लड़ाई है। मैं अपने भाई के साथ हूं। जो समझदार आदमी होगा वो समझ जाएगा। ऐसी लड़कियाँ तो बहुत मिल जाएंगी, लेकिन परिवार नहीं मिलेगा। सिद्धार्थ ने आगे कहा कि कुछ लोग गंदे कमेंट कर रहे हैं। जब तुम्हारे घर में ऐसा होगा न तब समझ आएगा। मैं अपने परिवार को टूटने नहीं दूंगा। इसके लिए मैं जान दे सकता हूं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -