मुस्लिम भीड़ द्वारा दलित की बेरहम पिटाई, अमेठी पुलिस ने की पुष्टि: वीडियो Viral पर मीडिया गिरोह में चुप्पी

ऐसा कहा जा रहा है कि दूसरे समुदाय के लोग शशांक की बहन के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे, जिसका विरोध करने पर उन लोगों ने शशांक पर हमला बोल दिया और बेरहमी से उसकी पिटाई कर दी।

मुस्लिम युवकों के एक समूह द्वारा एक व्यक्ति को बेरहमी से पीटे जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। जिस ट्विटर यूजर ने ये वीडियो शेयर किया है उनका दावा है कि उत्तर प्रदेश के अमेठी में एक दलित व्यक्ति को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पीटा।

वीडियो वायरल होने के बाद अमेठी पुलिस ने शनिवार (जुलाई 13, 2019) को एक बाइट जारी की। जिसमें तिलोई नाम के क्षेत्राधिकारी ने इस घटना की पुष्टि की।

अमेठी पुलिस द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में देखा जा सकता है कि जब तिलोई से वायरल हो रहे वीडियो के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस घटना की पुष्टि की और कहा कि यह घटना उत्तर प्रदेश के जायस जिले में
21 जून, 2019 को हुई थी। इसमें दो समुदायों के बीच मारपीट हुई थी। जिसमें दूसरे समुदाय के लोगों ने शशांक पदम घूसर को बेरहमी से पीटा। शशांक के साथ-साथ उसके भाई और पत्नी को भी चोटें आई थी। उन्होंने कहा कि शशांक की पत्नी की शिकायत के आधार पर आरोपितों के खिलाफ उसी दिन अपराध संख्या 136/19 के अंतर्गत आईपीसी की धारा-323, 354, 504, 506 और एससी/ एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

साथ ही तिलोई ने बताया कि इस संबंध में दो आरोपितों की गिरफ्तारी हुई है और बाकी लोगों के खिलाफ उच्च न्यायालय का अरेस्टिंग स्टे ऑर्डर है। उन्होंने कहा कि मामले की जाँच की जा रही है। जाँच में जो कुछ भी सामने निकलकर आएगा, उसके आधार पर उचित कार्रवाई करते हुए अपराधियों को दंड दिया जाएगा। ऐसा कहा जा रहा है कि दूसरे समुदाय के लोग शशांक की बहन के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे, जिसका विरोध करने पर उन लोगों ने शशांक पर हमला बोल दिया और बेरहमी से उसकी पिटाई कर दी।

उत्तर प्रदेश में मुस्लिम समुदाय के युवकों द्वारा दलितों के खिलाफ अत्याचार और भेदभाव की कई घटनाएँ पहले भी सामने आ चुकी हैं। हाल ही में राज्य के मुरादाबाद में दलित समुदाय को मुस्लिम समुदाय के नाईयों द्वारा भेदभाव का सामना करना पड़ा था। मुस्लिम नाईयों ने दलितों के बाल काटने से मना कर दिया था।

वहीं, पिछले महीने,एक मुस्लिम भीड़ मेरठ के घसौली गाँव में मस्जिद के पास वाली मंदिर में दलितों द्वारा लाउडस्पीकर लगाकर भजन बजाने की वजह से मंदिर में घुसकर दलितों के एक समूह की पिटाई कर दी। भीड़ ने दलितों पर लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला किया। इसके बाद उन लोगों ने पथराव भी किया। इस दौरान आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हुए। इस वजह से इलाक़े में सांप्रदायिक तनाव भी बढ़ गया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: