Wednesday, March 29, 2023
Homeदेश-समाजAMU 'हिन्दू छात्रा' को 'पीतल का हिजाब' पहनाने की बात कर रहा था रहबर...

AMU ‘हिन्दू छात्रा’ को ‘पीतल का हिजाब’ पहनाने की बात कर रहा था रहबर दानिश, अब FIR होने पर माँग रहा माफी

शिकायत दर्ज होने के बाद जिस रहबर नाम के युवक का हृदय परिवर्तन लड़कियों के प्रति हुआ और वह गिड़गिड़ाकर माफी माँगने लगा। वही रहबर छात्रा को पीतल का हिजाब पहनाने की बातें तक कर चुका है। छात्रा के पोस्ट के बाद दानिश और उसके बाकी साथी उस पर हमलावर हो गए और अपमानजनक और भद्दी भद्दी-भद्दी गालियाँ देने लगे।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की एक ‘हिन्दू छात्रा’ की शिकायत के बाद रहबर दानिश नाम के AMU छात्र पर पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है। रहबर पर आरोप है कि उसने छात्रा को लड़कियों पर गलत असर डालने के नाम पर लगातार प्रताड़ित किया और धमकियाँ दी। महिला आयोग ने इस संज्ञान लेकर आगे कार्रवाई की बात कही है।

ऑपइंडिया ने इस मामले में उस छात्रा से संपर्क किया। छात्रा ने हमसे बात करते हुए इस बात की पुष्टि की। उसने बताया कि मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। अब पुलिस अपनी कार्रवाई कर रही है।

छात्रा ने ये भी बताया कि जब उसने उस लड़के के बर्ताव पर पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। तब उस लड़के ने खुद उससे संपर्क किया और माफी माँगने लगा। छात्रा के अनुसार, उसे पक्का तो नहीं मालूम मगर लड़का उससे बात करते हुए डिप्रेशन में लग रहा था। जिसे सुनकर उसने उससे लिखित में माफी माँगी।

छात्रा बताती है कि कॉल पर दानिश ने उसे बताया कि उसे और उसके परिवार वालों को धमकियाँ मिल रही हैं। कोई उसकी माँ और बहन के साथ बलात्कार की बातें कह रहा है।

हैरानी की बात है कि शिकायत दर्ज होने के बाद जिस रहबर नाम के युवक का हृदय परिवर्तन लड़कियों के प्रति हुआ और वह गिड़गिड़ाकर माफी माँगने लगा। वही रहबर छात्रा को पीतल का हिजाब पहनाने की बातें तक कर चुका है।

छात्रा ही इस बात को कहती है कि लॉकडाउन के बाद यूनिवर्सिटी खुलने पर उसे पीतल का हिजाब पहनाने की बात कहने वाला व्यक्ति अब उससे माफी माँग रहा है। लेकिन किसे क्या मालूम है कि कब क्या हो जाएगा? छात्रा के अनुसार, उसके परिवार वाले इस मामले में उसके साथ खड़े हुए हैं और उसका समर्थन कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले इसी छात्रा ने अपने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा था कि कैसे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्याल के हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को खुद को ढँकने के लिए मजबूर किया जाता है और महिलाओं को उनके कपड़ों के आधार पर कैसे ऑब्जेक्टिफाइड किया जाता है। छात्रा के इस पोस्ट के बाद दानिश और उसके बाकी साथी उस पर हमलावर हो गए और अपमानजनक और भद्दी भद्दी-भद्दी गालियाँ देने लगे। जिसका छात्रा ने स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए शिकायत दर्ज कराई।

उसने लिखा कि उसके पोस्ट के बाद एएमयू के मुस्लिम छात्रों द्वारा लागातार हमला किया जा रहा था। उसके पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए छात्रों ने उसे धमकी दी थी कि जब लॉकडाउन के बाद फिर से विश्वविद्यालय खुलेगा, तो उसे “पीतल से बना हिजाब” पहनने के लिए मजबूर किया जाएगा।

लड़की ऑपइंडिया से बात करते हुए यह भी कहती है कि उसे इन लोगों ने तब भी टारगेट किया था जब उसने सीएए/एनआरसी के समर्थन में बोला। लेकिन तब उसे ऐसा नहीं लगा कि एफआईआर करनी चाहिए। मगर अब उसने इस मामले में पुलिस तक बात पहुँचाने का निर्णय ले लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस बार बैसाखी ऐतिहासिक हो’ : सिखों को भड़काते अमृतपाल की वीडियो-ऑडियो मीडिया में वायरल, रिपोर्ट्स- सरेंडर के लिए भगोड़े ने रखी 3 शर्त

रिपोर्ट्स के अनुसार अमृतपाल का पहला वीडियो आया है जो पंजाबी में है। इसमें वह पंजाब के लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहा है।

जहाँगीरपुरी में नहीं निकलेगी ‘रामनवमी’ पर शोभा यात्रा’: दिल्ली पुलिस ने अनुमति देने से इनकार किया, 2022 में कट्टरपंथियों ने किया था श्रद्धालुओं पर...

जहाँगीरपुरी इलाके में कानून व्यवस्था का हवाला देकर भगवान श्रीराम की प्रतिमा यात्रा यानी रामनवमी रैली निकालने की इजाजत नहीं दी गई है। पिछले साल यहाँ श्रद्धालुओं पर हमला हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
251,606FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe