Monday, January 18, 2021
Home देश-समाज दिसंबर 2019 से 2020 के दिल्ली दंगों तक: पहचान छिपाने के लिए इस्लामी भीड़...

दिसंबर 2019 से 2020 के दिल्ली दंगों तक: पहचान छिपाने के लिए इस्लामी भीड़ ने CCTV कैमरों से कैसे की छेड़छाड़

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा है कि निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन के आवास के पास लगे कैमरों से कोई सीसीटीवी फुटेज बरामद नहीं हुई। कथित तौर पर हिंसा से पहले और हिंसा के दौरान किए गए कारनामों को छिपाने के लिए सीसीटीवी कैमरों से छेड़छाड़ की गई थी।

इस साल फरवरी में इस्लामिक भीड़ द्वारा सीएए विरोध के नाम पर अंजाम दिए गए हिंदू विरोधी दंगों के दौरान दिल्ली संपत्ति के नुकसान, दंगे, आगजनी और खून-खराबे की गवाह बनी। तब से लेकर अब तक दिल्ली पुलिस ने अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए अथक प्रयास किया है। इन दंगों में 53 लोगों की मौत हुई, जबकि 250 से अधिक लोग घायल हुए थे।

इस मामले में दिल्ली पुलिस ने कई गिरफ्तारियाँ की। दंगों से संबंधित कई आरोप पत्र भी दायर किए हैं। जाँच के दौरान खुलासा हुआ कि इस्लामिक दंगाइयों ने पकड़ में आने से बचने के लिए सीसीटीवी कैमरों को नष्ट कर दिया था।

4 जून (गुरुवार) को दिल्ली पुलिस ने फरवरी 2020 में हुए दिल्ली दंगों को लेकर एक नई चार्जशीट दायर की है। दिल्ली पुलिस ने 20 वर्षीय दिलबर सिंह नेगी की हत्या के मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसे कथित तौर पर इस्लामवादी दंगाइयों ने जिंदा जला दिया था।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि मुस्लिम भीड़ द्वारा जलाई गई संपत्तियों में से एक अनिल स्वीट्स की भी दुकान थी, जहाँ से पुलिस ने 26 फरवरी को नेगी का शव बरामद किया था। दरअसल भोजन और आराम करने के लिए दिलबर सिंह नेगी दुकान से गोदाम में गया था।

दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में पुष्टि की है कि कट्टरपंथी मुस्लिम दंगाइयों ने अपने इलाके में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों को तोड़ दिया था। इस इलाके से ही पुलिस ने नेगी के शव को बरामद किया था। पुलिस ने कहा कि उन्होंने ये गिरफ्तारियाँ चश्मदीद गवाहों के बयान और तकनीकी सबूतों के आधार पर की हैं। हालाँकि पुलिस कुछ ही सीसीटीवी फुटेजों को बरामद कर सकी है, क्योंकि अधिकांश कैमरों को दंगाइयों ने तोड़ दिया था।

ताहिर हुसैन के घर में लगे सीसीटीवी कैमरे को कर दिया था बंद

इसी तरह दिल्ली पुलिस ने 2 जून (मंगलवार) को कड़कड़डूमा कोर्ट में एक चार्जशीट दायर की, जो कि दिल्ली दंगों में AAP के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन के संलिप्तता से जुड़ी थी। चार्जशीट में पुलिस ने कहा है कि निलंबित AAP पार्षद ताहिर हुसैन के आवास के पास लगे कैमरों से कोई सीसीटीवी फुटेज बरामद नहीं हुई है। चार्जशीट में कहा गया है कि कथित तौर पर हिंसा से पहले और हिंसा के दौरान किए गए कारनामों को छिपाने के लिए सीसीटीवी कैमरों से छेड़छाड़ की गई थी।

1030 पेज की चार्जशीट के मुताबिक ताहिर हुसैन के घर और ऑफिस के आसपास कई सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। उसके घर से कैमरों की चार डीवीआर भी बरामद की गई है। इन सभी को फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) में जमा किया गया था, लेकिन उसमें कहा गया है कि 23 फरवरी से लेकर 28 फरवरी तक कोई भी रिकॉर्डिंग नहीं मिली है।

इसे देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि या तो सीसीटीवी कैमरे बंद थे या वे उस समय काम नहीं कर रहे थे। चार्जशीट में कहा गया है कि दंगों के दौरान ताहिर हुसैन के घर या कार्यालय में किसी भी व्यक्ति की रिकार्डिंग नहीं है। इससे ऐसा लगता है कि वह वहाँ के क्रियाकलापों को रिकॉर्ड नहीं करना चाहते थे।

मार्च 2020 में कुछ वीडियो सामने आए थे, जिनमें उत्तर-पूर्वी दिल्ली के चाँद बाग और जाफराबाद इलाकों में इस्लामवादी दंगाइयों द्वारा इलाके के सभी सीसीटीवी कैमरे को तोड़ते हुए देखा गया, क्योंकि ये लोग अपनी पहचान छिपाना चाहते थे। दंगाइयों ने कथित तौर पर दिल्ली पुलिस पर हमला करने से कुछ मिनट पहले ही इन कैमरों को तोड़ा था।

इस घटना में दंगाइयों द्वारा डीसीपी अमित शर्मा बुरी तरह से घायल कर दिए थे और आईपीएस शर्मा को बचाने की कोशिश करने वाले कांस्टेबल रतन लाल को दंगाइयों ने मौत के घाट उतार दिया था।

दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की भारत यात्रा के दौरान राजधानी में सीएए विरोध के नाम पर हिंदू विरोधी दंगों को अंजाम दिया गया था। इसमें एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने अपनी जान गवाँ दी थी। इसी बीच दिल्ली के गोकुलपुरी में भड़की हिंसा के दौरान एक और डीसीपी घायल हो गए थे।

इतना ही नहीं सीएए विरोध के नाम पर हुए दंगों ने दिल्ली में सांप्रदायिक रूप ले लिया था, जिसके कारण दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा फैल गई थी। दिल्ली की सड़कों पर हुए हिंदू-विरोधी दंगों में करीब 53 लोगों की मौत हो गई थी। दंगाइयों ने आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की बेरहमी से हत्या कर उनका शव भी नाले में फेंक दिया था।

एक पैटर्न

इससे पहले भी पिछले वर्ष दिसंबर में सीएए विरोध के नाम पर देश में लोग सड़कों पर उतर आए थे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सरकारी संपत्तियों को आग के हवाले किया था। सीएए विरोध के नाम पर भड़की हिंसा के कई वीडियो सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के सामने आए थे। वीडियो में इस्लामिक दंगाई सीसीटीवी कैमरे तोड़ते नजर आए थे।

इस बीच मंगलुरु से कुछ सीसीटीवी फुटेज के वीडियो सामने आए थे। इसमें दंगाई 19 दिसंबर 2019 को सीसीटीवी कैमरों को अपने मुताबिक मोड़ते नजर आए थे। हालाँकि दंगाई क्षेत्र में लगे एक सीसीटीवी कैमरे को एडजस्ट करने से चूक गए, जिससे उनकी हरकतें कैद हो गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राम मंदिर के लिए डोनेशन माँग रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर हमला: घेर कर लगाई आग, बचाने आई गुजरात पुलिस पर भी पत्थरबाजी

यह मामला गुजरात के कच्छ का है, जहाँ गाँधीधाम के किदाना गाँव में राम मंदिर डोनेशन रैली को लेकर दो समुदायों के बीच संघर्ष हो गया।

‘1 इंच भी नहीं देंगे’: CM उद्धव के ‘कर्नाटक का क्षेत्र मिलाएँगे महाराष्ट्र में’ ऐलान पर भड़के कन्नड़ नेता और लोग

सीएम उद्धव ने कहा था कि वो कर्नाटक के उन क्षेत्रों को महाराष्ट्र में मिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जहाँ मराठी भाषी रहते हैं। भड़के कन्नड़ नेता।

‘बीवी को चुम्मा भी नहीं ले सकता… जबकि दिल चाहता है’ – फारूक अब्दुल्ला ने महामारी के डर पर कही बात

"अल्लाह करे ये बीमारी दफा हो जाए। जब भी बेटी बिना मास्क के देखती है तो वह घर लौटने को कहती है।" - फारूक अब्दुल्ला ने कोरोना को लेकर...

‘हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान’: TANDAV की पूरी टीम के खिलाफ यूपी में FIR, सैफ अली खान को मुंबई पुलिस का प्रोटेक्शन

सैफ अभिनीत 'तांडव' वेब सीरीज में भगवान शिव का अपमान किए जाने और जातीय वैमनस्य को बढ़ावा देने के कारण अब यूपी में केस दर्ज किया गया है।

‘तांडव’ पर मोदी सरकार सख्त, अमेजन प्राइम से I&B मिनिस्ट्री ने माँगा जवाब: रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वेब सीरिज तांडव को लेकर अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है।

‘जेल में मेरे पति को कर रहे टॉर्चर’: BARC के पूर्व सीईओ की पत्नी ने NHRC से की शिकायत

BARC के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता को अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराने के बाद उनकी पत्नी ने NHRC के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है।

प्रचलित ख़बरें

प्राइवेट वीडियो, किसी और से शादी तक नहीं करने दी… सदमे से माँ की मौत: महाराष्ट्र के मंत्री पर गंभीर आरोप

“धनंजय मुंडे की वजह से मेरी ज़िंदगी और करियर दोनों बर्बाद हो गए। उसने मुझे किसी और से शादी तक नहीं करने दी। जब मेरी माँ को..."

शिवलिंग पर कंडोम: अभिनेत्री सायानी घोष को नेटिजन्स ने लताड़ा, ‘अकाउंट हैक’ थ्योरी का कर दिया पर्दाफाश

अभिनेत्री सायानी घोष ने एक तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें एक महिला पवित्र हिंदू प्रतीक शिवलिंग के ऊपर कंडोम डालते हुए दिख रही थी।

‘अगर तलोजा वापस गए तो मुझे मार डालेंगे, अर्नब का नाम लेने तक वे कर रहे हैं किसी को टॉर्चर के लिए भुगतान’: पूर्व...

पत्नी समरजनी कहती हैं कि पार्थो ने पुकारा, "मुझे छोड़कर मत जाओ... अगर वे मुझे तलोजा जेल वापस ले जाते हैं, तो वे मुझे मार डालेंगे। वे कहेंगे कि सब कुछ ठीक है और मुझे वापस ले जाएँगे और मार डालेंगे।”

‘मैं सभी को मार दूँगा, अल्लाहु अकबर’: जर्मन एयरपोर्ट पर मचाई अफरातफरी

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट पर मास्क न पहनने की वजह से टोके जाने पर एक शख्स ने 'अल्लाहु अकबर' का नारा लगाते हुए जान से मारने की धमकी दी।

‘भूखमरी वाले देश में राम मंदिर 10 साल बाद नहीं बन सकता?’: अक्षय पर पिल पड़े लिबरल्स

आनंद कोयारी नामक यूजर ने उन्हें अस्पतालों और स्कूलों के लिए चंदा इकट्ठा करने की सलाह दे दी और दावा किया कि कोरोना काल में एक भी मंदिर काम नहीं आया।

2000 करोड़ रुपए कचड़े में: 7 साल पहले बेकार समझ फेंक दी थी, खोजने वाले को मिलेगा 50%

2013 में ब्रिटिश आईटी कर्मचारी जेम्स हॉवेल्स (James Howells) ने 7500 Bitcoins वाले एक हार्ड ड्राइव को कचरे में फेंक दिया था।

राम मंदिर के लिए डोनेशन माँग रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर हमला: घेर कर लगाई आग, बचाने आई गुजरात पुलिस पर भी पत्थरबाजी

यह मामला गुजरात के कच्छ का है, जहाँ गाँधीधाम के किदाना गाँव में राम मंदिर डोनेशन रैली को लेकर दो समुदायों के बीच संघर्ष हो गया।

‘1 इंच भी नहीं देंगे’: CM उद्धव के ‘कर्नाटक का क्षेत्र मिलाएँगे महाराष्ट्र में’ ऐलान पर भड़के कन्नड़ नेता और लोग

सीएम उद्धव ने कहा था कि वो कर्नाटक के उन क्षेत्रों को महाराष्ट्र में मिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जहाँ मराठी भाषी रहते हैं। भड़के कन्नड़ नेता।

‘बीवी को चुम्मा भी नहीं ले सकता… जबकि दिल चाहता है’ – फारूक अब्दुल्ला ने महामारी के डर पर कही बात

"अल्लाह करे ये बीमारी दफा हो जाए। जब भी बेटी बिना मास्क के देखती है तो वह घर लौटने को कहती है।" - फारूक अब्दुल्ला ने कोरोना को लेकर...

‘हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान’: TANDAV की पूरी टीम के खिलाफ यूपी में FIR, सैफ अली खान को मुंबई पुलिस का प्रोटेक्शन

सैफ अभिनीत 'तांडव' वेब सीरीज में भगवान शिव का अपमान किए जाने और जातीय वैमनस्य को बढ़ावा देने के कारण अब यूपी में केस दर्ज किया गया है।

‘तांडव’ पर मोदी सरकार सख्त, अमेजन प्राइम से I&B मिनिस्ट्री ने माँगा जवाब: रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वेब सीरिज तांडव को लेकर अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है।

मुंबई के आजाद मैदान में लगे ‘आजादी’ के नारे, ‘किसानों’ के समर्थन के नाम पर जुटे हजारों मुस्लिम प्रदर्शनकारी

मुंबई के आजाद मैदान में हजारों मुस्लिम प्रदर्शनकारी कृषि कानूनों के विरोध के नाम पर जुटे और 'आजादी' के नारे लगाए गए।

कॉन्ग्रेस ने कबूला मुंबई पुलिस ने लीक किया अर्नब गोस्वामी का चैट: जानिए, लिबरलों की थ्योरी में कितना दम

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने स्वीकार किया है कि मुंबई पुलिस ने ही अर्नब गोस्वामी के निजी चैट को लीक किया है।

रॉबर्ट वाड्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाहती है ED, राजस्थान हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

ED ने बेनामी संपत्ति मामले में रॉबर्ट वाड्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के लिए राजस्थान उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है।

‘तांडव’ के मेकर्स को समन, हिंदू घृणा से सने कंटेंट को लेकर बीजेपी नेता राम कदम ने की थी शिकायत

बीजेपी नेता राम कदम की शिकायत के बाद वेब सीरिज तांडव के मेकर्स को समन भेजा गया है।

बांग्लादेश से भागकर दिल्ली में ठिकाना बना रहे रोहिंग्या, आनंद विहार और उत्तम नगर से धरे गए

दिल्ली पुलिस ने आनंद विहार से 6 रोहिंग्या को हिरासत में लिया है। उत्तम नगर से भी दो को पकड़ा है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
382,000SubscribersSubscribe