Sunday, July 3, 2022
Homeदेश-समाजकोविड से लड़ाई में अब आर्मी का साथ: आम जनता नजदीक के सेना अस्पताल...

कोविड से लड़ाई में अब आर्मी का साथ: आम जनता नजदीक के सेना अस्पताल में करा सकती है इलाज, PM मोदी से मिले सेनाध्यक्ष

सेना का मेडिकल स्टाफ राज्यों की हर संभव सहायता कर रहा है। देश के कई हिस्सों में Covid-19 संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सेना अस्थायी अस्पतालों का निर्माण भी कर रही है। कई स्थानों पर भारतीय सेना अपने अस्पतालों को आम जनों के लिए खोल रही है और...

Covid-19 के बढ़ते संक्रमण के बीच अब भारतीय सेना भी सक्रिय हो चुकी है। सेना के मेडिकल स्टाफ के कर्मचारी विभिन्न राज्यों की सहायता कर रहे हैं, साथ ही सेना के द्वारा देश के अलग-अलग हिस्सों में Covid-19 से संक्रमित मरीजों के ईलाज के लिए अस्थायी अस्पताल भी बनाए जा रहे हैं। यह जानकारी भारतीय सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी। पीएम मोदी ने गुरुवार (29 अप्रैल) को भारतीय थल सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे के साथ Covid-19 महामारी में भारतीय सेना के द्वारा दिए जा रहे योगदान और सेना की तैयारी की समीक्षा करने के लिए बैठक की।

पीएम मोदी के साथ बैठक में शामिल हुए थल सेनाध्यक्ष नरवणे ने बताया कि सेना का मेडिकल स्टाफ राज्यों की हर संभव सहायता कर रहा है और देश के कई हिस्सों में Covid-19 संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सेना अस्थायी अस्पतालों का निर्माण भी कर रही है। सेनाध्यक्ष ने यह भी कहा कि कई स्थानों पर भारतीय सेना अपने अस्पतालों को आम जनों के लिए खोल रही है और नागरिक अपने निकटतम सेना अस्पताल की सेवा ले सकते हैं।

सेनाध्यक्ष नरवणे ने बैठक में पीएम मोदी को सूचना दी कि सेना आयातित ऑक्सीजन टैंकरों और उनके परिवहन के लिए उपयुक्त वाहनों के प्रबंधन के लिए आवश्यक सहायता मुहैया करा रही है। उन्होंने कहा कि जहाँ भी दक्षता और कुशलता की बात है, वहाँ सेना सहायता करने के लिए तत्पर है।

इस समय देश में ऑक्सीजन की आपूर्ति एक प्रमुख मुद्दा बना हुआ है। ऐसे में ऑक्सीजन के उत्पादन और परिवहन से जुड़े किसी भी प्रकार के उपकरणों का उचित प्रबंधन एवं निर्बाध परिवहन अति आवश्यक है। ऐसे समय में भारतीय सेना कुशल तरीके से Covid-19 महामारी से लड़ने में केंद्र एवं राज्य सरकारों को अपना सहयोग दे सकती है।

भारतीय सेना के अलावा भारतीय वायुसेना भी सक्रियता से Covid-19 संक्रमण के खिलाफ इस युद्ध में शामिल है। ऑक्सीजन के टैंकरों के परिवहन की बात हो या आवश्यक दवाओं और उपकरणों को शीघ्रता से एक जगह से दूसरी जगह पहुँचाने की, भारतीय वायुसेना लगातार अपने विमानों के माध्यम से Covid-19 संक्रमण से निपटने में सरकार की सहायता कर रही है। यहाँ तक कि स्वास्थ्यकर्मियों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में भी वायुसेना अपना योगदान दे रही है। इसके अलावा वायुसेना विदेशों से भी ऑक्सीजन से संबंधित उपकरणों के आयात में भी सहायक साबित हो रही है।  

पिछले 24 घंटों में देश में 3,70,000 से अधिक Covid-19 संक्रमण के मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही भारत में कुल संक्रमितों की संख्या 1.80 करोड़ से अधिक हो चुकी है। संक्रमण बढ़ने के साथ ही देश की स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी दबाव बढ़ रहा है। ऐसे में भारतीय सेना का दक्ष और कुशल कार्यबल सरकार की काफी सहायता कर सकता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

‘1 बार दलित को और 1 बार महिला आदिवासी को चुना राष्ट्रपति’: BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भारत को पुनः विश्वगुरु बनाने की बात

"सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अनुच्छेद 370 खत्म करने, GST, आयुष्मान भारत, कोरोना टीकाकरण, CAA, राम मंदिर - कॉन्ग्रेस ने सबका विरोध किया।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe