Monday, January 17, 2022
Homeदेश-समाजम्यांमार से लाई संदिग्ध चीजें छिपाने के लिए महिला IPS ऑफिसर ने लगाया छेड़खानी...

म्यांमार से लाई संदिग्ध चीजें छिपाने के लिए महिला IPS ऑफिसर ने लगाया छेड़खानी का आरोप: असम राइफल्स

असम राइफल्स ने गंभीर आरोप लगाया है कि उक्त महिला IPS अधिकारी म्यांमार जाकर वहाँ से कुछ संदिग्ध चीजें अपनी गाड़ी में ला रही थीं। असम राइफल्स ने कहा कि उसके पास इस बात के वीडियो सबूत हैं कि आईपीएस अधिकारी ने अपनी गाड़ी में म्यांमार से संदिग्ध चीजें उठाई।

एक महिला पुलिस अधिकारी ने असम राइफल्स के एक जवान पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। अब असम राइफल्स ने बयान जारी करके इन आरोपों को आधारहीन और बनावटी करार दिया है। असम राइफल्स ने अपने जवाब के ख़िलाफ़ लगे आरोपों को सिरे से नकार दिया है। बता दें कि 2 दिन पहले ही महिला आईपीएस अधिकारी ने असम राइफल्स के जवान पर यौन शोषण के आरोप मढ़े थे। महिला ने बताया था कि ये घटना तब हुई, जब वो भारत-म्यांमार सीमा पर स्थित मोरेह में ड्यूटी कर रही थी।

इस मामले में मणिपुर महिला आयोग के पास भी शिकायत दर्ज कराई गई है। असम राइफल्स ने अपने बयान में कहा कि यौन शोषण का आरोप लगाने वाली अधिकारी ने अपने साथी के साथ सड़क पर बने चेकपॉइंट को धता बताते हुए आगे बढ़ने की कोशिश की। महिला व उसके साथ हथियारबन्द व्यक्ति ने असम राइफल्स के जवानों को गालियाँ बकीं और उनके साथ अभद्रता की। घटना के समय दोनों के सादी वर्दी में होने की बात कही जा रही है।

असम राइफल्स ने अपने बयान में कहा है कि लाख पूछने के बावजूद महिला आईपीएस अधिकारी ने अपनी पहचान बताने से इनकार कर दिया और उलटा असम राइफल्स के जवानों से ही सवाल पूछने लगीं, जो तय नियम-कायदे के हिसाब से ड्यूटी कर रहे थे। असम राइफल्स के जवानों ने आरोप लगाया कि महिला अधिकारी ने चेकपॉइंट के फोटो भी लिए। शक जताया जा रहा है कि उसकी गाड़ी में कुछ ऐसी चीजें थीं, जिन्हें छिपाने के लिए ये सारा का सारा ड्रामा रचा गया।

एनएच-102 पर गणतंत्र दिवस के कारण सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और चेकपॉइंट को अलर्ट पर रखा गया है। असम राइफल्स ने गंभीर आरोप लगाया है कि उक्त महिला पुलिस अधिकारी म्यांमार जाकर वहाँ से कुछ संदिग्ध चीजें अपनी गाड़ी में ला रही थीं। असम राइफल्स ने कहा कि उसके पास इस बात के वीडियो सबूत हैं कि महिला पुलिस अधिकारी ने अपनी गाड़ी में म्यांमार से संदिग्ध चीजें उठाई। सुरक्षा बल ने सही समय पर वीडियो रिलीज करने की बात कही है। इससे पता चलता है कि अधिकारी ऑफिसियल ड्यूटी पर नहीं थी।

जिस रास्ते में ये घटना हुई, उसी मोरेह-इम्फाल रोड पर जनवरी 2019 से लेकर अब तक 500 करोड़ रुपए की अवैध वस्तुएँ जब्त की जा चुकी हैं। इससे यहाँ सुरक्षा चेकपॉइंट के महत्व का अंदाज़ा लग जाता है। असम राइफल्स का पूछना है कि 2 बजे दोपहर में कई लोगों के सामने उसका कोई जवाब यौन शोषण अथवा छेड़खानी कैसे कर सकता है? सुरक्षा बल ने कहा कि इसके बावजूद अधिकारी की शिकायत की जाँच की जाएगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नहीं करने देंगे PM मोदी सुरक्षा चूक की जाँच’: जस्टिस इंदु मल्होत्रा को SFJ की धमकी, वकीलों से कहा – तुम सब खतरे में...

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी की सुरक्षा चूक की जाँच के लिए जस्टिस इंदु मल्होत्रा के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया था। SFJ ने उन्हें धमकी दी है।

खालिस्तानी प्रोपगेंडे को पीछे धकेल सामने आए ब्रिटिश सिख, PM मोदी को दिया धन्यवाद, कहा- ‘आपने बहुत कुछ किया है’

अमेरिका के साउथहॉल के पार्क एवेन्यू में स्थित गुरुद्वारा गुरू सभा में एकत्रित होकर सिख समुदाय के लोगों ने पीएम मोदी को उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,727FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe