Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजहिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन, निकाह, रेप की कोशिश और अंत में तीन तलाक:...

हिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन, निकाह, रेप की कोशिश और अंत में तीन तलाक: सास ने घर से निकाला

अब्दुल जब सऊदी से इंडिया वापस आया तो घर जाने के बजाय मुंबई चला गया और दूसरी शादी कर ली। उसके बाद मोबाइल पर अपनी धर्म परिवर्तित हिंदू बीवी को तीन तलाक़ दे दिया।

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में एक हिंदू लड़की का धर्म परिवर्तन कराकर पहले उससे निक़ाह करने और फिर दो साल बाद दूसरी शादी कर फोन पर तलाक़ देने का मामला सामने आया है। दो साल पहले रेहरा बाज़ार थाना क्षेत्र के मसीहाबाद गाँव की 25 वर्षीय हिंदू युवती का प्रेम-प्रसंग गाँव के ही अब्दुल कुद्दूस से चल रहा था। अब्दुल युवती पर निक़ाह का लगातार दबाव बना रहा था, इसके लिए वो उसे आत्महत्या कर लेने की धमकी (इमोशनल ब्लैकमेल) भी दे रहा था।

काफ़ी दबाव के बाद युवती जब निक़ाह के लिए राज़ी हुई तो अब्दुल उसे दूसरी जगह ले गया, जहाँ उसने उसका धर्म परिवर्तन कराया और उसका नाम बदलकर निशा बानो रख दिया। इसके बाद 11 हज़ार रुपए मेहर की रक़म तय कर निक़ाह किया। निक़ाह के कुछ रोज बाद अब्दुल कुद्दूस काम करने सऊदी अरब चला गया। वहाँ वो क़रीब दो साल रहा, इस बीच निशा बानो बनी हिंदू युवती अपने ससुराल में रह रही थी।

पीड़िता ने आरोप लगाते हुए बताया कि जब अब्दुल सऊदी अरब में था तो उस दौरान उसके देवर और उसके पति के बहनोई ने उसके साथ रेप करने की कई बार कोशिश की। इसका विरोध करने पर पीड़िता को मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद पीड़िता अब्दुल की वापसी का इंतज़ार करने लगी और गाँव के आसपास मेहनत-मज़दूरी कर दिन गुज़ारने लगी।

दैनिक जागरण के बलराम संस्करण में छपी ख़बर

पीड़िता ने अपनी शिक़ायत में बताया कि तीन दिन पहले अब्दुल ने अपने दोस्त के मोबाइल पर उसे (पीड़िता) तीन तलाक़ दे दिया। तब पीड़िता को पता चला कि उसका पति सऊदी अरब से मुंबई आ गया है। साथ ही उसे यह भी पता चला कि अब्दुल ने दूसरा निक़ाह कर अपने परिवार को मुंबई बुला लिया है।

इस मामले में एसपी देवरंजन ने कहा कि ज़िले में धर्म परिवर्तन कराकर तीन तलाक़ मामला संज्ञान में आया है। स्थानीय थाने की पुलिस को जाँच के आदेश दे दिए गए हैं और जल्द ही पीड़िता को न्याय दिलाया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन्स के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -