Wednesday, June 12, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान को पीछे धकेल देश का सबसे बड़ा दूध उत्पादक राज्य बना UP, देश...

राजस्थान को पीछे धकेल देश का सबसे बड़ा दूध उत्पादक राज्य बना UP, देश की 16% जरूरत करता है पूरी: 5 सालों में देश के डेयरी में 23% की जबरदस्त वृद्धि

हाल ही में सामने आई एक रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा दूध उत्पादक राज्य है। यह देश के 15.7% दूध का उत्पादन करता है। उत्तर प्रदेश ने राजस्थान को पीछे किया है जो कि 14.44% दूध का उत्पादन करता है।

बीते पाँच वर्षों में देश में दूध के उत्पादन में लगभग 23% की वृद्धि देखी गई है। वहीं, उत्तर प्रदेश अब राजस्थान को पछाड़कर देश का सबसे बड़ा दूध उत्पादक राज्य बन गया है। केंद्रीय कृषि एवं पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री परषोत्तम रूपाला ने इससे संबंधित ‘बेसिक एनिमल हसबैंड्री स्टैटिक्स’ जारी किया है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते एक वर्ष में देश में दूध, अंडा, मांस और ऊन का उत्पादन तेजी से बढ़ा है। रिपोर्ट के अनुसार, देश में 50% से अधिक दूध की आपूर्ति केवल पाँच राज्य से हो रही है। यह भी सामने आया है कि देश में अब उत्तर प्रदेश सबसे अधिक दूध का उत्पादन कर रहा है। यूपी देश के 15.70% दूध की जरूरत को पूरा करता है।

उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक दूध उत्पादित करता है। (BG साभार: The Statesman)
उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक दूध उत्पादित करता है। (BG साभार: The Statesman)

उत्तर प्रदेश में 2017-18 के बाद से दूध के उत्पादन में लगभग 25% की बढ़ोतरी हुई है। यूपी ने 2022-23 में कुल 36.11 मिलियन (3.6 करोड़) टन दूध का उत्पादन किया है। वर्ष 2017-18 में यह 29.05 मिलियन (2.9 करोड़) टन था। उत्तर प्रदेश ने 2021-22 के दौरान देश के सबसे बड़े दूध उत्पादक राज्य होने का दर्जा खो दिया था। इस समय यूपी में 1.9 करोड़ गाय और 3.3 करोड़ भैंसें हैं।

उत्तर प्रदेश ने अब राजस्थान को पीछे छोड़ दिया है। राजस्थान अब 14.44% दूध उत्पादन के साथ दूसरे नंबर पर है। इन दोनों के बाद मध्य प्रदेश (8.73%), गुजरात (7.49%) और आंध्र प्रदेश (6.7%) देश के सबसे बड़े दूध उत्पादक राज्य हैं।

वहीं, देश भर में दूध उत्पादन की बात की जाए तो वर्ष 2018 से लेकर 2023 तक इसमें लगभग 23% की बढ़ोतरी हुई है। साल 2018 में देश में दूध का कुल उत्पादन 187 मिलियन (18.7 करोड़) टन था, जो बढ़कर अब लगभग 230 मिलियन (23 करोड़) टन हो गया है। वर्ष 2022-23 में दूध उत्पादन में 3.8% की वृद्धि हुई है।

इस कारण से अब देश में प्रति व्यक्ति दूध उपलब्धता भी बढ़ रही है। वर्ष 2013-14 में यह 303 ग्राम प्रति व्यक्ति प्रतिदिन थी। देश में दूध की उपलब्धता बढ़ने के साथ ही यह अब 452 ग्राम प्रति व्यक्ति प्रतिदिन हो चुकी है। 2013-14 से लेकर 2022-23 के बीच इसमें लगभग 50% की बढ़ोतरी हुई है।

दूध के अलावा देश में मांस, अंडा और ऊन के उत्पादन में भी बढ़ोतरी हुई है। वर्ष 2022-23 के दौरान देश में 13.8 हजार करोड़ अंडों का उत्पादन हुआ, जो कि बीते पाँच वर्षों में लगभग 33.3% की बढ़ोतरी है। 2018-19 के दौरान देश में 10.03 हजार करोड़ अंडों का उत्पादन हुआ था। आंध्र प्रदेश देश में अंडों का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है, यह कुल उत्पादन में 20.13% हिस्सा रखता है। तमिलनाडु, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल अन्य बड़े उत्पादक राज्य हैं।

रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि 2022-23 के दौरान देश में मांस का उत्पादन भी बढ़ा है। देश में 2022-23 के दौरान मांस का उत्पादन 9.77 मिलियन (97.7 लाख) टन रहा है। इसने पिछले पाँच वर्षों में 20.39% की वृद्धि हासिल की है। मांस के उत्पादन में उत्तर प्रदेश (12.2%) देश में आगे है। महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल भी बड़े मांस के बड़े उत्पादक राज्य हैं।

2022-23 में देश में ऊन का उत्पादन देश में 336 लाख किलोग्राम रहा है। इसके उत्पादन में कमी आई है। वित्त वर्ष 2018-19 में यह 400 लाख किलोग्राम से ऊपर था। राजस्थान (47.9%) और जम्मू-कश्मीर (22.6%) मिलकर देश की लगभग 70% ऊन का उत्पादन करते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाबालिग औलाद ने ही अपने इमाम अब्बा का किया सिर तन से जुदा: कट्टर इस्लामी-वामी मचा रहे ‘मुस्लिम टारगेट किलिंग’ का शोर, पुलिस जाँच...

जिसे वामी-इस्लामी हैंडल घोषित करना चाहते थे टारगेट किलिंग, शामली में मस्जिद के उस इमाम का सिर उनके ही नाबालिग बेटे ने किया था तन से जुदा।

सड़क पर सोने से लेकर, बम हमला झेलने तक… जानें ओडिशा के नए मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी कौन हैं, कैसे हुई थी राजनीति की...

ओडिशा के नए सीएम मोहन चरण माझी 90 के दशक से भाजपा के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने एक शिक्षक होने से करियर की शुरुआत की थी। अब वो राज्य के मुख्यमंत्री बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -