Advertisements
Sunday, May 31, 2020
होम देश-समाज रोज पीटता था मौलवी, माँ ने पैरों में बँधवा दी जंजीर: भरतपुर के मदरसे...

रोज पीटता था मौलवी, माँ ने पैरों में बँधवा दी जंजीर: भरतपुर के मदरसे से भागे बच्चों ने बताई आपबीती

जाँच में पता चला है कि पिटाई के डर से बच्चे भाग न जाएँ, इस वजह से बच्चे की माँ ने ही मौलवी से कहकर उसके पैर में लोहे की जंजीर बँधवाई थी। बताया जाता है कि बच्चे मदरसे की बजाए सरकारी स्कूल में पढ़ना चाहते थे।

ये भी पढ़ें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

दीनी तालीम के नाम पर चल रहे मदरसे कैसे प्रताड़ना के केंद्रों में बदल चुके हैं इसकी पुष्टि करती हुई एक और घटना सामने आई है। घटना राजस्थान के भरतपुर की है। यहॉं के एक मदरसे से तीन बच्चे मौलवी की रोजाना की पिटाई से तंग आकर भाग गए। पुलिस को संदिग्ध हालात में मिले। एक बच्चे के पैर में जंजीर बॅंधी दी। शुरुआती जॉंच से पता चला है कि बच्चा मदरसा से भाग न जाए इसलिए मॉं ने ही मौलवी से कह जंजीर बॅंधवाई थी।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार भरतपुर के मछली मोहल्ला स्थित मदरसे में रोज-रोज की पिटाई से परेशान होकर 3 बच्चे मंगलवार (फरवरी 04, 2020) सुबह भाग गए। तीनों बच्चों की उम्र क्रमश: 12,13 और 14 साल थी। पुलिस को जयपुर-आगरा हाइवे स्थित विश्व प्रिय शास्त्री पार्क में ये बच्चे संदिग्ध हालात में घूमते हुए मिले। पुलिस को इनमें से एक बच्चे के पैर में लोहे की जंजीर बँधी मिली। वक्फ बोर्ड से मान्यता प्राप्त इस मदरसे में छोटे बच्चों के लिए आवासीय सुविधा भी है। ये तीनों बच्चे भी वहीं रहकर पढ़ाई कर रहे थे।

जाँच में पुलिस को पता चला कि पिटाई के डर से बच्चे भाग न जाएँ, इस वजह से बच्चे की माँ ने ही मौलवी से कहकर उसके पैर में लोहे की जंजीर बँधवाई थी। मौलवी यूसुफ ने हालॉंकि मदरसे में बच्चों की पिटाई की बात को गलत बताया है। उसने कहा कि बच्चों को मदरसे से भागने से रोकने के लिए उनके पैरों में जंजीर बाँधी गई थी।

इस घटना के सामने आने के बाद भरतपुर जिला प्रशासन ने तीनों बच्चों को बाल सुधार गृह में भिजवाया है। साथ ही, समाज कल्याण विभाग के उप निदेशक को मामले की जाँच के आदेश दिए गए हैं। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट में बताया गया है कि ये तीनों बच्चे मदरसे में नहीं बल्कि सरकारी मांटेसरी स्कूल में पढ़ना चाहते हैं। बच्चे के पैरों में बँधी जंजीर को खोलने के लिए मदरसे के संचालक से चाबी मँगवाई गई।

गौरतलब है कि मुस्लिम समाज आज भी मुख्यधारा की शिक्षा प्रणाली को छोड़कर दीनी तालीम को ही महत्व देना पसंद करता है। मदरसे से भागे हुए इन बच्चों की कहानी ऐसी पहली घटना नहीं है। सितंबर के महीने में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था जब भोपाल के एक मदरसे में बच्चा जंजीर से बँधा हुआ मिला था।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सितंबर 15, 2020 को पुलिस ने दो बच्चों को प्रताड़ना से मुक्त कराते हुए एक मदरसे के संचालक और उसके सहायक को गिरफ्तार किया था। इनमें से एक बच्चे की उम्र 10 साल और दूसरे की 7 साल थी। इस मदरसे में 10 साल का बच्चा चेन से बॅंधा था और उसे आजाद कराने के लिए गैस कटर का इस्तेमाल करना पड़ा था।

ऐसा केवल भारत में ही नहीं होता है। अफ्रीकी देश सेनेगल, जहॉं की डेढ़ करोड़ की आबादी में से 90 फीसदी लोग मुसलमान हैं, वहॉं के मदरसों के अमानवीय बर्ताव सुन देह में सिहरन पैदा हो जाती है। सेनेगल में मदरसों को डारा कहते हैं। उनमें पढ़ने वाले बच्चों को तालिब और पढ़ाने वाले मौलवी को माराबू कहते हैं। डारा में कुरान के अलावा शराफत भी सिखाई जाती है। यूॅं तो शराफत का मतलब विनम्रता होता है, लेकिन डारा शराफत के नाम पर बच्चों को भीख मॉंगने के लिए मजबूर करते हैं।

मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच की रिपोर्ट के मुताबिक सेनेगल में करीब 1 लाख तालिब भीख मॉंग रहे हैं। ऐसे ज्यादातर तालिब की उम्र 12 साल से कम है। कुछ तो 4 साल के ही हैं। इसी संस्था ने 2010 के अपने अध्ययन में अनुमान लगाया था कि सेनेगल के मदरसों में पढ़ने वाले करीब 50 हजार बच्चे भीख मॉंग रहे हैं। यानी करीब 10 साल में इनकी संख्या दोगुनी हो चुकी है।

शिक्षा की इस मदरसा पद्दति से निपटने के भारत सरकार कई प्रयास करती आ रही हैं। उत्तराखंड राज्य में मुस्लिमों एवं रोजगार सम्बन्धी चहुमुखी विकास के लिए भी सरकार द्वारा ’15 सूत्रीय कार्यक्रम’ जारी किए गए थे। लेकिन प्रश्न यह है कि समाज जब अपनी मजहबी कट्टरता से स्वयं बाहर नहीं आना चाहता है तो फिर कोई और आकर हमारी मदद कैसे कर सकता है?

यही कारण है कि आज भी देश के युवाओं का एक बड़ा हिस्सा पढ़े-लिखे होने के बावजूद भी अनपढ़ ही रह जाता है। जाहिर सी बात है कि एक ओर जहाँ मुख्यधारा की शिक्षा में विज्ञान पर बात हो रही है, बच्चे प्रतिस्पर्धा के माहौल के बीच रोजाना कुछ नया सीख रहे हैं, ऐसे में मदरसे में सदियों पुरानी तालीम लेकर वह बच्चा समाज से आखिर किस तरह से जुड़ पाएगा? उसे तो यह अवसर ही नहीं दिया जा रहा है कि वह अपने व्यक्तित्व का विकास कर सके।

मदरसा छात्रों और मौलवी के मलद्वार से बहा था खून, UP पुलिस का टॉर्चर: मीडिया गिरोह की साजिश का भंडाफोड़

कुरान पढ़ाने के नाम पर मदरसा में यौन शोषण, 300 छुड़ाए गए, जंजीर से बँधे थे

मदरसा के हेडमास्टर ने 19 वर्षीय युवती का किया यौन शोषण, शिकायत करने पर लगा दी आग

Advertisements

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ख़ास ख़बरें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

मेरठ से दबोचा गया खालिस्तानी आतंकी तीरथ सिंह, सीमा पार से गोला-बारूद लाने के लिए हथियार तस्कर से जुड़ा था

उत्तरप्रदेश एटीएस और पंजाब पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने ज्वाइंट ऑपरेशन में मेरठ से खालिस्तानी आतंकवादी तीरथ सिंह को गिरफ्तार किया।

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने आम की चटनी के साथ बनाया समोसा, PM मोदी ने कहा- कोरोना पर जीत के बाद साथ लेंगे आनंद

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने रविवार को आम की चटनी के साथ समोसे का स्वाद लिया। उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद किया।

‘ईद पर गोहत्या, विरोध करने पर 4 लोगों को मारा’ – चतरा में हिन्दुओं का आरोप, झारखंड पुलिस ने बताया अफवाह

झारखंड के चतरा में हिन्दुओं ने मुसलमानों पर हमला करने का आरोप लगाया। कारण - ईद पर गोहत्या का विरोध करने को लेकर...

कल-पुर्जा बनाने के नाम पर लिया दो मंजिला मकान, चला रहे थे हथियारों की फैक्ट्री: इसरार, आरिफ सहित 5 गिरफ्तार

बंगाल एसटीएफ ने एक हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पॉंच लोगों को गिरफ्तार किया है। करीब 350 अर्द्धनिर्मित हथियार बरामद किए हैं।

मुंबई में बेटे ने बुजुर्ग माँ को पीटकर घर से निकाला, रेलवे अधिकारियों ने छोटे बेटे के पास दिल्ली भेजने की व्यवस्था की

लॉकडाउन के बीच मुंबई से एक बेहद असंवेदनशील घटना सामने आई है। एक बेटे ने अपनी 68 वर्षीय माँ को मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया।

MLA विजय चौरे ने PM मोदी को दी गाली, भाई के साथ किसानों को धमकाया: BJP ने कहा- कॉन्ग्रेस का संस्कार दिखाया

विजय चौरे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा के सौसर से विधायक हैं। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया।

प्रचलित ख़बरें

असलम ने किया रेप, अखबार ने उसे ‘तांत्रिक’ लिखा, भगवा कपड़ों वाला चित्र लगाया

बिलासपुर में जादू-टोना के नाम पर असलम ने एक महिला से रेप किया। लेकिन, मीडिया ने उसे इस तरह परोसा जैसे आरोपित हिंदू हो।

चीन के खिलाफ जंग में उतरे ‘3 इडियट्स’ के असली हीरो सोनम वांगचुक, कहा- स्वदेशी अपनाकर दें करारा जवाब

"सारी दुनिया साथ आए और इतने बड़े स्तर पर चीनी व्यापार का बायकॉट हो, कि चीन को जिसका सबसे बड़ा डर था वही हो, यानी कि उसकी अर्थव्यवस्था डगमगाए और उसकी जनता रोष में आए, विरोध और तख्तापलट और...."

जिस महिला अधिकारी से सपा MLA अबू आजमी ने की बदसलूकी, उसका उद्धव सरकार ने कर दिया ट्रांसफर

पुलिस अधिकारी शालिनी शर्मा का ट्रांसफर कर दिया गया है। नागपाड़ा पुलिस स्टेशन की इंस्पेक्टर शालिनी शर्मा के साथ अबू आजमी के बदसलूकी का वीडियो सामने आया था।

‘TikTok हटाने से चीन लद्दाख में कब्जाई जमीन वापस कर देगा’ – मिलिंद सोमन पर भड़के उमर अब्दुल्ला

मिलिंद सोमन ने TikTok हटा दिया। अरशद वारसी ने भी चीनी प्रोडक्ट्स का बॉयकॉट किया। उमर अब्दुल्ला, कुछ पाकिस्तानियों को ये पसंद नहीं आया और...

POK में ऐतिहासिक बौद्ध धरोहरों पर उकेर दिए पाकिस्तानी झंडे, तालिबान पहले ही कर चुका है बौद्ध प्रतिमाओं को नष्ट

POK में बौद्ध शिलाओं और कलाकृतियों को नुकसान पहुँचाते हुए उन पर पाकिस्तान के झंडे उकेर दिए गए हैं।

हमसे जुड़ें

210,044FansLike
60,894FollowersFollow
244,000SubscribersSubscribe
Advertisements