Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजजंगल में 8 किमी पैदल चले जवान, फिर मिली वह गुफा जिसमें नक्सलियों ने...

जंगल में 8 किमी पैदल चले जवान, फिर मिली वह गुफा जिसमें नक्सलियों ने छिपा रखा था हथियार और विस्फोटकों का जखीरा: छत्तीसगढ़ में बड़ी साजिश विफल

सुरक्षा बलों ने विशेष अभियान चलाकर सुकमा की एक गुफा में छिपाकर रखे गए बैरल ब्रेनेड लॉन्टर और ग्रेनेड्स समेत भारी मात्रा में हथियारों को जब्त कर लिया।

लोकसभा चुनाव 2024 में गड़बड़ी फैलाने में जुटे नक्सलियों को बड़ा झटका लगा। नक्सलियों के ठिकाने से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ है। सुरक्षा बलों ने विशेष अभियान चलाकर सुकमा की एक गुफा में छिपाकर रखे गए बैरल ब्रेनेड लॉन्टर और ग्रेनेड्स समेत भारी मात्रा में हथियारों को जब्त कर लिया। इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए सुरक्षा बलों को करीब 8 किमी दूर जंगल में ऑपरेशन चलाना पड़ा। जो कि पूरी तरह से सफल रहा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुकमा के तोंडामरका व डब्बामरका इलाकों में नक्सलियों के मूवमेंट की सूचना मिल रही थी, साथ ही भारी मात्रा में हथियारों की भी जानकारी मिल रही थी। इसके बाद पुलिस, सीआरपीएफ, कोबरा बटालियन ने ये ऑपरेशन चलाया और नक्सलियों के हथियार डिपो नुमा ठिकाने से भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार बरामद किए। ये गुफा एक पहाड़ी के नीचे थी, जो नक्सलियों के कब्जे में थी। सुकमा के एसपी किरण चव्हाण ने इस ऑपरेशन की पुष्टि की और कहा कि नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम कर दी गई और आगामी दिनों में आपरेशन और तेज किए जाएँगे।

बरामद हथियारों में बीजीएल लांचर एक, बीजीएल प्रोजेक्टर 22, बीजीएल राउंड 4, बीजीएल राउंड नॉर्मल 57, बीजीएल राउंड स्मॉल 12, बीजीएल कार्टेज 4, बीजीएल नट 7, वायरलेस सेट 5, वायरलेस संट चार्जर 3, वोल्ट मीटर 3, सेफ्टी फ्यूज ग्रीन 10 मीटर, सेफ्टी फ्यूज ब्लैक 5 मीटर, नॉन इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर 105, जिलेटिन 200, गन पाउडर 30 किलोग्राम और विसल कोर्ड 10 सहित 60 आइटम बरामद हुए हैं।

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, नक्सलियों ने सुरक्षाबलों को नुकसान पहुँचाने के लिए बैरल ग्रेनेड लॉन्चर (बीजीएल) बनाया है। वो इससे सुरक्षाबलों के कैंप पर ताबड़तोड़ हमले करते हैं। इसे स्थानीय स्तर पर तैयार करने में भी नक्सलियों को सफलता मिल गई थी।

पुलिस अधीक्षक किरण चव्हाण ने कहा कि सीआरपीएफ के साथ अन्य सुरक्षा बलों ने सात अप्रैल को सर्च अभियान शुरू किया था। डुब्बा मरका सीआरपीएफ कैंप से एफ 208 कोबरा, ई 212 एवं डी 241 कंपनियाँ, डुब्बा मरका और बीरम के जंगलों की तरफ रवाना हुई थीं। सुरक्षा बलों के पास ऐसा इनपुट भी था कि नक्सली घने जंगल में घात लगाकर हमला कर सकते हैं।

बता दें कि इस ऑपरेशन के दूसरे ही दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बस्तर में बड़ी जनसभा को संबोधित किया है। माना जा रहा है कि नक्सली लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान हिंसा फैलाने की तैयारी कर रहे थे। सुकमा में सुरक्षा बलों को मिली बड़ी सफलता से उनके मंसूबों पर पानी फिर गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -