Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजबिहार में आँख निकाल हत्या: बेतिया में जिस फोन से माँगी गई फिरौती, वो...

बिहार में आँख निकाल हत्या: बेतिया में जिस फोन से माँगी गई फिरौती, वो सिम ताहिर हुसैन के नाम, पुलिस ने बताया प्रेम-प्रसंग का मामला

11 अक्टूबर, 2023 को आशीष पढ़ाई करने अपने विद्यालय कुमारबाग हाई स्कूल गया था। लेकिन जब छुट्टी के बाद भी घर नहीं लौटा तो उसकी खोज शुरू की गई। उसका बैग और साइकिल स्कूल में ही थी।

बेतिया के कुमारबाग ओपी क्षेत्र के रानीपुर रमपुरवा निवासी स्वर्ण व्यवसायी नगनारायण साह के नाबालिग पुत्र आशीष के अपहरण के बाद अब बेरहमी से क़त्ल की बात सामने आई है। गुरुवार (12 अक्टूबर, 2023) की रात 10 बजे के करीब कुमार बाग स्टील प्लांट के पीछे स्थित एक पोखर से छात्र का शव बरामद किया गया था। हालाँकि, पुलिस ने रात में ही शव का पोस्टमार्टम कराया और परिजनों को सौंप दिया। वहीं इस पूरे हत्या के मामले को एक प्रेम प्रसंग के रूप में भी देखा जा रहा है। 

क्या है पूरा मामला 

रिपोर्ट के अनुसार, 11 अक्टूबर, 2023 को आशीष पढ़ाई करने अपने विद्यालय कुमारबाग हाई स्कूल गया था। लेकिन जब छुट्टी के बाद भी घर नहीं लौटा तो उसकी खोज शुरू की गई। उसका बैग और साइकिल स्कूल में ही थी। इसी बीच शाम करीब सात बजे आशीष के पिता के मोबाइल पर फोन आया।

फोन करने वाले ने 20 लाख फिरौती की माँग की। परिजनों द्वारा पुलिस को सूचना देने पर पुलिस हरकत में आई। एसपी डी अमरकेश स्वयं घटना की जाँच करने के लिए पहुँचे। छात्रों से पूछताछ की। वहीं जिस नंबर से फिरौती माँगी गई, जब उसकी जाँच की गई तो पता चला कि सिम मनुआपुल ओपी क्षेत्र के शेख धुरवा के ताहिर हुसैन का है। जबकि घटना कुमारबाग ओपी क्षेत्र रानीपुर रामपुरवा की है। हालाँकि, पुलिस इससे पहले की अपहरण की गुत्थी सुलझाती तब तक छात्र का शव बरामद हो गया। 

प्रेम प्रसंग की वजह से हुई हत्या 

वहीं इस मामले में बेतिया पुलिस ने नया खुलासा करते हुए बताया कि आशीष की हत्या उसके ही क्लास की लड़की के अफेयर में की गई। लड़की का नाबालिग भाई अपने दोस्तों के साथ उसे स्कूल से ले गया था। उसने ही आँखे निकाली और बाद में हाथ-पैर बाँधकर तालाब में फेंक दिया

वहीं इस मामले में फिरौती को लेकर खुलासा हुआ है कि हत्या में शामिल एक आरोपित को रुपयों की जरूरत थी। उसे पता पता था कि आशीष के परिवार का सोने-चाँदी  का कारोबार है। इसलिए हत्यारों ने आशीष के परिवार को फोन कर 20 लाख रुपए की फिरौती माँगी थी।

पुलिस ने चारो आरोपितों को किया गिरफ्तार 

इस मामले में बेतिया पुलिस ने लड़की के भाई समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपितों की उम्र 16 साल के आसपास है। वहीं वारदात में इस्तेमाल मोबाइल फोन को भी बरामद कर लिया गया है। 

स्कूल वालों की लापरवाही भी आई सामने 

ग्रामीणों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ भी आक्रोश है। नाराजगी इस बात पर है आशीष स्कूल गया था। दोपहर करीब एक बजे वो स्कूल से निकल कर किसी से मिलने चला गया। 4 बजे स्कूल बंद हुआ तो उसकी साइकिल और बैग वहीं थे, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने न तो परिवार को इसकी जानकारी दी और ना ही पुलिस को बताया कि नौंवी का छात्र क्लास से फरार है।

पुलिस ने बताया प्रेम प्रसंग का मामला 

एसपी डी.अमरकेश ने बताया कि आशीष की हत्या प्रेम-प्रसंग में की गई है। आशीष अपने ही क्लास की एक लड़की से प्यार करता था। जिससे नाराज होकर लड़की के नाबालिग भाई ने अपने गाँव के ही तीन लड़कों के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची। स्कूल से बुधवार को आशीष को अपने साथ बुलाकर ले गए। पुलिस के अनुसार, चारों ने मिलकर उसका हाथ पैर बाँध दिया और पोखर में डालकर उसकी हत्या कर दी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -