Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाजबेनीपट्टी के अविनाश झा हत्याकांड में 6 गिरफ्तार, फिर भी हत्या की वजह अनसुलझी:...

बेनीपट्टी के अविनाश झा हत्याकांड में 6 गिरफ्तार, फिर भी हत्या की वजह अनसुलझी: उच्चस्तरीय जाँच की डिमांड

मृतक अविनाश के भाई चंद्रशेखर झा ने बताया कि पुलिस ने जिस महिला पूर्णकला देवी को गिरफ्तार किया है, वह अनुराग हेल्थ केयर नर्सिंग होम में नर्स थी। अविनाश इस नर्सिंग होम के खिलाफ लगातार आवाज उठा रहा था।

बिहार के चर्चित बुद्धिनाथ झा उर्फ अविनाश हत्याकांड में पुलिस ने एक महिला सहित 6 को गिरफ्तार किया है। 14 नवम्बर 2021 (रविवार) को प्रेस को जारी बयान में पुलिस ने बताया है कि रोशन कुमार, पवन कुमार, मनीष कुमार, बिट्टू कुमार, दीपक कुमार और पूर्णकला देवी को गिरफ्तार किया गया है। जॉंच जारी होने का हवाला देकर पुलिस ने हत्या की वजह नहीं बताई है।

हत्या की वजह को लेकर ऑपइंडिया ने बेनीपट्टी DSP से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि वर्तमान गिरफ्तारियों को अंतिम निष्कर्ष न समझा जाए। इस घटना से जुड़े हर बिंदु पर पुलिस अनुसंधान कर रही है। बेनीपट्टी थाना प्रभारी ने जाँच का अंतिम निष्कर्ष आने तक कुछ भी बताने से इनकार किया। उनके मुताबिक अभी तक सामने आए तथ्य सार्वजनिक करने से आगे की जाँच प्रभावित हो सकती है।

पुलिस प्रेस नोट

मृतक अविनाश के भाई चंद्रशेखर झा ने ऑपइंडिया को बताया कि गिरफ्तार किए गए लोग उन बड़े लोगों के हाथ की कठपुतली हो सकते हैं जो उनके भाई को रास्ते से हटाना चाहते थे। उन्होंने बताया कि पुलिस ने जिस महिला पूर्णकला देवी को गिरफ्तार किया है, वह अनुराग हेल्थ केयर नर्सिंग होम में नर्स थी। अविनाश इस नर्सिंग होम के खिलाफ लगातार आवाज उठा रहा था। उन्होंने पूर्णकला को जाल के तौर पर इस्तेमाल किए जाने का संदेह जताया है।

चंद्रशेखर ने ये भी बताया कि आरोपित रोशन कुमार ने अपना नया नर्सिंग होम खोला था। उसे अविनाश पर हमले के लिए उकसाया गया होगा। पकड़े गए आरोपित अविनाश का काफी सम्मान करते थे। अगर उन्हें अविनाश को बहाने से बुला कर लाने या पकड़ कर लाने का टास्क भी दिया गया रहा होगा तो भी उन्हें ये नहीं पता रहा होगा कि उसकी हत्या कर दी जाएगी।

सर्वदलीय संघर्ष समिति की माँग

इस हत्या के विरोध में सर्वदलीय संघर्ष समिति ने बेनीपट्टी में मार्च निकाला। समिति ने मृतक के परिवार को 1 करोड़ रुपए मुआवजे के साथ परिवार के एक सदस्य के लिए सरकारी नौकरी की माँग की है। जिले में चल रहे अवैध नर्सिंग होम पर कार्रवाई माँगते हुए समिति ने 72 घंटे के अल्टीमेटम के साथ आरोपितों का केस फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की भी डिमांड रखी है।

गौरतलब है कि बिहार के मधुबनी जिले में RTI कार्यकर्ता और स्थानीय पत्रकार अविनाश झा 9 नवम्बर 2021 को अचानक लापता हो गए थे। उनका शव बेनीपट्टी से सटे उड़ेन गाँव के पास से 12 नवम्बर को बरामद किया गया था। इस मामले में परिजनों ने जिले के नर्सिंग होम माफियाओं पर आरोप लगाया था। अविनाश लगातार आरटीआई के जरिए नर्सिंग होम के फर्जीवाड़े को उजागर कर रहे थे। इसकी वजह से कई नर्सिंग होम पर कार्रवाई के लिए प्रशासन को मजबूर होना पड़ा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,463FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe