Sunday, September 26, 2021
Homeदेश-समाजकिशनगंज SHO हत्या के मामले में आलम, अबुजर और शहीनूर खातून गिरफ्तार: बंगाल में...

किशनगंज SHO हत्या के मामले में आलम, अबुजर और शहीनूर खातून गिरफ्तार: बंगाल में भीड़ ने पीट-पीटकर मारा

पुलिस ने थानाध्यक्ष की मौत के बाद इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान फिरोज आलम, अबुजर आलम और शहीनूर खातून के तौर पर हुई है। वहीं, किशनगंज पुलिस द्वारा मृत अधिकारी का शव पोस्टमार्टम के बाद ले लिया गया। लेकिन, कुमार के घरवालों ने....

पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर जिले में शनिवार (अप्रैल 10, 2021) की तड़के बिहार के एक पुलिस अधिकारी को हिंसक भीड़ ने पीट पीटकर मार डाला। घटना गोलपोखर थाने के पंतपाड़ा गाँव की है। यहाँ किशनगंज के थानाध्यक्ष एक बाइक चोरी मामले में रेड मारने अपनी टीम के साथ निकले थे। उन्हें पता चला था कि अपराधियों का कनेक्शन सीमावर्ती पश्चिम बंगाल के क्षेत्र से जुड़ा है।

हालाँकि, रेड के दौरान हिंसक भीड़ उनके सामने आई और उन्हें पीटने लगी। इस बीच पांजीपाड़ा के पुलिस अधिकारियों ने उन्हें वहाँ से बचाया और इस्लामपुर सदर अस्पताल ले गए, लेकिन वहाँ पता चला की वह जिंदा नहीं हैं। 

पुलिस ने थानाध्यक्ष की मौत के बाद इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान फिरोज आलम, अबुजर आलम और शहीनूर खातून के तौर पर हुई है। वहीं, किशनगंज पुलिस द्वारा मृत अधिकारी का शव पोस्टमार्टम के बाद ले लिया गया। लेकिन, कुमार के घरवालों ने उनके शव को लेने से मना करते हुए इसे एक साजिश कहा।

कुमार के परिजनों ने टीम के अन्य पुलिसकर्मियों पर सवाल खड़े किए। परिवार जानना चाहता है कि आखिर बंगाल पुलिस को पहले इस रेड के बारे में क्यों नहीं बताया गया। परिजन इस केस में SIT जाँच की माँग कर रहे हैं, जबकि बिहार पुलिस ने कुमार की मृत्यु के बाद उनके किसी परिजन को जॉब देने की बात कही है।

बता दें कि किशनगंज थानाध्यक्ष ने बिहार पुलिस 1994 में ज्वाइन की थी। कुछ साल पहले ही उनका ट्रांस्फर हुआ था। बताया जा रहा है कि किशनगंज के SHO की हत्‍या शनिवार की सुबह करीब 4 बजे की गई थी। छापेमारी करने गई टीम पर भीड़ ने अचानक हमला बोल दिया। इस दौरान बाकी पुलिसकर्मी तो बच निकले, लेकिन अंधेरे में थानाध्यक्ष अश्विनी अपराधियों के हाथ लग गए। अपराधियों ने पीट-पीटकर उनकी हत्‍या कर दी।

इस मामले को लेकर भाजपा के पाटलिपुत्र सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने पश्चिम बंगाल सरकार और वहाँ के प्रशासन पर हमला बोला है। उन्‍होंने कहा है कि यह घटना बंगाल में कानून-व्‍यवस्‍था की स्थिति को उजागर करने के लिए काफी है। वहाँ पूरी तरह से गुंडों का राज है। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़कियों के कपड़े कैंची से काटे, राखी-गहने-चप्पल सब उतरवाए: राजस्थान में कुछ इस तरह हो रही REET की परीक्षा, रोते रहे अभ्यर्थी

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET 2021) की परीक्षा के दौरान सेंटरों पर लड़कियों के फुल बाजू के कपड़ों को कैंची से काट डालने का मामला सामने आया है।

11वीं से 14वीं शताब्दी की 157 मूर्तियाँ-कलाकृतियाँ, चोर ले गए थे अमेरिका… PM मोदी वापस लेकर लौटे

अमेरिका द्वारा भारत को सौंपी गई कलाकृतियों में सांस्कृतिक पुरावशेष, हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म से संबंधित मूर्तियाँ शामिल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,458FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe