Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजAir vistara देता है सिर्फ हलाल मीट, कहा- यही नियम: BJP नेता गौरव भाटिया...

Air vistara देता है सिर्फ हलाल मीट, कहा- यही नियम: BJP नेता गौरव भाटिया ने फिर आगे बढ़ाया झटका-हलाल डिबेट

सोमवार को यात्रा के दौरान जब उनसे खाने के लिए पूछा गया तो उन्होंने विमान में माँसाहारी भोजन के बारे में जानकारी ली कि वह झटका है या हलाल। जिसके जवाब में उन्हें बताया गया कि वे केवल हलाल मीट ही यात्रियों को परोसते हैं क्योंकि कंपनी का यही नियम है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने सोमवार (फरवरी 22, 2021) को एयर विस्तारा से हवाई यात्रा के बाद हलाल बनाम झटका मीट की बहस को दोबारा चर्चा में ला दिया। उन्होंने यात्रा के दौरान हुआ वाकया साझा करते हुए बताया कि एयर विस्तारा में सिर्फ़ और सिर्फ़ हलाल मीट ही सर्व किया जाता है और ये उन्हें स्वयं वहाँ के कर्मचारियों ने बताया है।

उन्होंने बताया कि सोमवार को यात्रा के दौरान जब उनसे खाने के लिए पूछा गया तो उन्होंने विमान में माँसाहारी भोजन के बारे में जानकारी ली कि वह झटका है या हलाल। जिसके जवाब में उन्हें बताया गया कि वे केवल हलाल मीट ही यात्रियों को परोसते हैं क्योंकि कंपनी का यही नियम है।

अब भाटिया ने अपने ट्विटर से सवाल किया है कि क्या नियम भेदभाव करने वाला नहीं है। उनका क्या जो विमान में झटका मीट खाना चाहते हैं? दूसरे की भावनाओं का सम्मान क्यों नहीं किया जा रहा है?  

भाजपा नेता ने इस मामले में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से ध्यान देने और इस गलत काम को सुधारने का अनुरोध किया है।

बता दें कि पिछले कुछ समय से हलाल बनाम झटका का मुद्दा गरमाया हुआ है। बीते दिनों पहले कई लोगों ने मीट के उत्पादों से हलाल शब्द हटाने के लिए एक ऑनलाइन अभियान शुरू किया था, जिसके परिणामस्वरूप एग्रीकल्चरल एंड प्रोसेस्ड फूड प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथारिटी (एपीईडीए) ने अपने ‘रेड मीट मैन्युअल’ से हलाल शब्द हटा दिया। 

इस कदम पर एआईएमआईएम समेत कई संगठनों ने आपत्ति जाहिर की थी। एआईएमआईएम ने कहा था, “मुस्लिम देश से लेकर जहाँ-जहाँ मुसलमान हैं वे इस गोश्त को खाने से परहेज करेंगे। मीट एक्सपोर्ट का बिजनेस डैमेज होगा और मीट के व्यापारियों को इससे नुकसान होगा।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe