Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजतिरंगे के ऊपर लहराया इस्लामी झंडा, बरेली में मस्जिद के मौलाना की करतूत.. पुलिस...

तिरंगे के ऊपर लहराया इस्लामी झंडा, बरेली में मस्जिद के मौलाना की करतूत.. पुलिस ने मोहम्मद अयूब के खिलाफ दर्ज की FIR

आरोपित मौलाना बरेली के नवाबगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है। उसके अब्बा का नाम शाहरुख़ है। इस मामले के सामने आते ही हिन्दू संगठनों ने नाराजगी प्रकट की है। बरेली के हिन्दू जागरण मंच के पदाधिकारी हिमांशु पटेल ने मौलाना अयूब पर कठोर कार्रवाई की माँग की।

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक मस्जिद के मौलाना पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के अपमान का केस दर्ज हुआ है। आरोपित मौलाना का नाम मोहम्मद अयूब है। आरोप है कि मौलाना अयूब ने मस्जिद पर लगे तिरंगे के ऊपर इस्लामी झंडा लगा दिया था। मौलना की करतूत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। पुलिस मामले की जाँच में जुटी है। घटना गुरुवार (12 अक्टूबर 2023) की है। हिन्दू संगठनों ने इस हरकत पर कड़ी आपत्ति जताते हुए अयूब के खिलाफ कार्रवाई की माँग की है।

यह मामला बरेली के हाफिजगंज का है। स्थानीय निवासी उदित शर्मा ने इस मामले की शिकायत पुलिस में की है। उदित शर्मा ने बताया कि गुरुवार को वो किसी काम से बरेली जा रहे थे। रास्ते में कस्बा रिठौरा इंद्रानगर पड़ता है। जब उदित रिठौरा पहुँचे तो सड़क के किनारे उन्हें एक मस्जिद दिखी। इस मस्जिद पर नीचे राष्ट्रध्वज तिरंगा लगा दिखा। तिरंगे के ऊपर हरे रंग का इस्लामी झंडा लहरा रहा था। उदित ने इसकी तस्वीरें खींच लीं। बाद ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं।

हिन्दू संगठनों ने इस मामले में बरेली पुलिस से कड़ी कार्रवाई की माँग की। इस मस्जिद का मौलाना मोहम्मद अयूब है। पुलिस को दी गई तहरीर में उसे मुख्य आरोपित बताया गया है। पुलिस ने शिकायत पर मस्जिद के इमाम मोहम्मद अयूब पर राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम 1971 की धारा 2 के तहत FIR दर्ज कर ली। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है। मामले की जाँच के लिए सब इंस्पेक्टर संतवीर सिंह को नियुक्त किया गया है।

आरोपित मौलाना बरेली के नवाबगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला है। उसके अब्बा का नाम शाहरुख़ है। इस मामले के सामने आते ही हिन्दू संगठनों ने नाराजगी प्रकट की है। बरेली के हिन्दू जागरण मंच के पदाधिकारी हिमांशु पटेल ने मौलाना अयूब पर कठोर कार्रवाई की माँग की। जवाब में बरेली पुलिस ने इंस्पेक्टर हाफिजगंज को जरूरी कार्रवाई के निर्देश देने की जानकारी दी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -