Wednesday, April 17, 2024
Homeदेश-समाजबंद केबिन में हिंदू युवती के साथ कॉफी पी रहा था मोहम्मद मदनी, युवती...

बंद केबिन में हिंदू युवती के साथ कॉफी पी रहा था मोहम्मद मदनी, युवती के मौत के बाद हुआ फरार: पिता का आरोप- महेश नाम बताकर किया था दोस्ती

लगभग दो घंटे बीतने के बाद मैनेजर ने दरवाजा खुलवाया। उसके बाद दोनों को बेहोश पाया गया। वहाँ से दोनों को अस्पताल ले गया। अस्पताल में इलाज के दौरान मधुस्मिता की मौत हो गई। छात्रा की मौत की बात सुनकर युवक अस्पताल से भाग गया।

गुजरात के सूरत शहर के वेशु क्षेत्र के कॉफी हाऊस में 22 साल की एक छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। इस मामले में छात्रा के परिजनों ने मोहम्मद मदनी नाम के शख्स पर जहर देकर मारने का आरोप लगाया है। मोहम्मद मदनी घटना के बाद से फरार है। पीड़ित परिवार के आग्रह के बाद इस मामले की जाँच क्राइम ब्रान्च को सौंपी गई है। इस मामले में पुलिस ने एक्सिडेंटल मृत्यु का मामला दर्ज किया है। लड़की के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। यह घटना 22 नवम्बर 2021 (सोमवार) की है।

मृतका का नाम मधुस्मिता था। वह मूल रूप से ओडिशा की रहने वाले थी। मधुस्मिता अपने माता-पिता के साथ सूरत के डिंडोली स्थित रुक्मिणी सोसाइटी में रहती थी। लड़की की माँ अध्यापिका और पिता रिटायर्ड कर्मचारी हैं। मृत छात्रा सूरत के महावीर कॉलेज से बीएड कर रही थी। सोमवार को वह कॉलेज के पास स्थित कॉफी कैसल नाम के एक कॉफी हाऊस में एक लड़के के साथ गई थी। एक रिपोर्ट के अनुसार, युवक ने कैफ़े में अपना नाम मोहम्मद मदनी लिखवाया है। कैफे के कर्मचारी ने कुछ देर बाद जाकर चेक किया तो दोनों की हालत ठीक नहीं थी।

जानकारी के मुताबिक, मधुस्मिता और युवक बंद केबिन में कॉफी पी रहे थे। लगभग दो घंटे बीतने के बाद मैनेजर ने दरवाजा खुलवाया। उसके बाद दोनों को बेहोश पाया गया। वहाँ से दोनों को अस्पताल ले गया। अस्पताल में इलाज के दौरान मधुस्मिता की मौत हो गई। छात्रा की मौत की बात सुनकर युवक अस्पताल से भाग गया। तब से उसका फोन भी बंद आ रहा है। खटोदरा पुलिस ने मौके पर पहुँच कर केस दर्ज कर के आवश्यक कार्रवाई की।

मृतका के पिता का कहना है कि उनकी बेटी पढ़ने में बहुत तेज थी। वो आत्महत्या नहीं कर सकती। उसके साथ वाले युवक को गिरफ्तार किया जाए। इसी के साथ मृतका के ममेरे भाई परीक्षित ने बताया कि मधुस्मिता कॉलेज से घर जाने के लिए निकली थी। इस बीच उसका फोन लगभग 3 घंटे बंद रहा। उसके साथ गए युवक के फरार होने के चलते उस पर सभी को शक है। इसी के साथ मृतका के परिजनों ने शव भी लेने से मना कर दिया। जब पुलिस कमिश्नर ने मामले की जाँच क्राइम ब्रान्च से करवाने का भरोसा दिया, तब परिजनों ने मधुस्मिता का शव लिया।

छात्रा के पिता का आरोप है कि युवक ने मदनी ने अपना नाम महेश बताकर उनकी बेटी से दोस्ती की थी। छात्रा के परिजनों को 3 साल पहले जब इस दोस्ती के बारे में पता चला था, तब उन्होंने मदनी को डाँटा भी था और इस बारे में कॉलेज प्रशासन को सूचित भी किया था।

मृतका का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर का कहना है कि जहर या अन्य चीज खाने से मौत की जाँच के लिए नमूने फारेंसिक लैब में भेजे गए हैं। साथ ही इसकी भी जाँच करवाई जा रही है कि लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाए गए थे या नहीं। लड़की के शरीर पर जोर-जबरदस्ती के कोई निशान नहीं पाए गए हैं। पुलिस ने मृतका के साथियों से पूछताछ शुरू कर दी है। मोहम्मद मदनी मधुस्मिता का सहपाठी बताया जा रहा है। पुलिस ने कैफे की CCTV फुटेज भी निकलवा ली है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सूर्य तिलक’ से पहले भगवान रामलला का दुग्धाभिषेक, बोले PM मोदी- शताब्दियों की प्रतीक्षा के बाद आई है ये रामनवमी, राम भारत का आधार

प्रधानमंत्री ने 'राम काज कीन्हें बिनु मोहि कहाँ विश्राम' वाली रामचरितमानस की चौपाई के साथ रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा वाली अपनी तस्वीर भी शेयर की।

रोहिंग्या मुस्लिमों ने 1600 हिन्दुओं को बंधक बनाया: रिपोर्ट में खुलासा- म्यांमार की फ़ौज ही दे रही हथियार और प्रशिक्षण, 2017 में भी हुआ...

म्यांमार की फ़ौज ने 'आराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी (ARSA)' और 'आराकान रोहिंग्या आर्मी (ARA)' को 'आराकान आर्मी (AA)' के खिलाफ लड़ने के लिए हथियार से लेकर सैन्य प्रशिक्षण तक दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe