Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजअब CBI करेगी 'शीशमहल' घोटाले की जाँच: कोरोना काल में अरविंद केजरीवाल के घर...

अब CBI करेगी ‘शीशमहल’ घोटाले की जाँच: कोरोना काल में अरविंद केजरीवाल के घर पर खर्च हुए थे करोड़ों, जाँच एजेंसी ने मँगाई फाइलें

CBI ने इस मामले में PWD से सभी संबंधित फाइलें माँगी हैं, जिसमें रेनोवेशन की लागत, ठेकेदार के नाम और रेनोवेशन के लिए किए गए काम की जानकारी शामिल है। सीबीआई इन फाइलों की जाँच के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई करेगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास ‘शीशमहल’ के रेनोवेशन मामले में सीबीआई ने शुरुआती एफआईआर दर्ज कर ली है। सीबीआई ने इस मामले में दिल्ली के लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) से सभी संबंधित फाइलें माँगी हैं। सीबीआई ने इस मामले की जाँच शुरू कर दी है।

सीबीआई ने इस मामले में एफआईआर दिल्ली के भाजपा नेता टीना शर्मा की शिकायत के आधार पर दर्ज की है। शर्मा ने आरोप लगाया था कि केजरीवाल के आवास के रेनोवेशन में नियमों का उल्लंघन किया गया है और इसमें सरकारी धन का गबन किया गया है।

CBI ने इस मामले में PWD से सभी संबंधित फाइलें माँगी हैं, जिसमें रेनोवेशन की लागत, ठेकेदार के नाम और रेनोवेशन के लिए किए गए काम की जानकारी शामिल है। सीबीआई इन फाइलों की जाँच के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई करेगी।

भाजपा ने बोला केजरीवाल पर हमला

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट करते हुए लिखा है, ‘केजरीवाल के अवैध बंगले के मामलें में CBI ने केस दर्ज किया कोरोना के काल में दिल्ली की जनता के पैसों से गैर कानूनी शीशमहल बनाने का पाप केजरीवाल ने किया है, इस अपराध की सजा से केजरीवाल बच नहीं सकते।’

कैग जांच की हुई थी सिफारिश

इस मामले में नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) से जाँच के लिए केंद्र सरकार ने सिफारिश की थी। राजभवन की ओर से जाँच के आदेश की जानकारी दी गई थी। राजभवन की ओर से कहा गया था कि गृह मंत्रालय को 24 मई को एक पत्र मिलने के बाद स्पेशल कैग ऑडिट की सिफारिश की गई थी। यह पत्र एलजी ऑफिस की ओर से मिला था। जिसमें दावा किया गया था कि सीएम केजरीवाल के सरकारी बंगले के रेनोवेशन में वित्तीय गड़बड़ी पाई गईं। आम आदमी पार्टी और सीएम ऑफिस की ओर से कोई भी एक्शन नहीं लिया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

ईदगाह का गेट निकाले जाने उग्र हुई भीड़ ने जला डाला दुकान और ट्रैक्टर, पुलिस पर भी पत्थरबाजी: जोधपुर में धारा-144 लागू, 40 आरोपित...

ईदगाह के पीछे की दीवार से 2 दरवाजों को निकाले जाने का काम शुरू किया गया था। पुलिस ने बताया कि बस्ती में रहने वाले कुछ लोगों ने इसका विरोध किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -