Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना योद्धाओं को सलाम करेगी सेना, 3 को फ्लाइपास्ट, अस्पतालों पर बरसेंगे फूल: CDS...

कोरोना योद्धाओं को सलाम करेगी सेना, 3 को फ्लाइपास्ट, अस्पतालों पर बरसेंगे फूल: CDS बिपिन रावत

"कोरोना वॉरियर्स के समर्थन में नेवी समुद्र किनारों को रोशनी से जगमगा देगी। 3 मई की शाम नेवी तटीय क्षेत्रों में अपने युद्धक जहाज तैनात करेगी। ये वॉरशिप्स रोशनी से जगमगाएँगे और नेवी के हेलिकॉप्टर्स कुछ अस्पतालों और खासकर कोविड स्पेशल अस्पतालों पर फूल बरसाएँगे।"

कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत समेत तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने आज (मई 1, 2020) प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सीडीएस बिपिन रावत ने कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में सेना की तरफ से कोरोना के खिलाफ़ लड़ाई लड़ रहे योद्धाओं को सलाम किया। उन्होंने बताया कि 3 मई (रविवार) को तीनों सेनाओं की तरफ से विशेष गतिविधियाँ होंगी। एयरफोर्स श्रीनगर से तिरुअनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक फ्लाइपास्ट करेगी।

उन्होंने कहा, “कोरोना वॉरियर्स के समर्थन में नेवी समुद्र किनारों को रोशनी से जगमगा देगी। 3 मई की शाम नेवी तटीय क्षेत्रों में अपने युद्धक जहाज तैनात करेगी। ये वॉरशिप्स रोशनी से जगमगाएँगे और नेवी के हेलिकॉप्टर्स कुछ अस्पतालों और खासकर कोविड स्पेशल अस्पतालों पर फूल बरसाएँगे।”

आर्मी अपनी तरफ से देशभर के करीब-करीब सभी जिलों के कुछ कोविड अस्पतालों के पास माउंटेन बैंड परफॉर्मेंस देगी। पुलिस बलों के समर्थन में सशस्र बल 3 मई को पुलिस मेमोरियल पर माल्यार्पण भी करेंगे।

उल्लेखनीय है कि देश की सेना इस समय कोरोना वायरस से देश को उभारने के लिए अपना योगदान स्वास्थ्यकर्मियों की तरह ही दे रही है। उन्होंने इस बीच कई क्वारंटाइन सेटर बनाए हैं। साथ ही पड़ोसी देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में अपनी टीमें भेजने की योजना बना रही है।

आज की कॉन्फ्रेंस में उन्होंने स्पष्ट कहा है कि देश की सेना सरकार के हर कॉल के साथ है। इसके अलावा आर्मी चीफ जनरल ने ये बताया है कि कोरोना से लड़ने में कोई परेशानी नहीं हैं। आर्मी का पहला मरीज अब ठीक हो चुका है और अपनी ड्यूटी पर भी तैनात है। अब तक आर्मी में कोरोना के 14 मामले आए हैं। इनमें से 5 ठीक होकर अपने काम पर लौट गए हैं।

बता दें कि इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए सशस्त्रबलों की संपूर्ण तैयारी का जायजा लेने के उद्देश्य से गुरुवार को देश के शीर्ष सैन्य अधिकारियों के साथ एक बैठक की थी। इस बैठक में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह, वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आर के एस भदौरिया और सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे उपस्थित थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिल्पकार के नाम से प्रसिद्ध दुनिया का ‘इकलौता’ मंदिर, पानी में तैरने वाले पत्थरों से निर्माण: तेलंगाना का रामप्पा मंदिर

UNESCO के विरासत स्थलों में शामिल है तेलंगाना के वारंगल स्थित काकतीय रुद्रेश्वर या रामप्पा मंदिर। 12वीं शताब्दी में निर्मित मंदिर कुछ विशेष कारणों से है अद्वितीय।

कारगिल के 22 साल: ‘फर्ज पूरा होने से पहले मौत आई तो प्रण लेता हूँ मैं मौत को मार डालूँगा’

भारतीय सैनिकों के ऊपर 60-70 मशीनगन लगातार फायरिंग कर रही थी। गोले बरस रहे थे। फिर भी कैप्टन मनोज पांडे टुकड़ी के साथ आगे बढ़ रहे थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe