Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजछत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर नक्सलियों के 7 ठिकानों का हुआ भंडाफोड़: भारी मात्रा में विस्फोटक...

छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर नक्सलियों के 7 ठिकानों का हुआ भंडाफोड़: भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

पुलिस ने बताया कि नक्सलियों के ये ठिकाने छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर थे। इनका पता लगाने में तीन दिन तक ऑपरेशन चलाया गया। सारे ठिकाने मिलने के बाद यहाँ से भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद किए गए।

छत्तीसगढ़ के रायपुर में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के 7 ठिकानों का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने बताया कि नक्सलियों के ये ठिकाने छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र सीमा पर थे। इनका पता लगाने में तीन दिन तक ऑपरेशन चलाया गया। सारे ठिकाने मिलने के बाद यहाँ से भारी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद किए गए।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया 3 दिन के ऑपरेशन के दौरान अलग-अलग मुठभेड़ हुई। इसमें एक जिला रिजर्व गार्ड जवान की मौत भी हो गई। वहीं 1 घायल भी हुआ।

बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि उनके पास छत्तीसगढ़ के नारायणपुर और कांकेर जिलों और महाराष्ट्र के गढ़चिरौली के त्रि-जंक्शन के जंगल में माओवादियों के दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के सीनियर लोगों की मौजूदगी के बारे में जानकारी थी।

इसके बाद सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन चलाया। जिसका नाम ऑपरेशन संगम दिया गया। इसमें नारायणपुर और कांकेर से अलग-अलग टीमों को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से अलग लगभग 300 किमी दूर भेज दिया गया।

इस पूरे ऑपरेशन में राज्य पुलिस के जिला रिजर्व गार्ड, स्पेशल टास्क फोर्स, इंडो तिब्बतन बॉर्डर पुलिस और बॉर्डर सेक्योरिटी फोर्ट के 700 से अधिक जवान शामिल थे।

इस ऑपरेशन की खास बात यह है कि सुरक्षाबलों ने 2012-13 के बाद पहली दफा माओवादियों के गढ़ माने जाने वाले इलाके में छापा मारा और कामयाबी भी हासिल की।

जानकारी के मुताबिक ऑपरेशन के दौरान बारामटोला, कुदुलपड़,  टेकमेटा, कुमलाचलमेटा, और कुकुर गाँवों के पहाड़ी जंगल में दोनों तरफ से कई पर मुठभेड़ हुईं। इसी दौरान 7 माओवादी ठिकानों का भी खुलासा हुआ। यहाँ से तीर-बम, टिफिन बम, पाइप बम, माओवादी की वर्दी, बैनर, पोस्टर, दस्तावेज और दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद हुई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

NH के बीच आने वाले धार्मिक स्थलों को बचाने से केरल HC का इनकार, निजी मस्जिद बचाने के लिए राज्य सरकार ने दी सलाह

कोल्लम में NH-66 के निर्माण कार्य के बीच में धार्मिक स्थलों के आ जाने के कारण इस याचिका में उन्हें बचाने की माँग की गई थी, लेकिन केरल हाईकोर्ट ने इससे इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe