Sunday, April 21, 2024
Homeदेश-समाजबाबर की औलादें आगजनी कर सबूत दे रहे कि ये देश उनका नहीं: पहलवान...

बाबर की औलादें आगजनी कर सबूत दे रहे कि ये देश उनका नहीं: पहलवान ने उपद्रवियों को दी धोबी-पछाड़

"प्रदर्शन का मतलब सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाना नहीं होता, देश को नुकसान पहुँचाना नहीं होता। जो इस देश के नागरिक हैं, जो इस देश को अपना मानते हैं- उन्हें भला किस बात का डर?"

भारतीय पहलवान योगेश्वर दत्त ने नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन के नाम पर हिंसा कर रहे उपद्रवियों को ललकारा है। दत्त ने दिल्ली के जामिया नगर और सीलमपुर इलाक़े में हुई हिंसा को लेकर बड़ा बयान दिया है। योगेश्वर दत्त ने कहा कि मेरे देश को मेरा देश कह देने से ये देश आपका नहीं हो जाता। साथ ही उन्होंने हिंसा में व्याप्त उपद्रवियों को धोबी-पछाड़ देते हुए कहा कि भारत में अभी भी बाबर की बची-खुची औलादें हैं, जो तोड़फोड़, हिंसा और आगजनी कर के अपने अस्तित्व का सबूत दे रहे हैं। बकौल दत्त, बाबर की औलादें इस बात का सबूत दे रहे हैं कि ये देश उनका कभी था ही नहीं, और न कभी होगा।

योगेश्वर दत्त ने दंगाइयों को लोकतान्त्रिक विरोध का मतलब समझाते हुए कहा कि प्रदर्शन का मतलब सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाना नहीं होता, देश को नुकसान पहुँचाना नहीं होता। ओलम्पिक मेडलिस्ट योगेश्वर दत्त ने संशोधित नागरिकता क़ानून का समर्थन करते हुए कहा कि जो इस देश के नागरिक हैं, जो इस देश को अपना मानते हैं- उन्हें भला किस बात का डर? भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किए जा चुके पहलवान ने ‘दिल्ली पुलिस ज़िंदाबाद’ के नारे भी लगाए और संशोधित नागरिकता क़ानून का समर्थन करने की बात कही।

कॉमनवैल्थ गोल्ड मेडलिस्ट योगेश्वर दत्त ने जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी व उसके छात्रों को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि जिस यूनिवर्सिटी में मजहब के आधार पर आरक्षण दिया जाता है, वही यूनिवर्सिटी अब सेकुलरिज्म के लिए लड़ने का दावा कर रही है। दत्त ने इसे दोहरा रवैया करार दिया। उन्होंने हिंसक तत्वों के ख़िलाफ़ कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस की सराहना की। योगेश्वर दत्त ने प्रोपेगंडा पत्रकार बरखा दत्त पर बरसते हुए कहा:

“इन उपद्रवियों ने सरकारी संपत्ति को तहस-नहस कर दिया, ये तुम्हें दिखाई नहीं दिया? ये लोग छात्र नहीं हैं, ये सभी देश के दुश्मन हैं। और हाँ, तुम जैसे नकारात्मक लोग इनका समर्थन कर रहे हैं। जो लोग पाकिस्तान और बांग्लादेश में प्रताड़ित किए जा रहे हैं, वहाँ नरक से भी बदतर जीवन जी रहे थे, उन्हें नागरिकता दी जा रही है। तुम लोग इसका विरोध क्यों कर रहे हो, इसका कोई जवाब है क्या तुम्हारे पास?”

बता दें कि बॉलीवुड के कई सेलेब्रिटी दिल्ली पुलिस की निंदा कर रहे हैं और हिंसक छात्रों के समर्थन में लगे हैं। आयुष्मान खुराना, विक्की कौशल, परिणीति चोपड़ा, कोंकणा सेन शर्मा, जावेद जाफरी, अली फजल, ज़ीशान अयूब, राजकुमार राव, स्वरा भास्कर, अनुराग कश्यप और ऋचा चड्डा जैसे लोगों ने इन छात्रों के समर्थन में ट्वीट किया।

स्कूल बस को भी नहीं छोड़ा दंगाई भीड़ ने, दिल्ली के सीलमपुर-जाफराबाद में उग्र प्रदर्शन: कई पुलिसकर्मी घायल

‘जामिया में जो हुआ वो जलियाँवाला बाग़ जैसा’ – हिंदुत्व नहीं छोड़ूँगा वाले उद्धव ठाकरे का सेक्युलर राग

जामिया नगर से गिरफ्तार हुए 10 लोगों का पहले से है आपराधिक रिकॉर्ड, पुलिस ने नहीं चलाई एक भी गोली

हमारे पास क्यों आए हो, हिंसा करोगे तो पुलिस कार्रवाई करेगी ही: जामिया हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट सख्त

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe