Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना की तीसरी लहर से निपटने को RSS की तैयारी, देशभर में 2.5 लाख...

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को RSS की तैयारी, देशभर में 2.5 लाख जगहों पर भेजे जाएँगे प्रशिक्षित स्वयंसेवक

वर्तमान में देश भर में 39,454 शाखाएँ चल रही हैं। इनमें से 12,288 ई-शाखा हैं, जबकि 27,166 शाखाएँ जमीन पर काम कर रही हैं।

देशभर में कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए रविवार (11 जुलाई 2021) को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने बड़ा ऐलान किया। संघ ने घोषणा की है कि वह महामारी की प्रत्याशित तीसरी लहर से निपटने के लिए वह स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित कर देश भर के 2.5 लाख जगहों पर जमीनी हालात से निपटने के लिए उतारेगा।

मध्य प्रदेश के सतना जिले की आरएसएस की चित्रकूट शाखा ने एक प्रेस रिलीज के जरिए बताया है कि 27,166 शाखाओं को ग्राउंड जीरो पर काम करने के लिए शुरू किया गया है। स्वयंसेवकों और प्रांत प्रचारकों ने मिलकर कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से पैदा हुए हालातों की समीक्षा की है। इस दौरान संघ के पदाधिकारियों ने सुविधा केन्द्रों के निर्माण, टीकाकरण के लिए प्रचार अभियान चलाने समेत अब तक किए गए कार्यों पर विस्तार से चर्चा की।

संघ ने ट्वीट कर कहा, “कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए प्रशासन का सहयोग करने और संभावित पीड़ितों की मदद के लिए पूरे देश में विशेष ‘कार्यकर्ता प्रशिक्षण’ का आयोजन किया जाएगा। ऐसे मामलों में संघ के ये प्रशिक्षित कार्यकर्ता देशभर के 2.5 लाख जगहों पर पहुँचेंगे। इसके साथ ही ये उचित समय पर लोगों के पास पहुँच कर लोगों के लिए आवश्यक जानकारियाँ जुटाएँगे। अगस्त के महीने तक यह प्रशिक्षण पूरा कर लिया जाएगा और सितंबर से हर गाँव और बस्ती में जन जागरण (जन जागरूकता) के जरिए कई और लोग तथा संगठन के इस अभियान से जुड़ेंगे।”

संगठन ने जोर देकर कहा है कि कोरोना वायरस के कहर के दौरान बच्चे और माताएँ पूरी तरह से सुरक्षित रहें, यह सुनिश्चित करने के लिए सावधानी बरती गई है। वर्तमान में देश भर में 39,454 शाखाएँ चल रही हैं। इनमें से 12,288 ई-शाखा हैं, जबकि 27,166 शाखाएँ जमीन पर काम कर रही हैं। हर सप्ताह 10,130 बैठकें (सप्ताहिक मिलन) की जा रही हैं। इन बैठकों में कुल 6,510 लोग शामिल हैं, जिसमें 3,620 लोग ऑनलाइन बैठकों में शामिल हैं और 9,637 लोग पारिवारिक बैठकों यानी कुटुम्ब मिलन कर रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe