Thursday, January 27, 2022
Homeदेश-समाजब्रिटेन से आए 279 लोगों का पता नहीं, 184 ने दिए गलत नंबर और...

ब्रिटेन से आए 279 लोगों का पता नहीं, 184 ने दिए गलत नंबर और पता: कोरोना के नए स्ट्रेन के बीच लापरवाही भारी

तेलंगाना पुलिस के मुताबिक, ब्रिटेन से आए 184 लोगों से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली है, क्योंकि इन्होंने गलत फोन नंबर और एड्रेस दर्ज करवाए थे। इनके अलावा 92 यात्री पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश, केरल और कर्नाटक से हैं, जिनकी पहचान नहीं हो पाई है।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद से ही पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। ऐसे में ब्रिटेन से हाल ही में तेलंगाना लौटे कम से कम 279 यात्रियों का पता नहीं चल पा रहा है। इसके अलावा 184 यात्रियों ने अपना फोन नंबर और पता गलत दर्ज कराया है। इससे स्वास्थ्य विभाग की चिंताएँ बढ़ा गई है।

राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को ब्रिटेन से लौटे 59 और लोगों में नए कोरोना वायरस संक्रमण मिले हैं। इसके बाद अब तक ब्रिटेन से लौटे कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 119 हो गई है।

तेलंगाना पुलिस के मुताबिक, ब्रिटेन से आए 184 लोगों से संबंधित कोई जानकारी नहीं मिली है, क्योंकि इन्होंने गलत फोन नंबर और एड्रेस दर्ज करवाए थे। इनके अलावा 92 यात्री पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश, केरल और कर्नाटक से हैं, जिनकी पहचान नहीं हो पाई है।

तेलंगाना पब्लिक हेल्थ निदेशक डॉ. जी श्रीनिवास राव ने कहा, “नए प्रकार के वायरस वाले लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्हें केवल सतर्क रहने की जरूरत है। ठीक से मास्क का उपयोग करें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बार-बार हाथों को धोते रहें।”

डॉ. राव ने कहा, “1216 लोगों में से 937 का टेस्ट करवाया जा चुका है। इनमें से शनिवार को 2 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।” उन्होंने 9 दिसंबर के बाद ब्रिटेन से लौटे सभी यात्रियों से अपनी सूचना अधिकारियों को देने का आग्रह किया है।

राज्य सरकार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, जानलेवा कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन से संक्रमित 18 लोगों के करीब आए 79 लोगों को क्वारंटाइन कर और उनके स्वास्थ्य स्थिति को लगातार मॉनिटर किया जा रहा है। इसके अलावा संक्रमित लोगों के सैंपल को सेलुलर और मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB) में जाँच के लिए भेजा गया है।

गौरतलब है कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का पता चलने के बाद भारत और यूरोप समेत कई देशों ने वहाँ से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी थी। भारत सरकार ने जरूरी कदम उठाते हुए इंग्लैंड से आने वाली सभी उड़ानों को 31 दिसंबर की आधी रात तक सस्पेंड कर रखा है।

ब्रिटेन के अलावा कोरोना वायरस के इस नए प्रकार का संक्रमण नीदरलैंड, डेनमार्क, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में भी पाया गया। वहीं अब कई अन्य देश भी इंग्लैंड की उड़ानों पर रोक को लेकर सोच-विचार कर रहे हैं। यूरोप के कई देशों ने इंग्लैंड बॉर्डर को सील कर दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

धर्मांतरण के दबाव से मर गई लावण्या, अब पर्दा डाल रही मीडिया: न्यूज मिनट ने पूछा- केवल एक वीडियो में ही कन्वर्जन की बात...

लावण्या की आत्महत्या पर द न्यूज मिनट कहता है कि वॉर्डन ने अधिक काम दे दिया था, जिससे लावण्या पढ़ाई में पिछड़ गई थी और उसने ऐसा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,876FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe