Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजइंडोनेशिया से आया इस्लामी प्रचारक दल, जहाँ घूमा वहाँ कोरोना के 13 मामले: मस्जिद...

इंडोनेशिया से आया इस्लामी प्रचारक दल, जहाँ घूमा वहाँ कोरोना के 13 मामले: मस्जिद के लोगों को खोजने में जुटी पुलिस

"उन लोगों का पता लगाना बड़ा ही मुश्किल होगा, जो इंडोनेशियाई से आए लोगों के साथ निकट संपर्क में आए थे। हालाँकि राज्य सरकार ने इस मामले के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पहले ही सूचित कर दिया है ताकि..."

तेलंगाना में बुधवार देर शाम को कोरोना वायरस के सात नए मामले सामने आए। इसके बाद राज्य सरकार ने घोषणा करते हुए बताया कि तेलंगाना राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है। वहीं सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशालय ने जानकारी दी कि कोरोना वायरस के सभी 7 नए मामले इंडोनेशिया से आए हैं, जोकि सभी इस्लामिक प्रचारक हैं।

ये सभी सात नए मामले एक सदस्य की रिपोर्ट पॉजीटिव मिलने के एक दिन बाद आए। यह सदस्य एक टीम का हिस्सा था। बताया जा रहा है कि 10 इस्लामिक प्रचारकों का समूह तीन दिन की करीमनगर की यात्रा पर था और ये सात लोग भी इसी ग्रुप से ही हैं। सभी का मंगलवार को परीक्षण किया गया। वहीं इस ग्रुप में तीन भारतीय भी थे, जो कि हैदराबाद के गाँधी अस्पताल में रहते थे।

इंडोनेशियाई से आए ग्रुप के बारे में बताया जा रहा है कि ये ग्रुप 22 फरवरी को नई दिल्ली आया था और इनमें से 10 भारतीय तीन मार्च को करीमनगर पहुँचे। इस ग्रुप ने आंध्र प्रदेश संपर्क क्रांति के कोच नंबर S9 में यात्रा की और रामागुंडम में उतर गया। इसके बाद यह ग्रुप मुकरमपुरा और हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी क्षेत्रों की दो मस्जिदों में भी रहा। वहीं अपने धार्मिक अभियान के दौरान ये कस्बे के कुछ इलाकों में घूमे और कई लोगों से मिलने भी गए। इसी बीच विशेष शाखा पुलिस, जो कि शहर में विदेशी नागरिकों को ढूँढती थी, उन्हें जिला मुख्यालय के अस्पताल ले आई, जहाँ एक व्यक्ति को खाँसी, सर्दी और बुखार जैसे लक्षण दिखाई दिए।

स्वास्थ्य मंत्री इटाला राजेंदर ने कहा कि उन लोगों का पता लगाना बड़ा ही मुश्किल होगा, जो इंडोनेशियाई से आए लोगों के साथ निकट संपर्क में आए थे। हालांकि राज्य सरकार ने इस मामले के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पहले ही सूचित कर दिया है ताकि अन्य राज्यों में संपर्क ट्रेसिंग की कार्रवाई की जा सके।

वहीं देश में कोरोना के अब तक 150 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और तीन लोगों की अलग-अलग राज्यों में मौत हो चुकी है। इसकी रोकथाम के लिए केन्द्र सरकार के साथ राज्यों ने अपने-अपने स्तर पर कई तरह की योजनाओं के साथ घोषणाएँ की है। वहीं अधिकांश राज्यों ने अपने यहाँ स्कूल, कॉलेज, मॉल, सिनेमा हॉल यहाँ तक कि मंदिरों को भी बंद कर दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

J&K में बिहार के गोलगप्पा विक्रेता अरविंद साह की आतंकियों ने कर दी हत्या, यूपी के मिस्त्री को भी मार डाला: एक दिन में...

मृतक का नाम अरविंद कुमार साह है। उन्हें गंभीर स्थिति में ही श्रीनगर SMHS ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। वो बिहार के बाँका जिले के रहने वाले थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe