Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी बेकाबू हुआ कोरोना: दुर्ग जिले में नहीं...

महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी बेकाबू हुआ कोरोना: दुर्ग जिले में नहीं मिल रही शवों के अंतिम संस्कार के लिए जगह

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का ऐसा हाल है कि कोरोना से मौतों का आँकड़ा बेकाबू हो रहा है। अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट और कब्रिस्तानों में जगह नहीं मिल पा रही। यहाँ 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया है।

भारत में कोरोना की चौथी लहर ने कई राज्यों की स्थिति चिंताजनक बना दी है। सिर्फ़ पिछले 24 घंटों की बात करें तो यहाँ कुल 89,129 मामले रिपोर्ट किए गए। वहीं 714 लोगों को इस संक्रमण के कारण जान गँवानी पड़ी। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में इस हफ्ते की शुरुआत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 1 करोड़ 20 लाख 39 हजार 644 मामले थे। लेकिन सिर्फ 5 दिनों के अंदर ही देश में कोरोना के 3,52,616 नए मामले रिपोर्ट हुए। इन 5 दिनों में ही कोरोना की वजह से 2,267 मौतें भी हुईं।

हाल में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा के साथ स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने देश में कोरोना के मौजूदा हालातों पर विस्तृत रिपोर्ट पेश करके 11 राज्य में स्थिति को चिंताजनक बताया था।

इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, चंडीगढ़, गुजरात, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, दिल्ली और हरियाणा शामिल हैं। केंद्र सरकार ने राज्य प्रशासन से अपने अपने प्रदेश में टीकाकरण में तेजी लाने को कहा है। 31 मार्च तक इन राज्यों की कोविड मामलों में 90 फीसदी और बीमारी के चलते होने वाली मौतों में 90.5 फीसदी की भागीदारी रही है।

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि मार्च में कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी की दर 6.8 फीसद तक पहुँच गई है, जो पिछले साल के जून में सबसे अधिक वृद्धि दर 5.5 फीसद से भी अधिक है। इसी तरह से कोरोना के कारण होने वाली मौतों में भी 5.5 फीसद की बढ़ोतरी देखी गई है।

11 राज्यों में कोरोना की स्थिति

महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति दिन पर दिन हाथ से निकल रही है। शुक्रवार को अकेले महाराष्ट्र से 47,827 केस आए जबकि पूरे अमेरिका में 69,986 केस दर्ज किए गए। यानी महाराष्ट्र से कवेल कुछ हजार ज्यादा केस।

इस समय महाराष्ट्र कुल मौतों के मामले में भी वैश्विक स्तर पर 14वें स्थान पर पहुँच गया है। वहाँ मरने वालों की संख्या 55,379 हो गई है और कुल संक्रमितों की संख्या में 29 लाख 4 हजार 76 है। कोरोना मरीजों के मामले में महाराष्ट्र 10 वें नंबर है। इससे ऊपर सूची में सिर्फ़ अमेरिका, ब्राजील, फ्रांस, रूस और ब्रिटेन हैं।

महाराष्ट्र के बाद कोरोना वायरस के कारण छत्तीसगढ़ सबसे ज्यादा प्रभावित प्रदेश होता जा रहा है। शुक्रवार को छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के 4 हजार 174 नए मामले रिपोर्ट किए गए। जिसके बाद कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या वहाँ 3 लाख 57 हजार 978 तक पहुँच गई।

यहाँ के दुर्ग जिले का ऐसा हाल है कि कोरोना से मौतों का आँकड़ा बेकाबू हो रहा है। दुर्ग जिले में 964 मामले आए हैं। स्थिति ऐसी हो चुकी है कि वहाँ अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट और कब्रिस्तानों में जगह नहीं मिल पा रही। प्रशासन ने यहाँ 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया है

समाचार एजेंसी एएनआई को दुर्ग जिला कलेक्टर ने बताया, “इससे पहले अंतिम संस्कार दो जगहों पर हो रहे थे। बीते दो दिनों में कोरोना से मौतों का आँकड़ा बढ़ गया है और बहुत से शवों को श्मशान घाट लाया जा रहा है। हम अंतिम संस्कार के लिए 2-3 और जगहों का प्रबंध कर रहे हैं।”

दिल्ली में कोरोना के मामलों में बहुत तेजी से बढ़ोतरी हुई है। शुक्रवार को दिल्ली में कोरोना के 3,594 नए केस आए, जो कि इस साल सबसे ज्यादा हैं। इससे पहले आखिरी बार 4 दिसंबर को दिल्ली में सबसे ज्यादा 4 हजार 67 मामले दर्ज किए गए थे।

कर्नाटक में कोविड 19 से जुड़ी नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है। राज्य में सिनेमा हॉल, पब, बार, क्लब और रेस्ट्रॉन्ट आदि को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं, जिम और स्विमिंग पूलों को पूरी तरह से बंद करने का आदेश दिया गया है। शुक्रवार को वहाँ 4,991 मामले सामने आए और 6 लोगों की मौत हो गई।

इसी तरह शुक्रवार को गुजरात में 2,640 मामले दर्ज किए गए। पंजाब में ये संख्या 2,903 रही तमिलनाडु में भी शुक्रवार को कोरोना संक्रमितों का आँकड़ा 3 हजार पार गया। इसी प्रकार मध्य प्रदेश में 2,777 मामले सामने आए

हरियाणा में वैक्सीन का काम तेजी से चलने के बावजूद वहाँ शुक्रवार को 1861 केस सामने आए हैं। हालाँकि राज्य में 17 लोगों को वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी है। केरल में आज 2506 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। वहाँ कुल 26,407 एक्टिव केस हैं। चंडीगढ़ में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 हजार पार कर गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe