Monday, June 14, 2021
Home देश-समाज मस्जिदों में जाने से नहीं रोका तो... इकट्ठा होकर नमाज पढ़ने से पहले फतेहपुरी...

मस्जिदों में जाने से नहीं रोका तो… इकट्ठा होकर नमाज पढ़ने से पहले फतेहपुरी मस्जिद के इमाम की सुन लें

फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मुकर्रम अहमद ने अपील की है कि लोग अपने घरों में नमाज अदा करें और पुलिस-प्रशासन के निर्देशों का पालन करें। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा था कि समुदाय विशेष को मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा करने के बजाय घर पर रहकर नमाज अदा करनी चाहिए।

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देश में 21 दिन का लॉकडाउन है। इससे पहले से ही लोगों से एक जगह इकट्ठा न होने और सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की जा रही है। इस संक्रमण से बचाव का सबसे कारगर उपाय सोशल डिस्टेंसिंग ही है। बावजूद इसके देश के अलग-अलग हिस्सों से नमाज पढ़ने के लिए मस्जिदों में लोगों के जमा होने की खबरें आती रही है। प्रशासन की सख्ती के बाद अब उलमा भी लोगों से नमाज के लिए मस्जिद में जमा नहीं होने की अपील कर रहे हैं। शुक्रवार को जुमा के बावजूद लोगों से मस्जिद नहीं आने और घरों से ही नमाज अदा करने की अपील कर रहे हैं।

फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मुकर्रम अहमद ने अपील की है कि लोग अपने घरों में नमाज अदा करें और पुलिस-प्रशासन के निर्देशों का पालन करें। उन्होंने कहा है कि यही समय की माँग है। इससे पहले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा था कि मुस्लिमों को मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा करने के बजाय घर पर रहकर नमाज अदा करनी चाहिए, जिससे कि अपने नागरिकों को नुकसान पहुँचाने से बचाया जा सके।

इस बीच मस्जिद में नमाज के लिए इकट्ठा नहीं होने और एक जगह जमा होने से कोरोना संक्रमण के खतरे से आगाह करता एक ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसे एक बार समुदाय विशेष के उन लोगों को जरूर सुनना चाहिए, जो लॉकडाउन के बाद भी मस्जिद में जाने और वहाँ नमाज पढ़ने के लिए पुलिस-प्रशासन से भिड़ने के लिए तैयार हैं।

ऑडियो में आप सुन सकते हैं कि एक शख्स मौलाना मुफ्ती से फोन कॉल पर बात करते हुए बताता है कि बीते दिन हमारी जामिया में एक बैठक हुई थी, जिसमें हिंदुस्तान के टॉप 8 डॉक्टर शामिल थे। वह कहता है कि इस बैठक में मुफ्ती और कुछ मौलाना भी मौजूद थे, लेकिन बैठक में जो बातें सामने आई हैं वह बेहद हैरान करने वाली और मन को दुखी करने वाली हैं। कहा जा रहा है कि पहली जो जंग हुई थी या फिर पहली बार जब न्यूक्लियर बम इस्तेमाल किया गया था उसमें जितने लोग मारे गए थे, उससे कहीं ज्यादा कोरोना नाम की बीमारी लोगों का शिकार कर ले जाएगी। अगर बात की जाए भारत में इस बीमारी के फैलने की जो रफ्तार है वह 2.5 है। चीन ने इस पर कंट्रोल किया है जो कि बाद में दूसरे मुल्कों में यह 4 प्रतिशत और बाद में 6 प्रतिशत तक फैला। खास तौर पर इटली और ईरान में।

ऑडियो में आगे शख्स कहता है कि हालाँकि हिंदुस्तान में अभी इस बीमारी ने वो रफ्तार नहीं पकड़ी है, लेकिन अगर रफ्तार पकड़ लेती है तो दो करोड़ से अधिक लोग इसकी चपेट में आ जाएँगे और ईरान जैसे हालात देश में पैदा हो सकते हैं। जैसे कि वहाँ बुलडोजरों से लाशों को दफन किया जा रहा है। अगर ऐसे में हमने अपने लोगों को मस्जिदों में जाने से नहीं रोका तो यह बीमारी देश में और भी भयानक रूप ले सकती है। वहीं हैदराबाद में जिन मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया है उनका डेटा आ गया है कि उनमें से 80 फीसद लोग समुदाय विशेष के हैं और 20 फीसदी में अन्य समुदाय के लोग हैं।

तो यह बीमारी अब दूसरी ओर मुड़ चुकी है और इस मामले में सोशल मीडिया पर बहस भी छिड़ गई है और ज्यादा देर नहीं लगेगी यह बात संसद तक भी पहुँच जाएगी कि समुदाय विशेष की लापरवाही की वजह से और लॉकडाउन के बाद भी लगातार मस्जिदों में जाने की वजह से देश में तबाही मची और इसे मुस्लिमों ने ही हवा दी है। इस तरह बड़े पैमाने पर मुस्लिमों का बायकॉट होगा और फिर पूरा मीडिया और राजनीतिक लोग मुस्लिमों के खिलाफ लिखेंगे। इसलिए एक पैगाम देने की कोशिश करता हूँ “मौलाना पूरी कोशिश कर डालिए कि मुस्लिम जमात और ज़ुमा से अभी रुक जाएँ और अपने घरों में ही नमाज पढ़े” और नियम के मुताबिक ज़ुमा में 4 लोग ही शामिल रहें और फिर नमाज के बाद मस्जिद को बंद कर दिया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शमशेर अली ने हिंदू महिला को कमरे में बंद कर पीटा, पैसे लिए-अगरबत्ती से दागा: तांत्रिक बता रहा भास्कर

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में अंधविश्वास के एक मामले में 'दैनिक भास्कर' ने मौलवी को 'तांत्रिक' लिख कर भ्रम फैलाया है। शमशेर अली और उसका बेटा निन्हे किस हिसाब से 'तांत्रिक' हुआ?

राम मंदिर में अड़ंगा डालने में लगी AAP, ट्रस्ट को बदनाम करने की कोशिश: जानिए, ‘जमीन घोटाले’ की हकीकत

राम मंदिर जजमेंट और योगी सरकार द्वारा कई विकास परियोजनाओं की घोषणाओं के कारण 2 साल में अयोध्या में जमीन के दाम बढ़े हैं। जानिए क्यों निराधार हैं संजय सिंह के आरोप।

विराजमान भगवान विष्णु, प्रसिद्धि माता पार्वती और भगवान शिव को लेकर: त्रियुगीनारायण मंदिर की कहानी

मान्यता है कि रुद्रप्रयाग का त्रियुगीनारायण मंदिर वह जगह है जहाँ भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह संपन्न हुआ था।

क्या है UP सरकार का ‘प्रोजेक्ट एल्डरलाइन’, जिसके लिए PM मोदी ने की CM योगी आदित्यनाथ की सराहना

जनकल्याण के इसी क्रम में योगी सरकार ने राज्य के बेसहारा बुजुर्गों के लिए ‘एल्डरलाइन प्रोजेक्ट’ लॉन्च किया। इसके तहत बुजुर्गों की सहायता करने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है।

क्या कॉन्ग्रेस A-370 फिर से बहाल करना चाहती है? दिग्विजय सिंह के बयान पर रविशंकर प्रसाद ने माँगा जवाब

नाम न छापने की शर्त पर कॉन्ग्रेस के कई नेताओं का मानना है कि दिग्विजय सिंह का यह बयान कॉन्ग्रेस को नुकसान पहुँचाने वाला है।

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस अध्यक्ष ने जताई थी मुख्यमंत्री बनने की इच्छा, भड़के संजय राउत ने कहा- उद्धव ही रहेंगे CM

महाराष्ट्र प्रदेश कॉन्ग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा था कि उनकी इच्छा मुख्यमंत्री बनने की है। इस पर अपनी राय रखते हुए संजय राउत ने कहा कि....

प्रचलित ख़बरें

राम मंदिर में अड़ंगा डालने में लगी AAP, ट्रस्ट को बदनाम करने की कोशिश: जानिए, ‘जमीन घोटाले’ की हकीकत

राम मंदिर जजमेंट और योगी सरकार द्वारा कई विकास परियोजनाओं की घोषणाओं के कारण 2 साल में अयोध्या में जमीन के दाम बढ़े हैं। जानिए क्यों निराधार हैं संजय सिंह के आरोप।

इब्राहिम ने पड़ोसी गंगाधर की गाय चुराकर काट डाला, मांस बाजार में बेचा: CCTV फुटेज से हुआ खुलासा

इब्राहिम की गाय को जबरदस्ती घसीटने की घिनौनी हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। गाय के मालिक ने मालपे पुलिस स्टेशन में आरोपित के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

कीचड़ में लोटने वाला सूअर मीका सिंह, हवस का पुजारी… 17 साल की लड़की को भेजा गंदे मैसेज और अश्लील फोटो: KRK

"इसने राखी सावंत को सूअर के जैसे चूसा। सूअर की तरह किस किया। इस तरह किसी लड़की को जबरदस्ती किस करना किसी रेप से कम नहीं है।"

16 साल की लड़की से दिल्ली के NGO वाली 44 साल की महिला करती थी ‘जबरन सेक्स’, अश्लील वीडियो से देती थी धमकी

दिल्ली में 16 साल की नाबालिग लड़की के यौन शोषण के आरोप में 44 वर्षीय एक महिला को गिरफ्तार किया गया। आरोपित महिला एनजीओ चलाती हैं और...

दलित लड़की किडनैप, नमाज पढ़ता वीडियो… और धमकी कि ₹40-50 हजार लेके भूल जाओ: UP पुलिस ने किया केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में सिलाई कंपनी में मुस्लिम समुदाय की महिलाओं के साथ काम करने वाली दलित समुदाय की लड़की का नमाज पढ़ता वीडियो...

आईएस में शामिल केरल की 4 महिलाओं को वापस नहीं लाएगी मोदी सरकार, अफगानिस्तान की जेलों में है कैद

केरल की ये महिलाएँ 2016-18 में अफगानिस्तान के नंगरहार पहुँची थीं। इस दौरान उनके पति अफगानिस्तान में अलग-अलग हमलों में मारे गए थे।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
103,706FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe