Sunday, April 21, 2024
Homeदेश-समाजअस्पताल में राम रहीम से रोज मिलने जा सकेगी हनीप्रीत, 15 जून तक का...

अस्पताल में राम रहीम से रोज मिलने जा सकेगी हनीप्रीत, 15 जून तक का अटेंडेंट कार्ड बना: रिपोर्ट्स

हनीप्रीत को राम रहीम की देखभाल के लिए 15 जून तक का अटेंडेट कार्ड दिया गया है। अब वह अटेंडेट के रूप में हर दिन राम रहीम से मिलने अस्पताल के उसके कमरे में जा सकती है।

साध्वियों से रेप के मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद रविवार (6 जून) को गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। राम रहीम के अस्पताल में भर्ती होने के सूचना मिलते ही उसकी मुँहबोली बेटी हनीप्रीत उससे मिलने अस्पताल पहुँच गई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हनीप्रीत सोमवार (7 जून) सुबह 8:30 बजे राम रहीम का हाल जानने मेदांता पहुँची। हनीप्रीत ने राम रहीम के अटेंडेट के रूप में अपना कार्ड बनावाया है। राम रहीम को मेदांता में 9वीं मँजिल पर रूम नंबर 4643 में रखा गया है।

हनीप्रीत ने अस्पताल में राम रहीम से मिलने को बनवाया अटेंडेंट कार्ड

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हनीप्रीत को राम रहीम की देखभाल के लिए 15 जून तक का अटेंडेट कार्ड दिया गया है। अब वह अटेंडेट के रूप में हर दिन राम रहीम से मिलने अस्पताल के उसके कमरे में जा सकती है। खबर है कि राम रहीम दवाई लेने और टेस्ट करवाने से मना कर रहा था। हालाँकि अस्पताल प्रशासन ने इसकी पुष्टि नहीं की है और न ही राम रहीम की ओर से कोई बयान जारी किया गया है।

तीन दिन पहले पेट में दर्द की शिकायत के बाद राम रहीम को रोहतक पीजीआई में भर्ती कराया गया था। इसके बाद डॉक्टरों की सलाह के बाद उसे आगे के इलाज के लिए गुरुग्राम स्थित मेदातां हॉस्पिटल ले जाया गया था। वह कोविड जाँच कराने से इनकार कर रहा था। ऐसे में पीजीआई में उसका सिटी स्कैन किया गया और पेट और दिल की जाँच की गई थी। मेदांता अस्पताल में उसकी कोविड जाँच की गई, जोकि पॉजिटिव आई।

रेप और हत्या मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा राम रहीम

अपनी ही दो साध्वियों से रेप मामले में राम रहीम को पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने अगस्त 2017 में दोषी करार दिया था। 16 साल पुराने इस मामले में कोर्ट ने राम रहीम के साथ ही तीन अन्य दोषियों कुलदीप सिंह, निर्मल सिंह और कृष्ण लाल को भी उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

जनवरी 2019 में में राम रहीम और तीन अन्य को पत्रकार राम चंद्र छत्रपति की हत्या का दोषी पाते हुए अदालत ने आजावीन कारावास की सजा सुनाई थी। वह 25 अगस्त 2017 से ही चंड़ीगढ़ से 250 किलोमीटर दूर स्थित रोहित की हाई सिक्योरिटी सुनारिया जेल में बँद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जब राष्ट्र में जगता है स्वाभिमान, तब उसे रोकना असंभव’: महावीर जयंती पर गूँजा ‘जैन समाज मोदी का परिवार’, मुनियों ने दिया ‘विजयी भव’...

"हम कभी दूसरे देशों को जीतने के लिए आक्रमण करने नहीं आए, हमने स्वयं में सुधार करके अपनी ​कमियों पर विजय पाई है। इसलिए मुश्किल से मुश्किल दौर आए और हर दौर में कोई न कोई ऋषि हमारे मार्गदर्शन के लिए प्रकट हुआ है।"

कलकत्ता हाई कोर्ट न होता तो ममता बनर्जी के बंगाल में रामनवमी की शोभा यात्रा भी न निकलती: इसी राज्य में ईद पर TMC...

हाई कोर्ट ने कहा कि ट्रैफिक के नाम पर शोभा यात्रा पर रोक लगाना सही नहीं, इसलिए शाम को 6 बजे से इस शोभा यात्रा को निकालने की अनुमति दी जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe