Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाज17 साल के नाबालिग ने 7 साल की मासूम से किया रेप, पीड़िता कहती...

17 साल के नाबालिग ने 7 साल की मासूम से किया रेप, पीड़िता कहती थी भैया: छठ पर दिल्ली में घिनौनी घटना

आरोपित 6 महीने पहले ही बच्ची के पड़ोस में रहने आया था। बच्ची उसे भैया कहती थी। लेकिन, उसने पहले मासूम के साथ जबर्दस्ती की और फिर उसे लहूलुहान छोड़ फरार हो गया।

देश में नाबालिगों के ख़िलाफ़ यौन अपराध के मामले में कड़ी सजा का प्रावधान है। बावजूद इसके ऐसी घटनाओं पर अंकुश नहीं लग रहा। ख़ासकर हिन्दू पर्व-त्योहारों के समय इस तरह की घटनाओं का होना समाज और पुलिस-प्रशासन पर सवाल खड़े करता है। राजधानी दिल्ली में छठ के दौरान 7 साल की बच्ची के साथ रेप की घटना सामने आई है।

बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाला 17 साल का नाबालिग है। कोर्ट के निर्देश हमें उसका नाम बताने से रोकते हैं। लेकिन, आप समझ सकते हैं कि हिंदुओं के त्योहार के मौके पर इस तरह का दुष्कृत्य कौन कर सकता है।
विकास नगर के रनौला थाना के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में हुई इस घटना को लेकर इलाक़े में तनाव का माहौल है। बच्ची की हालत गंभीर बताई जा रही है और वो अस्पताल में भर्ती है।

पीड़िता के पिता अजय शर्मा बिहार के रहने वाले हैं। शर्मा दिल्ली में मजदूरी का काम करते हैं। छठ पूजा में जाने के लिए लिए उनकी बेटी तैयार हो रही थी, तभी आरोपित आया और उसका कोई सामान लेकर भाग गया। इसके बाद आरोपित का पीछा करते-करते बच्ची छत पर चली गई। वहाँ आरोपित ने बच्ची का मुँह बंद कर के उसके साथ इस दरिंदगी को अंजाम दिया। आरोपित 6 महीने पहले ही बच्ची के पड़ोस में रहने आया था।

आरोपित और बच्ची एक-दूसरे को जानते थे। बच्ची उसे भैया कहती थी और वो भी पीड़िता को बहन कहा करता था। पीड़िता के पिता ने बताया कि आरोपित हमेशा उनके घर में आया-जाया करता था। उन्होंने कहा कि उन्हें कभी इस प्रकार का ख्याल नहीं आया कि वह ऐसा कर सकता है। पुलिस ने नाबालिग आरोपित को गिरफ़्तार कर लिया है। आरोपित ने बच्ची के साथ छत पर बलात्कार करने के बाद उसे वहीं लहूलुहान छोड़ दिया और फरार हो गया। बच्ची किसी तरह अपनी माँ के पास पहुँची और आपबीती सुनाई।

पहले बच्ची को पास के अस्पताल में ले जाया गया लेकिन उसकी हालत नाजुक होने के कारण उसे दीनदयाल हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया। इसके बाद पीड़िता के परिवार ने पुलिस को सूचना दी। वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि मामले की जाँच की जा रही है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान के मंत्री का स्वागत कर रहे थे कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता, तभी इमरान ने जड़ दिया एक मुक्का: बाद में कहा – ये मेरे आशीर्वाद...

राजस्थान में एक अजोबोग़रीब वाकया हुआ, जब मंत्री और कॉन्ग्रेस नेता भँवर सिंह भाटी को एक युवक ने मुक्का जड़ दिया।

‘मीलॉर्ड्स, आलोचक ट्रोल्स नहीं होते’: भारत के मुख्य न्यायाधीश के नाम एक बिना नाम और बिना चेहरा वाले ट्रोल का पत्र

हमें ट्रोल्स ही क्यों कहा जाता है, आलोचक क्यों नहीं? ऐसा इसलिए, क्योंकि हम उन लोगों की आलोचना करते हैं जो अपनी आलोचना पसंद नहीं करते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,335FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe