Monday, December 6, 2021
Homeदेश-समाजचांदनी चौक के दुर्गा मंदिर में तोड़-फोड़ : गिरफ़्तार किए गए 10 लोगों...

चांदनी चौक के दुर्गा मंदिर में तोड़-फोड़ : गिरफ़्तार किए गए 10 लोगों में 5 नाबालिग

स्थानीय लोगों का दावा है कि AAP विधायक इमरान हुसैन ने भी मंदिर में तोड़-फोड़ करने वाली भीड़ का समर्थन किया था और हिंसा रोकने का कोई प्रयास नहीं किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी इमरान हुसैन पर हमलों में शामिल होने का आरोप लगाया है।

दिल्ली के चांदनी चौक इलाक़े के हौज़ क़ाज़ी स्तिथ दुर्गा मंदिर में बुधवार (3 जुलाई 2019) की रात तोड़-फोड़ के मामले में पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ़्तार किया है। इनमें से पाँच नाबालिग हैं।

शुरुआत में 9 लोगों की गिरफ़्तारी की खबर आई थी। इनमें से दो की पहचान मोहम्मद ज़ुबैर और मोहम्मद अनस के रूप में हुई है। एएनआई के मुताबिक नौ आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को तीस हजारी कोर्ट में पेश किया। पाँचों नाबालिगों को अदालत ने जूवेनाइल ऑब्ज़र्वेशन होम और चार अन्य को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

30 जून, 2019 की रात को चांदनी चौक इलाक़े के लाल कुआँ में 300-400 लोगों की भीड़ ने दुर्गा माता मंदिर में धावा बोला और मूर्तियों को खंडित कर दिया। स्थानीय लोगों ने मंदिर में तोड़-फोड़ के वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए। इन वीडियो में साफ़ तौर पर देखा जा सकता था कि इस्लामी भीड़ ने मंदिर में प्रवेश कर तोड़-फोड़ की और पड़ोस में रहने वाले हिंदुओं को पीटा।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि विवाद की शुरुआत पार्किंग को लेकर हुए झगड़े से हुई। पार्किंग को लेकर बहस गरम होने पर कुछ लोगों ने पथराव शुरू कर दिया। बाद में रात में इस्लामी भीड़ ने मंदिर में घुसकर तोड़-फोड़ की। पुलिस ने पुष्टि की हैं कि इलाक़े के कुछ युवकों ने ही मंदिर पर हमला किया था।

केंद्रीय मंत्री और चांदनी चौक के सांसद डॉ. हर्षवर्धन ने उपद्रव के बाद घटनास्थल का दौरा किया। घटना कि कड़ी निंदा करते हुए शांति का आह्वान किया। उन्होंने दिल्ली पुलिस को उपद्रवियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए थे।

स्थानीय लोगों का दावा है कि AAP विधायक इमरान हुसैन ने मंदिर में तोड़-फोड़ करने वाली भीड़ का समर्थन किया था। उनका दावा है कि उन्होंने हिंसा को रोकने का कोई प्रयास नहीं किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने भी इमरान हुसैन पर हमलों में शामिल होने का आरोप लगाया है। इस मुद्दे पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा है, “मंदिर पर हमले में इमरान हुसैन का शामिल होना कई सवाल खड़े करता है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पिता को 15 टुकड़ों में काटा, बैग में भरकर झेलम किनारे फेंका’: USA में पल्लवी जोशी ने दुनिया को बताया कश्मीरी पंडितों का दर्द

अभिनेत्री पल्लवी जोशी ने बताया कि 'द कश्मीर फाइल्स' के निर्माण के दौरान उन्होंने कई कश्मीरी पंडितों के इंटरव्यूज लिए, जो अपने-आप में एक दर्द भरा अनुभव था।

UAE में खुले में नमाज पर ₹20000 जुर्माना: ‘द गार्डियन’ के लिए मुस्लिम पीड़ित और हिन्दू गुंडे, सड़कों को बता रहा ‘नमाज साइट्स’

90% सुन्नी मुस्लिम जनसंख्या वाले UAE में सड़क किनारे नमाज पढ़ने पर Dh 1000 (20,484 रुपए) के जुर्माने का प्रावधान है। गुरुग्राम पर हंगामा क्यों?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,816FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe